प्रेगनेंसी में नाख़ून बड़े रखने पर गर्भ को क्या नुकसान होता है

महिलाओं को सूंदर दिखने की चाहत हमेशा ही रहती है। इसीलिए महिलाएं अपनी ख़ूबसूरती का ध्यान अच्छे से रखती है। ऐसे ही हाथों की ख़ूबसूरती को बढ़ाने के लिए महिलाओं को लम्बे नाख़ून रखने का भी शौक होता है। लेकिन यदि आप प्रेग्नेंट हैं तो आपका नाख़ून लम्बे रखने का शौक गर्भ में पल रहे बच्चे पर बुरा असर डाल सकता है। अब आप यह सोच रही होंगी की नाख़ून कैसे बच्चे को नुकसान पहुंचा सकते हैं? तो आइये अब आपके इसी सवाल का जवाब जानते हैं।

कैसे पहुंचाते हैं नाख़ून गर्भ को नुकसान?

हाथों की साफ सफाई का ध्यान न रखने पर नाख़ून में बेड बैक्टेरिया पनपने लगता है। फिर जब आप उन्ही नाखूनों से खाना कहती है तो यह बैक्टेरिया आपके हाथों से आपके मुँह में और खाने के साथ आपके शरीर में पहुँच जाता है। और और महिला के शरीर से ही अन्य पोषक तत्वों के साथ यह बैक्टेरिया जब यह शिशु तक पहुँचता है तो उसके बाद शिशु इससे प्रभावित होता है। और शिशु को दिक्कत होने का खतरा रहता है।

नाख़ून लम्बे रखने से शिशु को कौन से नुकसान होते हैं?

गर्भवती महिला यदि नाख़ून लम्बे रखती है तो इससे गर्भ में बच्चे को नुकसान पहुँचने का खतरा रहता है। जिससे शिशु को दिक्कत महसूस हो सकती है जैसे की:

इन्फेक्शन का रहता है खतरा

नाख़ून में मौजूद बैक्टेरिया जब गर्भ में शिशु तक पहुँचता है तो इसके कारण शिशु को बेड बैक्टेरिया प्रभावित करता है। जिससे शिशु को इन्फेक्शन होने का खतरा रहता है।

वजन में कमी

शिशु यदि बैक्टेरियल इन्फेक्शन से ग्रसित हो जाता है तो इसके कारण जन्म के समय शिशु के विकास में कमी जैसी समस्या हो सकती है। साथ ही यदि महिला को इन्फेक्शन ज्यादा हो जाता है तो इसके कारण समय से पहले डिलीवरी होने के खतरा भी रहता है।

तो यह हैं कुछ हानिकारक प्रभाव जो गर्भ में पल रहे शिशु पर महिला के नाख़ून के बड़े होने के कारण पड़ते है। इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान महिला को अपने नाखूनों को काटकर रखना चाहिए और हाथों की साफ सफाई का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। ताकि माँ व् बच्चे दोनों को किसी भी तरह की दिक्कत न हो।