What In India

Trending Now

ज्यादा चाय पीने वाली गर्भवती महिलाओं का यह हाल होता है?

0

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं की सबसे बड़ी समस्या यह होती है की महिला क्या खाएं क्या पीएं। क्योंकि कई बार महिला को प्रेगनेंसी में उन चीजों के सेवन से परहेज करना पड़ता है जिनका सेवन करना महिला को बहुत पसंद होता है। जैसे की कुछ महिलाओं के दिन की शुरुआत ही चाय के साथ होती है और दिन भर में उन्हें चाय पीने की बहुत आदत होती है।

लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान महिला को चाय का सेवन जरुरत से ज्यादा नहीं करना चाहिए। क्योंकि चाय में कैफीन की अधिकता होती है जो माँ और बच्चे दोनों के लिए नुकसानदायक होता है। तो आइये अब इस आर्टिकल में हम आपको प्रेगनेंसी के दौरान चाय का अधिक सेवन करने से कौन कौन से नुकसान हो सकते हैं उसके बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं।

मिसकैरिज

चाय का अधिक सेवन करने से गर्भ पर बहुत बुरा असर पड़ता है जिसके कारण महिला के मिसकैरिज होने का खतरा बढ़ जाता है। क्योंकि चाय में कैफीन की अधिकता होती है साथ ही चाय का सेवन करने से मिसकैरिज के साथ समय से पहले डिलीवरी होने का खतरा भी अधिक होता है।

पेट से जुडी समस्याएं

यदि गर्भवती महिला चाय का अधिक सेवन करती है तो इसके कारण महिला के पेट खराब रहने की समस्या बढ़ सकती है क्योंकि कैफीन पाचन क्रिया पर बुरा असर डालती है। जिसकी वजह से महिला को कब्ज़, पेट में गैस, दस्त जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

घबराहट

गर्भवती महिला यदि जरुरत से चाय का सेवन करती है तो इसकी वजह से महिला को घबराहट अधिक महसूस हो सकती है। जिसके कारण महिला को शारीरिक रूप से परेशानी का अनुभव हो सकता है।

सिर दर्द

वैसे कुछ लोग चाय का सेवन सिर दर्द को भगाने के लिए करते हैं। लेकिन यदि जरुरत से ज्यादा चाय का सेवन किया जाएँ तो इससे आपकी यह समस्या बढ़ सकती है। ऐसे में यदि प्रेग्नेंट महिला चाय का सेवन अधिक मात्रा में करती है तो इसकी वजह से महिला को सिर दर्द की समस्या होने का खतरा बढ़ सकता है।

हार्ट बर्न

हार्ट बर्न यानी सीने में जलन की समस्या होने का एक कारण चाय का अधिक सेवन करना भी होता है। ऐसे में यदि प्रेग्नेंट महिला चाय का अधिक सेवन करती है तो इसकी वजह से महिला को हार्ट बर्न की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि चाय पीने से एसिडिटी और कब्ज़ होती है जिसकी वजह से सीने में जलन की समस्या होती है।

भूख में कमी

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को अपने आहार का अच्छे से सेवन करना चाहिए। लेकिन यदि महिला चाय का सेवन करती है तो इसके कारण महिला की भूख में कमी आती है। जिसकी वजह से महिला का खाने पीने का मन नहीं करता है नतीजा शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है जिसके कारण माँ और बच्चे दोनों को सेहत सम्बन्धी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

अनिंद्रा

चाय का अधिक सेवन करने के कारण महिला को अच्छी नींद लेने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। और नींद पूरी न लेने के कारण महिला को शारीरिक परेशानियां जैसे की कमजोरी, थकान, आलस आदि अधिक होती है। और यदि महिला को शारीरिक परेशानियां अधिक होती हैं तो शिशु को भी दिक्कत होती है।

शिशु के विकास में कमी

चाय में कैफीन की अधिकता होती है ऐसे में चाय का अधिक सेवन करने से गर्भ में शिशु के विकास पर बुरा असर पड़ता है। जिसके कारण शिशु का शारीरिक विकास ही नहीं बल्कि मानसिक विकास भी बुरी तरह प्रभावित होता है। साथ ही जन्म के समय शिशु के वजन में कमी जैसी दिक्कत होने का खतरा भी अधिक होता है।

तो यह हैं प्रेगनेंसी के दौरान चाय का अधिक सेवन करने के नुकसान, ऐसे में गर्भवती महिला को जरुरत से ज्यादा चाय का सेवन नहीं करनी चाहिए। यदि महिला की चाय पीने की इच्छा है तो महिला दिन में एक या दो बार थोड़ी थोड़ी चाय पी सकती है। इसके अलावा महिला को खाली पेट चाय नहीं पीनी चाहिए और चाय के साथ कुछ न कुछ जरूर खाना चाहिए। क्योंकि खाली पेट चाय पीने के कारण महिला को पेट सम्बन्धी दिक्कतें अधिक हो सकती है।

Leave a comment