प्रेगनेंसी के दौरान यह 10 चीजें करें बुद्धिमान शिशु के लिए

0

गर्भावस्था के दौरान गर्भ में शिशु का शारीरिक विकास तो अच्छे से होता ही है साथ ही गर्भ में शिशु का मानसिक विकास भी शुरू हो जाता है। और शिशु की सुनने की क्षमता में वृद्धि होने के साथ शिशु बाहर की चीजों को सुनता है और पहचाने भी लगता है। और हर गर्भवती महिला यही चाहती है की उसका होने वाला शिशु सूंदर व् बुद्धिमान जन्म ले। क्या आप भी प्रेग्नेंट हैं? और आप भी ऐसा चाहती हैं? यदि हाँ तो आइये अब इस आर्टिकल में हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं जिन्हे यदि आप प्रेगनेंसी के दौरान फॉलो करती है तो इससे गर्भ में पल रहा शिशु शारीरिक रूप से स्वस्थ होने के साथ बुद्धिमान भी होता है।

खान पान का रखें ध्यान

प्रेगनेंसी के दौरान खान पान का जितना अच्छे तरीके से ध्यान रखना जाता है उतना ही गर्भवती महिला को स्वस्थ रहने और गर्भ में शिशु के बेहतर विकास में मदद मिलती है। साथ ही बच्चे के बेहतर मानसिक विकास के लिए महिला को अपनी डाइट में कुछ खास चीजों को शामिल करना चाहिए। जैसे की मछली, अंडे, डेयरी प्रोडक्ट्स, हरी सब्जियां, फलियां, नारियल पानी, बादाम, अखरोट, देसी घी, सौंफ, आयरन से भरपूर डाइट, आंवले का मुरब्बा, संतरा, आदि। यदि महिला इन चीजों का सेवन करती है तो इससे शिशु के शारीरिक विकास अच्छे से होने के साथ शिशु के दिमाग के विकास को भी अच्छे से होने में मदद मिलती है।

गर्भ में पल रहे शिशु से करें बातें

बुद्धिमान शिशु की चाह को पूरा करने के लिए गर्भवती महिला को शिशु से बातें करनी चाहिए, अपने पेट पर हाथ फेरना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से शिशु बाहर की चीजों को समझता है महसूस करता है जिससे शिशु के दिमाग के विकास को बेहतर होने में मदद मिलती है।

READ  प्रेगनेंसी के दौरान अंगूर खाने से क्या-क्या दिक्कत आती है?

केवल अच्छा ही सोचें और पॉजिटिव रहें

यदि आप चाहती हैं की आपका होने वाला शिशु स्वस्थ व् बुद्धिमान हो तो इसके लिए आपको हमेशा पॉजिटिव रहना चाहिए और हमेशा अच्छी बातें ही सोचनी चाहिए। क्योंकि जब आप पॉजिटिव रहेंगी तभी गर्भ में शिशु का शारीरिक और मानसिक विकास बेहतर तरीके से होगा।

बच्चे को कहानियां, किताबें आदि पढ़कर सुनाएँ

शिशु का दिमाग तेज हो और आपका शिशु बुद्धिमान हो तो इसके लिए प्रेग्नेंट महिला को गर्भ में पल रहे शिशु को बोल बोल कर कहानियां सुनानी चाहिए, मधुर संगीत सुनाना चाहिए, किताबें पढ़कर सुनानी चाहिए आदि। क्योंकि शिशु की सुनने की क्षमता बढ़ने के साथ शिशु चीजों को समझने लगता है जिससे शिशु के दिमाग का विकास अच्छे से होता है।

अपने आप को फिट रखें

गर्भावस्था के दौरान महिला अपने आप को स्वस्थ रखें और फिट रहें क्योंकि माँ जितना स्वस्थ रहती है उतना ही शिशु का शारीरिक और मानसिक विकास बेहतर तरीके से होने में मदद मिलती है।

तनाव नहीं लें

प्रेगनेंसी के दौरान कुछ महिलाएं तनाव का शिकार हो जाती है जिसका बुरा असर शिशु पर शारीरिक रूप से पड़ने के साथ मानसिक रूप से भी पड़ता है। ऐसे में यदि आप चाहती है की आपका शिशु शारीरिक रूप से स्वस्थ होने के साथ तेज दिमाग वाला है तो इसके लिए गर्भवती महिला को तनाव बिल्कुल नहीं लेना चाहिए।

एक्टिव रहें

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला जितना एक्टिव रहती है उतना ही गर्भ में पल रहे शिशु के विकास को बेहतर होने में मदद मिलती है साथ ही गर्भ में शिशु भी एक्टिव रहता है। और गर्भ में शिशु के एक्टिव रहने से शिशु का शारीरिक और मानसिक विकास बेहतर तरीके से होता है।

READ  चौबीस घंटे में प्रेग्नेंट महिला को कितना पानी पीना चाहिए?

योगा व् मैडिटेशन जरूर करें

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला को योगा व् मैडिटेशन जरूर करनी चाहिए। क्योंकि इससे महिला मानसिक रूप से रिलैक्स रहती है और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहती है। जिसका सकारात्मक असर गर्भ में पल रहे शिशु पर पड़ता है और आपका शिशु स्वस्थ पैदा होता है और शिशु का मानसिक विकास भी अच्छे से होता है। जिससे आपकी एक स्वस्थ व् बुद्धिमान शिशु को जन्म देने की चाहत पूरी होती है।

लापरवाही से बचें

स्वस्थ व् बुद्धिमान शिशु की चाह को पूरा करने के लिए गर्भावस्था के दौरान महिला को अपना अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। और किसी भी तरह की लापरवाही नहीं करनी चाहिए जैसे की नशीले पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए, पेट पर दबाव पड़े उस काम को नहीं करना चाहिए, नेगेटिव नहीं होना चाहिए, शरीर में पानी की कमी नहीं होने देनी चाहिए, वजन नियंत्रित रखना चाहिए, बिना डॉक्टर परामर्श के दवाई नहीं लेनी चाहिए, ज्यादा तेज आवाज़ में नहीं जाना चाहिए, आदि। यदि महिला इन छोटी छोटी बातों का प्रेगनेंसी के दौरान अच्छे से ध्यान रखती है तो इससे गर्भ में पल रहा शिशु को स्वस्थ व् बुद्धिमान होता है।

डॉक्टर से नियमित जांच करवाएं

गर्भ में पल रहा शिशु शारीरिक व् मानसिक रूप से स्वस्थ रहे इसके लिए महिला को रूटीन चेकअप समय से करवाना चाहिए, समय पर डॉक्टर द्वारा बताई गई दवाइयों का सेवन करना चाहिए, टीकाकरण समय से करवाना चाहिए।

तो यह हैं कुछ टिप्स जिन्हे यदि प्रेग्नेंट महिला फॉलो करती है तो इससे गर्भ में पल रहे शिशु का विकास बेहतर होने में मदद मिलती है। आप भी प्रेगनेंसी के दौरान ऐसा जरूर करें क्योंकि ऐसा करने से आपको एक स्वस्थ, सूंदर व् बुद्धिमान शिशु को जन्म देने में मदद मिलेगी।

READ  प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में महिला खाएं यह 10 चीजें

Follow these tips for healthy and intelligent baby during pregnancy

Leave A Reply

Your email address will not be published.