Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

गर्भावस्था में ज्यादा देर नहाने से क्या नुकसान होता है?

0

नहाने से आपके शरीर की साफ़ सफाई होने के साथ आपकी थकान व् आलस को कम करने में भी मदद मिलती है। क्योंकि नहाने के बाद आप रिलैक्स व् फ्रैश महसूस करते हैं। और रोजाना नहाने की आदत सेहत के साथ आपकी बेहतर दिनचर्या के लिए भी सही होती है। लेकिन रोजाना नहाने और ज्यादा देर तक तक नहाने में फ़र्क़ होता है।

खासकर गर्भवती महिला को इन छोटी छोटी बातों का ध्यान प्रेगनेंसी के दौरान रखना बहुत जरुरी होता है। क्योंकि कई बार छोटी छोटी लापरवाही गर्भवती महिला के लिए बड़ी परेशानी खड़ी कर सकती है। तो आइये आज इस आर्टिकल में हम गर्भवती महिला यदि ज्यादा देर तक नहाती है तो उसे कौन- कौन से नुकसान पहुँच सकते हैं उस बारे में बताने जा रहे हैं।

पेट में हो सकती है दिक्कत

यदि गर्भवती महिला नीचे बैठकर नहाती हैं और पैरों के भार बैठकर नहाती है। तो प्रेगनेंसी के दौरान पैरों के भार ज्यादा देर तक बैठकर नहाने से पेट में दर्द, पेट में शिशु को दिक्कत आदि परेशानियां हो सकती है।

पैरों में सूजन

यदि गर्भवती महिला बैठकर नहीं बल्कि खड़े होकर शावर के नीचे लम्बे समय तक नहाती है तो इस कारण शरीर का पूरा भार पैरों पर पड़ता है। जिसके कारण पैरों तक ब्लड फ्लो अच्छे से नहीं होता है और महिला को पैरों में दर्द, सूजन आदि की समस्या हो सकती है।

चक्कर आने की सम्भावना

खड़े होकर ज्यादा देर नहाने से पैरों से सिर तक ब्लड फ्लो में रूकावट होने का खतरा होता है क्योंकि पैरों पर दबाव पड़ने के कारण ब्लड पैरों की नसों में जमने लगता है। जिसकी वजह से प्रेग्नेंट महिला को चक्कर आदि का आने का खतरा भी होता है। और ऐसे में यदि महिला चक्कर आने के कारण गिर जानती है तो महिला और शिशु दोनों को बुकसान पहुँचने का खतरा रहता है।

गर्भपात की सम्भावना

प्रेग्नेंट महिला यदि ज्यादा देर तक नहाती है और नहाने के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल करती है या गर्मियों में टंकी के पानी से ज्यादा नहाती है। तो इसकी वजह से महिला का गर्भपात होने का खतरा भी बढ़ जाता है। क्योंकि गर्मियों में टंकी का पानी तेज गर्म हो जाता है साथ ही गर्म पानी से नहाने के कारण शरीर के तापमान में बदलाव आ जाता है जिसके कारण गर्भ गिरने का डर होता है।

तबियत खराब होने का खतरा

गर्मी हो, सर्दी हो, बदलता मौसम हो यदि किसी भी समय महिला जरुरत से ज्यादा नहाती है तो इसके कारण महिला को सर्दी, जुखाम आदि होने की दिक्कत हो सकती है। साथ ही प्रेग्नेंट महिला की इम्युनिटी कमजोर होने के कारण बुखार होने की सम्भावना भी बढ़ जाती है।

तो यह हैं कुछ नुकसान जो प्रेग्नेंट महिला को ज्यादा देर नहाने के कारण हो सकते हैं। ऐसे में प्रेग्नेंट महिला को इन परेशानियों से बचने के लिए ज्यादा देर नहीं नहाना चाहिए। साथ ही गर्भवती महिला को गर्म पानी से नहाने से भी बचना चाहिए।

Leave a comment