Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्रेग्नेंट महिला को रात को रोटी खानी चाहिए या चावल

0

यह तो आप सभी जानते होंगे की प्रेगनेंसी के दौरान महिला को अपनी डाइट में हेल्दी फूड्स की मात्रा को बढ़ा लेना चाहिए। क्योंकि जितना महिला हेल्दी फूड्स का सेवन करती है उतना ही गर्भ में पल रहे शिशु की ग्रोथ को बढ़ाने और प्रेग्नेंट महिला के एनर्जी लेवल को बढाए रखने में मदद मिलती है। लेकिन साथ ही हर खाने पीने की चीज को लेकर प्रेग्नेंट महिला के मन में सवाल भी रहते हैं की कौन सी चीजों को कितनी मात्रा में लेना चाहिए।

क्योंकि महिला जितना सही मात्रा में अपनी डाइट को लेती है उतना ही महिला के शरीर में पोषक तत्वों की मात्रा को सही रहने में मदद मिलती है। आज इस आर्टिकल में हम आपसे प्रेगनेंसी के दौरान रात के समय महिला को रोटी का सेवन करना चाहिए या चावल का सेवन करना चाहिए उसके बारे में बताने जा रहे हैं।

क्या प्रेगनेंसी के दौरान चावल खाना सेफ होता है?

जी हाँ, प्रेगनेंसी के दौरान चावल खाना बिल्कुल सेफ होता है क्योंकि चावल में कैल्शियम, थायमिन, फाइबर, विटामिन डी जैसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं। और यह सभी पोषक तत्व गर्भवती महिला और शिशु दोनों की सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। ऐसे में महिला को यदि चावल पसंद है तो महिला बिना किसी डर के रोटी के साथ राइस को भी अपनी डाइट का अहम हिस्सा बना सकती है।

प्रेगनेंसी में कौन सा चावल खाएं सफ़ेद या ब्राउन?

गर्भावस्था के दौरान यदि महिला का सफ़ेद चावल खाने का मन है तो महिला सफ़ेद चावल खा सकती है साथ ही यदि महिला ब्राउन राइस खाने का मन है तो महिला ब्राउन राइस भी खा सकती है। क्योंकि गर्भावस्था के दौरान सफ़ेद और ब्राउन दोनों ही तरह के राइस खाना बिल्कुल सेफ होता है। और दोनों से ही महिला को पोषक तत्व मिलते हैं जो माँ व् बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होते हैं।

गर्भवती महिला को रात को रोटी खानी चाहिए या चावल?

जैसा की ऊपर आपने जाना की चावल में भी पोषक तत्व भरपूर होते हैं तो इसीलिए महिला चाहे तो कभी कभार रात में चावल का सेवन कर सकती है। लेकिन यदि ठण्ड का मौसम है, महिला को खांसी जुखाम कफ आदि की समस्या है तो महिला को रात के समय चावल खाने से बचना चाहिए। क्योंकि रात के समय चावल खाने से महिला को यह दिक्कत बढ़ सकती है।

साथ ही महिला को रात के समय यदि महिला रोटी खाती है तो यह चावल की अपेक्षा ज्यादा फायदेमंद होता है क्योंकि रोटी में चावल से ज्यादा फाइबर होता है। जिसकी वजह से रोटी को पचाना महिला के लिए ज्यादा आसान होता है। लेकिन कभी कभी आप चावल भी खा सकती है परतु चावल ले साथ आधी या एक रोटी जरूर खाएं।

इसके अलावा रात के समय चावल खाएं तो उसमे सब्जियों की मात्रा की अधिकता रखें ताकि चावल आपको ज्यादा फायदा पहुंचा सकें। साथ ही जिन महिलाओं को कब्ज़ आदि की समस्या रहती है तो वो खिचड़ी के रूप में चावल का सेवन करें क्योंकि खिचड़ी एक हल्का आहार है जिसे हज़म करने से आसानी होती है।

चावल का सेवन करते समय इन बातों का ध्यान रखें

  • प्रेग्नेंट महिला चावल में पोषक तत्वों की मात्रा को बढ़ाने के लिए इसमें अलग अलग तरह की सब्जियों को मिक्स कर सकती है ऐसा करने से चावल में पोषक तत्वों की मात्रा बढ़ जाती है।
  • चावल में पोषक तत्वों की मात्रा को बढ़ाने के लिए महिला को इसे ओलिव आयल में फ्राई करना चाहिए।
  • गर्भवती महिला इस बात का ध्यान रखें की महिला का जब भी चावल खाने का मन हो तो महिला ताजे चावल ही बनाएं और फ्रिज में रखें ठन्डे व् बासी चावल का सेवन नहीं करें क्योंकि इसकी वजह से महिला को पेट सम्बन्धी समस्या होने का खतरा बढ़ जाता है।
  • आप चाहे तो खिचड़ी के रूप में चावल का सेवन भी कर सकते हैं बस ध्यान रखें की खिचड़ी में दाल की मात्रा को ज्यादा रखें। साथ ही खिचड़ी एक हल्का भोजन भी है जो प्रेगनेंसी के दौरान पेट सम्बन्धी समस्या से बचे रहने में मदद करती है।

तो यह है प्रेगनेंसी के दौरान महिला रात के समय महिला को चावल खाने चाहिए या रोटी उससे जुडी जानकारी, यदि आप भी माँ बनने वाली है तो आपको भी इन बातों का ध्यान रखना चाहिए ताकि प्रेगनेंसी के दौरान आपके शरीर में पोषक तत्वों की मात्रा को सही रहने में मदद मिल सके।

Leave a comment
प्रेगनेंसी में चुकंदर जूस के अद्भुत फायदे कई महिलाओं का एक ब्रेस्ट बड़ा और एक छोटा क्यों होता है