प्रेगनेंसी में सम्बन्ध बनाने के नुकसान

प्रेगनेंसी हर महिला के लिए बहुत ही नाजुक दौर होता है ऐसे में जरुरी होता है की महिला अपना अच्छे से ध्यान रखें। साथ ही महिला के लिए यह भी जरुरी होता है की महिला ऐसा कोई भी काम नहीं करें जिससे माँ या बच्चे को किसी तरह का कोई भी नुकसान हो। इसीलिए गर्भवती महिला को हर कोई सलाह भी देता है की प्रेगनेंसी में कुछ भी करने से पहले महिला को जान लेना चाहिए की महिला जो भी कर रही है वह सही है या नहीं है। साथ ही महिला जो भी कर रही है उसके क्या फायदे और क्या नुकसान हो सकते हैं। आज इस आर्टिकल में हम आपसे प्रेगनेंसी में सम्बन्ध बनाने के क्या नुकसान हो सकते हैं उसके बारे में बताने जा रहे हैं।

गर्भावस्था में सम्बन्ध बनाएं या नहीं?

प्रेगनेंसी की न्यूज़ कन्फर्म होने के बाद से ही महिला अपना अच्छे से ध्यान रखने लग जाती है ऐसे में महिला हर चीजे की जानकारी इक्कठी करती है। और जब बात सम्बन्ध बनाने की आती है तो महिला इसे लेकर या तो बात नहीं करती हैं या फिर ऐसा मानती है की प्रेगनेंसी में सम्बन्ध बनाने से गर्भपात, ब्लीडिंग, शिशु के विकास में कमी जैसी समस्या होती है।

जबकि ऐसा नहीं है स्वस्थ प्रेगनेंसी यानी की यदि महिला की प्रेगनेंसी नोर्मल है और उसमे किसी तरह की कॉम्प्लीकेशन्स नहीं हैं तो गर्भवती महिला बिना किसी डर के आसानी से सम्बन्ध बना सकती है। लेकिन यदि महिला के साथ कोई समस्या है या फिर महिला की सम्बन्ध बनाने की इच्छा नहीं है तो महिला को सम्बन्ध नहीं बनाना चाहिए। क्योंकि इसके कारण महिला और शिशु को नुकसान पहुँचने का खतरा रहता है।

क्या प्रेगनेंसी में सम्बन्ध बनाने से नुकसान होते हैं?

जी हाँ, प्रेगनेंसी के दौरान यदि महिला को दिक्कत हो रही है, गलत तरीके से सम्बन्ध बनाया जा रहा है, लापरवाही बरती जा रही हैं, तो ऐसे कुछ केस में महिला को दिक्कत हो सकती है। तो आइये अब जानते हैं की प्रेगनेंसी में सम्बन्ध बनाने से कौन कौन से नुकसान होते हैं।

गर्भपात का खतरा

यदि महिला का पहले गर्भपात हो चूका है, समय से पहले डिलीवरी हो चुकी है, ब्लीडिंग की समस्या है, आदि और ऐसे में महिला सम्बन्ध बनाती है तो इन सभी कारणों की वजह से महिला के गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है।

शिशु को दिक्कत

सम्बन्ध बनाते समय यदि महिला या उनका पार्टनर कोई नया एक्सपेरिमेंट करता है या ऐसा कुछ करता है जिससे पेट पर दबाव बढ़ जाता है तो इसकी वजह से गर्भ में शिशु को दिक्कत होने का खतरा होता है।

समय से पहले डिलीवरी

सम्बन्ध बनाने में यदि तेजी की जाती है तो इसके कारण गर्भाशय पर चोट लगने का खतरा बढ़ता है और गर्भाशय की ग्रीवा का मुँह समय से पहले खुल जाता है। जिसकी वजह से महिला की समय से पहले डिलीवरी होने के चांस बढ़ जाते हैं। साथ ही समय से पहले जन्म होने के कारण शिशु को भी दिक्कत होने का खतरा बढ़ जाता है। खासकर जब गर्भ में एक से ज्यादा शिशु हो तो महिला को और भी ज्यादा ध्यान रखने की जरुरत होती है।

पेट में दर्द

कुछ गर्भवती महिलाओं को सम्बन्ध बनाने के कारण पेट में दर्द की समस्या होने का खतरा भी रहता है ऐसे में महिला को रिस्क नहीं लेना चाहिए। क्योंकि जरुरत से ज्यादा पेट दर्द होना माँ और बच्चे दोनों के लिए सही नहीं होता है।

तो यह हैं प्रेगनेंसी में सम्बन्ध बनाने के नुकसान, ऐसे में सम्बन्ध बनाते समय जरूरी है की आप महिला की हेल्थ की सही जानकारी लें, और प्रेगनेंसी में सम्बन्ध बनाते समय पूरी सावधानी बरतें ताकि महिला और शिशु को किसी भी तरह की दिक्कत नहीं हो।

Leave a comment