Take a fresh look at your lifestyle.

जब प्रेगनेंसी के नौवें महीने में अचानक से पेट में दर्द हो जाये तो क्या करें

0

प्रेगनेंसी का नौवां महीना वो महीना होता है जब प्रेग्नेंट महिला का इंतज़ार लगभग खत्म होने के करीब आ जाता है। क्योंकि अब महिला की डिलीवरी कभी भी हो सकती है और गर्भ में पल रही नन्ही जान को महिला अपनी गोद में लेकर बहुत करीब से महसूस कर सकती है। लेकिन साथ ही यह पल महिला के लिए घबराहट से भरा भी हो सकता है, क्योंकि इस दौरान महिला को यदि थोड़ी भी दिक्कत होती है तो महिला टेंशन ले लेती है की कहीं उसके बच्चे को कोई दिक्कत तो नहीं हो रही है।

खासकर जो महिलाएं पहली बार माँ बन रही होती है उन्हें ज्यादा दिक्कत का अनुभव हो सकता है। लेकिन यह वो समय होता है जब महिला को धैर्य से काम लेना होता है और बिल्कुल भी तनाव नहीं लेना होता है। क्योंकि तनाव आपकी परेशानी को बढ़ा सकता है। प्रेगनेंसी के नौवें महीने में महिला को पेट में दर्द की समस्या ज्यादा महसूस हो सकती है। लेकिन हर बार पेट दर्द केवल डिलीवरी का ही संकेत हो ऐसा जरुरी नहीं होता है। तो आइये अब जानते हैं प्रेगनेंसी में पेट दर्द होने से जुडी बातें:-

प्रेगनेंसी के नौवें महीने में पेट दर्द होने के कारण

  • पेट के आकार के पूरी तरह बढ़ने के कारण मांसपेशियों में खिंचाव अधिक हो जाता है जिसकी वजह से पेट में दर्द महसूस हो सकता है।
  • बच्चे के भार के नीचे की तरफ होने के कारण पेट में दर्द महसूस हो सकता है।
  • कब्ज़, पेट में गैस आदि की परेशानी होने पर भी पेट दर्द महसूस हो सकता है।
  • यदि महिला की डिलीवरी होने वाली है तो भी पेट, पीठ, में तेजी से या रुक रुक कर दर्द मेषसूस हो सकता है।

प्रेगनेंसी के नौवें महीने में कब पेट दर्द से घबराना नहीं चाहिए?

यदि गर्भवती महिला को हल्का फुल्का पेट में दर्द हो रहा है तो महिला को घबराना नहीं चाहिए। क्योंकि प्रेगनेंसी के नौवें महीने में पेट में हल्का फुल्का दर्द रहना आम बात होती है। इसके अलावा पेट दर्द महसूस होने पर महिला को थोड़ा आराम करना चाहिए, निम्बू पानी या फलों का सेवन करना चाहिए, बेल्ट का इस्तेमाल करना चाहिए, आदि इससे महिला को पेट में दर्द से राहत पाने में मदद मिलती है।

प्रेगनेंसी के नौवें महीने में पेट दर्द होने पर डॉक्टर से कब मिलें?

  • यदि प्रेग्नेंट महिला को पेट में बहुत तेजी से दर्द हो रहा और महिला से सहन भी नहीं हो रहा है।
  • पेट में दर्द के साथ प्राइवेट पार्ट से सफ़ेद पानी, हल्का ब्लड आये तो बिना देरी किये डॉक्टर के पास जाना चाहिए।
  • पेट के साथ पीठ में टांगों में बहुत तेजी से दर्द हो तो भी डॉक्टर से मिलना चाहिए, क्योंकि यह सब प्रसव का समय पास आने के लक्षण होते हैं और इस बात का संकेत देते हैं की अब डिलीवरी किसी भी समय हो सकती है। ।

तो यह हैं प्रेगनेंसी के नौवें महीने में पेट में दर्द से जुडी कुछ बातें, यदि आपको भी नौवां महिला लगा हुआ या शुरू हो गया है। तो यदि आपके पेट में अचानक से पेट दर्द हो जाये तो घबराएं नहीं बल्कि संयम से काम लें। ताकि माँ व् बच्चा दोनों को किसी तरह की परेशानी न हो और दोनों स्वस्थ रहें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.