10 सुपरफूड जो दूध पिलाने वाली महिला को जरूर खाने चाहिए

प्रेगनेंसी के दौरान ही नहीं बल्कि जन्म के कुछ समय बाद तक भी बच्चा अपने आहार व् अपने विकास के लिए अपनी माँ पर ही निर्भर करता है। और माँ का अपने बच्चे को दूध पिलाना महिला के मातृत्व के अहसास को बढ़ाने में मदद करता है साथ ही माँ और बच्चे का लगाव भी आपस में बढ़ता है। साथ ही माँ का दूध बच्चे को बिमारियों से बचाव करने में भी मदद करता है। लेकिन डिलीवरी के बाद महिला के शरीर में बहुत कमजोरी आ जाती है।

ऐसे माँ शरीर में आइए कमजोरी को दूर करने के लिए और बच्चे के लिए दूध के उत्पादन को बढ़ाने के लिए दूध पिलाने वाली महिला को कुछ सुपरफूड को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। तो आज इस आर्टिकल में दूध पिलाने वाली महिलाओं के लिए ऐसे 10 सुपरफूड बताने जा रहे हैं जो महिला को फिट करने व् बच्चे के लिए दूध के उत्पादन को बढ़ाने में मदद करते हैं।

ड्राई फ्रूट्स के लड्डू

डिलीवरी के बाद महिला को आटे को घी में भूनकर उसमे सही तरह के ड्राई फ्रूट्स, तिल, गोंद, आदि डालकर लड्डू बनवाकर खाने चाहिए। और इन लड्डू की एक गिलास गुनगुने दूध के साथ खाना चाहिए। यह लड्डू डिलीवरी के बाद महिला के शरीर में आई कमजोरी को दूर करने के साथ बच्चे के लिए दूध की मात्रा को बढ़ाने में मदद मिलती है।

हरी पत्तेदार सब्जियां

हरी पत्तेदार सब्जियों में आयरन, कैल्शियम, फोलेट, विटामिन्स, बीटा कैरोटीन आदि भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। जो डिलीवरी के बाद महिला को जल्दी फिट होने के साथ दूध का उत्पादन बढ़ाने व् दूध में मौजूद पोषक तत्वों को बढ़ाने में मदद करता है।

दालें

स्तनपान करवाने वाली महिलाओं के लिए दालें व् फलियां भी सुपरफूड होती है। क्योंकि दालों में विटामिन्स, प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, फाइबर जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं। जो महिला को फिट रखने के साथ बच्चे के विकास के लिए सभी जरुरी पोषक तत्व भी शिशु तक पहुंचाते हैं।

दूध के साथ मेवे

मेवे भी पोषक तत्वों की खान होते हैं जिनमे कैलोरीज़, विटामिन्स, आयरन, एंटीऑक्सीडेंट्स सभी भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। ऐसे में मेवे खाने से भी डिलीवरी के बाद महिला को फिट रहने व् दूध के उत्पादन को बढ़ाने में मदद मिलती है। और मेवे के फायदे को बढ़ाने के लिए आपको इन्हे दूध में मिलाकर इनका सेवन करना चाहिए।

ओट्स व् दलिया

ओट्स व् दलिया भी स्तनपान करवाने वाली महिलाओं के लिए सुपरफूड होता है। क्योंकि दलिया में आयरन, कैल्शियम, विटामिन बी जैसे पोषक तत्व होते हैं। वहीँ ओट्स फाइबर का बेहतरीन स्त्रोत होता है, वहीँ इसमें पोषक तत्वों की मात्रा को बढ़ाने के लिए आप इसमें सब्जियां आदि डालकर या दूध में इसे बनाकर इसका सेवन कर सकती है।

अंडे

अंडे में प्रोटीन, विटामिन बी 12, विटामिन डी, राइबोफ्लेविन, फोलेट जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। जो स्तनपान करवाने वाली महिला व् बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होते हैं।

मेथी के बीज

मेथी के बीजों में ओमेगा 3 फैटी एसिड,आयरन, कैल्श्यिम, व् अन्य विटामिन्स भरपूर मात्रा में होते है। ऐसे में दूध पिलाने वाली महिला को मेथी के बीजों का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि इससे महिला को फिट होने व् बच्चे के बेहतर विकास में मदद मिलती है। इसका इस्तेमाल महिला आटे में मिलाकर परांठे, पूरी या सब्ज़ी आदि में डालकर कर सकती है। यदि आप चाहे तो इसे पीसकर पाउडर के रूप में भी इस्तेमाल कर सकती है।

सौंफ

स्तनपान करवाने वाली महिला के लिए सौंफ का सेवन करना भी बहुत फायदेमंद होता है। क्योंकि सौंफ का सेवन करने से महिला की पाचन क्रिया को दुरुस्त रहने, बच्चे को पेट सम्बन्धी परेशानी से बचे रहने व् स्तनों में दूध के उत्पादन को बढ़ाने में मदद मिलती है।

गाजर

स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को गाजर का जूस, सलाद, सब्ज़ी किसी भी रूप में गाजर का सेवन जरूर करना चाहिए। क्योंकि गाजर ब्रेस्टफीड को बढ़ाने के साथ बच्चे के बेहतर विकास करने में भी मदद करता है।

कच्चा प्याज़

डिलीवरी के बाद स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को अपने आहार के साथ कच्चे प्याज़ का सेवन भी जरूर करना चाहिए। क्योंकि कच्चे प्याज़ का सेवन करने से स्तनों में दूध की मात्रा को बढ़ाने में मदद मिलती है।

तो यह हैं कुछ आहार जो दूध पिलाने वाली महिला के लिए सुपरफूड होते हैं जो महिला को फिट करने के साथ बच्चे के लिए दूध के उत्पादन को बढ़ाने में भी मदद करते हैं।