प्रेगनेंसी के दौरान किन-किन फ़ूड को नो कहना जरुरी है?

0

प्रेग्नेंट महिला के फिट और हेल्दी रहने के लिए और गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास के लिए बहुत जरुरी होता है की महिला अपने खान पान का अच्छे से ध्यान रखें। क्योंकि जितना हेल्दी महिला का खान पान होता है उतना ही गर्भवती महिला के शरीर को पोषक तत्व मिलते हैं जो प्रेग्नेंट महिला को एनर्जी से भरपूर रखने के साथ बच्चे के बेहतर विकास में मदद करते हैं। लेकिन गर्भवती महिला को कुछ भी खाने या पीने से पहले इस बात का ध्यान रखना जरुरी होता है की महिला को उस खाद्य पदार्थ के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए।

जैसे की महिला को वह चीजे खानी चाहिए या नहीं, कितनी मात्रा में खानी चाहिए, कौन से महीने में खानी चाहिए, आदि। आज इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे कुछ खाद्य पदार्थों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका सेवन गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी में करने से बचना चाहिए क्योंकि वह खाद्य पदार्थ गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु दोनों के लिए नुकसानदायक होते हैं।

मर्करी युक्त मछली

गर्भवती महिला प्रेगनेंसी के दौरान फिश का सेवन कर सकती है लेकिन फिश का सेवन करते हुए महिला को इस बात का ध्यान रखना चाहिए की वह मछली मर्करी युक्त नहीं हो। क्योंकि जिन मछलियों में मर्करी की मात्रा अधिक होती है और उन मछलियों का सेवन प्रेग्नेंट महिला करती है तो उससे गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास पर बुरा असर पड़ता है। इसीलिए महिला को प्रेगनेंसी के दौरान मर्करी युक्त फिश को नो कहना चाहिए।

READ  गर्भावस्था में बिस्कुट खाना कितना नुकसानदायक होता है?

पपीता

वैसे पपीता पोषक तत्वों से भरपूर होता है साथ ही आपको फिट रखने में भी मदद करता है। लेकिन प्रेग्नेंट महिला को पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इसमें मौजूद एंजाइम बच्चे के विकास पर बुरा असर डालते हैं।

कच्चे अंडे व् कच्चा मास

गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान कच्चे अंडे व् कच्चे नॉन वेज का सेवन भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसमें मौजूद बैड बैक्टेरिया गर्भवती महिला की सेहत को खराब करने के साथ बच्चे के विकास के विकास पर भी बुरा असर डालते हैं।

कैफीन युक्त चीजें

चाय, कॉफ़ी, डार्क चॉकलेट्स व् अन्य चीजें जिनमे कैफीन की अधिकता होती है उन चीजों का सेवन भी प्रेग्नेंट महिला को नहीं करना चाहिए या सिमित मात्रा में करना चाहिए। क्योंकि कैफीन का अधिक मात्रा में सेवन करना गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास पर बुरा असर डालता है।

अनानास

गर्भावस्था के दौरान महिला को जितना हो सके अनानास का सेवन करने से भी बचना चाहिए। क्योंकि अनानास में ब्रोमेलिन नामक तत्व मौजूद होता है जो गर्भपात या समय से पहले डिलीवरी जैसी समस्या का कारण बन सकता है।

दवाइयां

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को बहुत सी शारीरिक समस्याएँ हो सकती है। लेकिन इन परेशानियों से निजात पाने के लिए महिला को अपनी मर्ज़ी से किसी भी दवाई का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह दवाइयां बच्चे के लिए नुकसानदायक होती है। ऐसे में यदि महिला को कोई शारीरिक समस्या अधिक होती है तो उससे निजात के लिए महिला को पहले डॉक्टर की राय लेनी चाहिए।

READ  प्रेग्नेंट महिला के भारी सामान उठाने से शिशु को क्या नुकसान होता है?

