प्रेगनेंसी में मसूड़ों में सूजन होने के कारण

प्रेगनेंसी के दौरान वजन बढ़ना, खाने के स्वाद में बदलाव आना, बार बार यूरिन पास करने की इच्छा होना, भूख ज्यादा या कम लगना, पैरों में सूजन आना, घबराहट थकावट कमजोरी महसूस होना, आदि लक्षणों का महसूस होना बहुत आम बात होती है। ऐसे ही कुछ लक्षणों के साथ कुछ महिलाएं प्रेगनेंसी के दौरान मसूड़ों से जुडी समस्या का सामना भी कर सकती है। मसूड़ों में सूजन होना, ब्रश करते समय मसूड़ों से खून निकलना आदि प्रेगनेंसी के दौरान महसूस होने वाला एक लक्षण होता है। ऐसे में घबराने की बात नहीं होती है। आज इस आर्टिकल में हम आपको प्रेगनेंसी के दौरान मसूड़ों में सूजन के बारे में बात करने जा रहे हैं।

क्या गर्भावस्था में मसूड़ों में सूजन होना आम बात होती है?

गर्भावस्था के दौरान बॉडी में बहुत से बदलाव होते हैं, महिला को बहुत सी शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि इस दौरान शरीर में हार्मोनल बदलाव तेजी से हो रहे होते हैं। और हार्मोनल बदलाव के साथ शरीर में ब्लड फ्लो भी तेजी से हो सकता है ऐसे में इन्ही कारणों की वजह से महिला को मसूड़ों में सूजन, खून आना जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

प्रेगनेंसी में मसूड़ों में सूजन होने के कारण

गर्भावस्था के दौरान कुछ महिलाओं को मसूड़ों में सूजन की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में इस समस्या के क्या-क्या कारण हो सकते हैं आइये उसके बारे में जानते हैं।

हार्मोनल बदलाव

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला के शरीर में हार्मोनल बदलाव हो रहे होते हैं। और इन्ही हार्मोनल बदलाव के कारण कुछ महिलाओं को मसूड़ों में सूजन का सामना कर सकती है।

ब्लड फ्लो

गर्भावस्था के दौरान महिला के शरीर में ब्लड फ्लो तेजी से होता है और इसी कारण मसूड़ों में भी ब्लड फ्लो तेजी से होता है। ऐसे में मसूड़ों में ब्लड फ्लो तेजी से होने के कारण भी मसूड़ों में सूजन महसूस हो सकती है।

कैल्शियम की कमी

जिन महिलाओं के शरीर में कैल्शियम की कमी होती है उन महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान मसूड़ों में दर्द, सूजन, खून आना जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता हैं।

ज्यादा मीठा खाने के कारण

जो महिलाएं प्रेगनेंसी के दौरान ज्यादा मीठा खाती है तो इस कारण दांतों की सेंसिटिविटी बढ़ जाती है। और दांतों की सेंसिटिविटी बढ़ जाने के कारण भी महिला को मसूड़ों में सूजन का सामना करना पड़ सकता है।

क्या महिला इस समस्या से बचाव के लिए दवाई का सेवन कर सकती है?

जी नहीं, प्रेगनेंसी के दौरान दांतों की समस्या होने पर महिला को अपने आप से दवाई का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इनका बुरा असर शिशु पर पड़ सकता है। इसके अलावा यदि प्रेग्नेंट महिला को ज्यादा समस्या हो तो महिला को डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

तो यह है प्रेगनेंसी के दौरान मसूड़ों में दर्द या सूजन होने के कारण, और इस समस्या के होने पर महिला को ज्यादा घबराना नहीं चाहिए क्योंकि ऐसा होना प्रेगनेंसी के दौरान आम बात होती है। साथ ही महिला को अपने मुँह की साफ़ सफाई का ध्यान रखना चाहिए ताकि महिला को इस समस्या से बचे रहने में मदद मिल सकें। और इस समस्या से बचाव के लिए गुनगुने पानी में नमक डालकर कुल्ला करना सबसे बेहतरीन उपाय है और ऐसा महिला दिन भर में दो बार करें।

Dental Problem in Pregnancy

Leave a comment