What In India

Trending Now

प्रेग्नेंट महिला को इन बिमारियों का उपचार नहीं करना चाहिए?

0

गर्भावस्था के दौरान महिला को बहुत सी शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। जैसे की उल्टियां अधिक होना, पेट दर्द होना, पीठ दर्द होना, पैरों में सूजन होना, सिर दर्द व् चक्कर की समस्या, बॉडी पेन होना, सफ़ेद पानी निकलना, थकावट व् कमजोरी महसूस होना, आदि। और प्रेगनेंसी के दौरान इन परेशानियां का होना आम बात होती है।

ऐसे में प्रेग्नेंट महिला को इन परेशानियों को हल करने के लिए अपना अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। साथ ही प्रेगनेंसी के दौरान महिला को कुछ परेशानियों का इलाज खुद नहीं करना चाहिए तो आइये अब जानते हैं की वो परेशानियां कौन सी हैं।

पेट में दर्द

गर्भावस्था के दौरान पेट का आकार बढ़ने के कारण पेट की मांसपेशियों में खिंचाव बढ़ जाता है जिसके कारण महिला को पेट में दर्द हो सकता है, पाचन क्रिया से सम्बंधित परेशानी होने के कारण महिला को पेट में दर्द हो सकता है, गर्भ में शिशु के कीच करने के कारण पेट में दर्द हो सकता है, आदि।

लेकिन महिला को पेट में होने वाले दर्द से बचने के लिए किसी भी तरह की दवाई का सेवन नहीं करना चाहिए यदि दर्द ज्यादा हो रहा है सहन नहीं हो रहा है तो तुरंत डॉक्टर से मिलें। ताकि जो भी परेशानी है उसका समाधान हो सके।

बॉडी पेन

प्रेगनेंसी के दौरान बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण, शारीरिक परेशानियों की वजह से, वजन बढ़ने के कारण, थकावट व् कमजोरी अधिक होने के कारण बॉडी पेन की समस्या हो सकती है। और यह समस्या एक दिन नहीं बल्कि प्रेगनेंसी के आखिर तक महिला को रह सकती है।

ऐसे में प्रेग्नेंट महिला को बॉडी पेन के इलाज के लिए भरपूर पोषक तत्वों से युक्त आहार लेना चाहिए, पानी पीना चाहिए, तनाव नहीं लेना चाहिए, भरपूर आराम करना चाहिए, आदि। लेकिन गलती से भी बॉडी पेन की समस्या अधिक होने पर दवाइयों का सेवन नहीं करना चाहिए।

फीवर यानी बुखार

यदि प्रेगनेंसी के दौरान महिला के शरीर का तापमान बढ़ जाता है और बुखार हो जाता है तो महिला को बुखार का इलाज खुद नहीं करना चाहिए। बल्कि इसके लिए डॉक्टर से मिलना चाहिए ताकि प्रेगनेंसी के दौरान बुखार में आपका ट्रीटमेंट सही हो सके। और आपको जल्द से जल्द इस समस्या से राहत मिल सके।

सिर दर्द

गर्भावस्था के दौरान सिर दर्द की समस्या भी महिला को अधिक हो सकती है और कई महिलाएं तो रोजाना इस समस्या का सामना कर सकती है। ऐसे में आपको खुद इस समस्या का इलाज घर पर नहीं करना चाहिए। लेकिन सिर दर्द के साथ यदि चक्कर भी आ रहे हैं तो एक बार डॉक्टर से जरूर मिलें।

सफ़ेद पानी

गर्भवती महिला को यदि प्राइवेट पार्ट से सफ़ेद पानी अधिक निकल रहा है। तो महिला को इस समस्या का इलाज खुद नहीं करना चाहिए बल्कि इस समस्या के होने पर तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए। क्योंकि हो सकता है की एमनियोटिक बैग लीक हो रहा हो यदि ऐसा हो रहा होता है तो इसकी वजह से गर्भ में बच्चे को मुश्किलें हो सकती है।

तो यह हैं कुछ बीमारियां जिनका इलाज प्रेग्नेंट महिला को नहीं करना चाहिए। साथ ही घर पर आपको किसी भी समस्या से बचाव के लिए अपनी मर्ज़ी से दवाई का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह दवाइयां गर्भ में शिशु की सेहत पर गलत असर डाल सकती है। इसके अलावा यदि कोई लक्षण समझ नहीं आ रहा है या दिक्कत ज्यादा हो रही है तो महिला को इन परेशानियों से बचाव के लिए जल्द से जल्द डॉक्टर से मिलना चाहिए।

Leave a comment