नशीले पदार्थ

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को नशीले पदार्थों का सेवन भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि नशीले पदार्थ में मौजूद रसायन गर्भनाल की मदद से शिशु तक पहुँचते हैं जिससे शिशु का शारीरिक और मानसिक विकास कम होता है।

बिना धुले फल व् सब्जियां

प्रेग्नेंट महिला को बिना धुले फल व् सब्जियों को भी खाने में प्रयोग में नहीं लाना चाहिए। क्योंकि इनपर मौजूद बैड बैक्टेरिया शरीर में प्रवेश करता है जिससे बच्चे और माँ दोनों की सेहत पर बुरा असर पड़ता है।

एलोवेरा जूस

बहुत सी महिलाएं वजन नियंत्रित करने के लिए, स्वस्थ रहने के लिए एलोवेरा जूस का सेवन करती है। लेकिन यदि आप माँ बनने वाली हैं तो आपको एलोवेरा जूस का सेवन नहीं करना चाहिए।

जंक फ़ूड

गर्भावस्था के दौरान महिला को ज्यादा मसालेदार आहार, जंक फ़ूड खासकर चाइनीज़ फ़ूड का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि जंक फ़ूड में पोषक तत्व मौजूद नहीं होते है जिससे महिला की सेहत बच्चे की सेहत को नुकसान पहुँचता है।

कच्चा दूध

यदि आप कच्चा दूध पीती है तो प्रेगनेंसी के दौरान आपको कच्चे दूध का सेवन भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि कच्चे दूध में भी हानिकारक बैक्टेरिया मौजूद होता जिससे महिला की सेहत को नुकसान पहुँचने के साथ बच्चे की सेहत को भी नुकसान पहुँचता है।

गर्म तासीर वाली चीजें

जिन खाद्य पदार्थों की तासीर गर्म होती है जैसे की अदरक, तुलसी, लौंग, इलायची, आदि इनका सेवन भी गर्भवती महिला को नहीं करना चाहिए। क्योंकि इनकी वजह से गर्भपात या समय पूर्व प्रसव जैसी समस्या का सामना महिला को करना पड़ सकता है।

READ  प्रेगनेंसी में कब कैसे और कितना अमरुद खाना चाहिए?

क्रीम दूध से बनी चीजें

प्रेग्नेंट महिला को क्रीम वाले दूध से बनी चीजों का सेवन करने से भी बचना चाहिए। क्योंकि इनमे हानिकारक बैक्टेरिया मौजूद होता है जिससे गर्भ में पल रहे शिशु की सेहत को नुकसान पहुँचता है।

एलर्जी वाले खाद्य पदार्थ

जिन खाद्य पदार्थों का सेवन करने से गर्भवती महिला को एलर्जी होती है उनका सेवन भी प्रेग्नेंट महिला को नहीं करना चाहिए। क्योंकि उनका सेवन करने से गर्भ में शिशु को भी एलर्जी होने का खतरा रहता है।

डिब्बाबंद जूस

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को डिब्बाबंद जूस का सेवन करने से भी परहेज करना चाहिए। क्योंकि इसमें आर्टिफिशल मीठे की मात्रा की अधिकता होती है साथ ही इन जूस को ज्यादा दिन तक सही रखने के लिए केमिकल मिलाया जाता है। जो शिशु को नुकसान पहुंचा सकता है ऐसे में यदि महिला का जूस पीने का मन करता है तो महिला घर में ताजे फलों का रस पीना चाहिए।

बासी खाना

गर्भवती महिला को बासी खाना भी नहीं खाना चाहिए क्योंकि बासी खाने में हानिकारक बैक्टेरिया पैदा हो जाता है जिससे गर्भवती महिला और शिशु की सेहत को नुकसान पहुँच सकता है।

तो यह हैं वो खाद्य पदार्थ जिनका सेवन गर्भावस्था के दौरान महिला को नहीं करना चाहिए, यदि महिला इन खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करती है। तो इससे महिला और बच्चे दोनों को प्रेगनेंसी के दौरान स्वस्थ रहने में मदद मिलती है।

Say no to these food during pregnancy

Leave A Reply

Your email address will not be published.