Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

सर्दियों में प्रेग्नेंट महिला को क्या खाना चाहिए और क्या नहीं?

0

गर्भावस्था के दौरान महिला को बदलते मौसम के अनुसार अपनी केयर के तरीके, अपने रहन सहन के तरीके, खान पान के तरीके में बदलाव करने की जरुरत होती है। ताकि माँ व् बच्चे के स्वास्थ्य पर बदलते मौसम का बुरा असर नहीं पड़े और माँ व् बच्चा दोनों को स्वस्थ रहने में मदद मिल सकें। जैसा की आप सभी जानते हैं की प्रेगनेंसी के दौरान खान पान का सबसे अधिक महत्व होता है।

तो ऐसे में जब सर्दियों का मौसम आता है तो महिला को अपने खान पान से जुडी कुछ बातों का ध्यान रखने की जरुरत होती है। आज इस आर्टिकल में हम आपको प्रेगनेंसी के दौरान सर्दियों के मौसम में किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए और क्या खाएं व् क्या नहीं आदि के बारे में बताने जा रहे हैं। यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं तो आपको भी इन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

  • प्रेग्नेंट महिला के लिए खान पान का ध्यान रखना क्यों है जरुरी?
  • सर्दियों के मौसम में क्या खाएं गर्भवती महिला?
  • सर्दियों के मौसम में क्या नहीं खाएं गर्भवती महिला?
  • ठंड के मौसम में गर्भवती महिला ऐसे रखें अपना ध्यान?
  • सर्दी के कारण होने वाली परेशानियों से बचे रहने के टिप्स

प्रेग्नेंट महिला के लिए खान पान का ध्यान रखना क्यों है जरुरी?

गर्भावस्था के दौरान महिला के शरीर में बहुत से बदलाव आते हैं। साथ ही गर्भ में पल रहा शिशु भी अपने विकास के लिए पूरी तरह से अपनी माँ पर ही निर्भर करता है। ऐसे में महिला को शारीरिक रूप से फिट रहने और गर्भ में शिशु की जरूरतों को पूरा करने के लिए पोषक तत्वों की जरुरत होती है। और यह सभी पोषक तत्व महिला को पोषक तत्वों से भरपूर डाइट से मिल सकते हैं। इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान महिला के लिए खान पान का ध्यान रखना जरुरी होता है ताकि शरीर में पोषक तत्वों की कमी नहीं हो। और प्रेगनेंसी के दौरान माँ व् बच्चे को हर परेशानी से बचे रहने में मदद मिल सकें।

सर्दियों के मौसम में गर्भवती महिला क्या खाएं?

प्रेगनेंसी के दौरान खाना पीना जितना जरुरी होता है उतना ही इस बात का ध्यान रखना भी जरुरी होता है की प्रेगनेंसी के दौरान महिला के लिए क्या खाना चाहिए। ताकि माँ व् बच्चे को किसी भी तरीके की दिक्कत नहीं हो। तो आइये अब जानते हैं की सर्दियों के मौसम में प्रेग्नेंट महिला को क्या खाना चाहिए।

खट्टे फल

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को खट्टे फल जैसे की मौसमी, संतरा, किन्नू, कीवी, अमरुद आदि का सेवन भरपूर मात्रा में करना चाहिए। क्योंकि इसमें विटामिन सी मौजूद होता है जो की एक बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंट होता है। ऐसे में इन फलों का सेवन करने से भरपूर मात्रा में विटामिन सी मिलता है जिससे महिला को सर्दियों में इन्फेक्शन के खतरे से बचे रहने में मदद मिलती है। साथ ही खट्टे फलों में फोलेट, फाइबर व् अन्य मिनरल्स मौजूद होते हैं जो की प्रेगनेंसी के दौरान जरुरी होते हैं।

गाजर

सर्दियों के मौसम में गाजर आपको बहुत आसानी से मिल जाती है और गाजर का सेवन करना प्रेग्नेंट महिला के लिए बहुत फायदेमंद होता है। क्योंकि गाजर में विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन सी, विटामिन के, विटामिन डी, फोलिक एसिड जैसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो माँ व् बच्चे दोनों के लिए जरुरी होते हैं साथ ही इसके सेवन महिला की इम्युनिटी भी मजबूत होती है। जिससे महिला को सर्दियों में होने वाली परेशानियों से बचे रहने में मदद मिलती है। साथ ही प्रेग्नेंट महिला गाजर को गाजर के जूस, सलाद, सब्ज़ी, आदि के रूप में अपनी डाइट में शामिल कर सकती है।

मूली

ठंड का मौसम आते ही मार्किट में मूली भी आ जाती है और मूली के आते ही अधिकतर सभी को मूली के पराठे खाने की क्रेविंग होना आम बात होती है। और प्रेग्नेंट महिला के लिए तो सर्दियों के मौसम में मूली का सेवन करना बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान पेट सम्बन्धी समस्या होना आम बात होती है और मूली में फाइबर की मात्रा भरपूर होती है।

ऐसे में मूली का सेवन करने से महिला को पेट सम्बन्धी परेशानियों से बचे रहने में मदद मिलती है। इसके अलावा सर्दियों के मौसम में पानी पीने की इच्छा भी कम ही होती है ऐसे में मूली का सेवन करने से महिला को हाइड्रेट रहने में भी मदद मिलती है। इसके अलावा मूली में पोटैशियम, कैल्शियम, विटामिन सी, फोलेट, थाइमिन जैसे पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं जो माँ व् बच्चे दोनों के लिए हेल्दी होते हैं।

शकरकंदी

सर्दियों के मौसम में शकरकंदी भी मार्किट में आ जाती है जिसे आप स्वीट पोटैटो भी कहते हैं। और स्वीट पोटैटो का सेवन करना प्रेग्नेंट महिला के लिए बहुत फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें थाइमिन, राइबोफ्लेविन, विटामिन बी, विटामिन सी, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, पोटैशियम, फॉस्फोरस जैसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं। जो सर्दियों के मौसम में महिला की इम्युनिटी को मजबूत बनाएं रखने के साथ इन्फेक्शन से सुरक्षित रखने में भी मदद करते हैं। इसके अलावा और भी सेहत सम्बन्धी फायदे शकरकंदी का सेवन करने से माँ व् बच्चे को मिलते हैं। इसीलिए प्रेग्नेंट महिला को शकरकंदी का सेवन जरूर करना चाहिए।

ड्राई फ्रूट्स

सर्दियों के मौसम में गर्भवती महिला को ड्राई फ्रूट्स का सेवन भी जरूर करना चाहिए। क्योंकि ड्राई फ्रूट्स में पोषक तत्व जैसे की आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन, मैगनीज़, पोटैशियम, आदि भरपूर मात्रा में शामिल होता है। और यह सभी पोषक तत्व गर्भवती महिला व् गर्भ में पल रहे शिशु के लिए फायदेमंद होते हैं। साथ ही ड्राई फ्रूट्स की तासीर थोड़ी गर्म होती है ऐसे में ड्राई फ्रूट्स का सेवन करने से सर्दियों के मौसम में शरीर को ठंड व् ठंड के कारण होने वाली परेशानियों से बचे रहने में मदद मिलती है।

केसर मिल्क

सर्दियों के मौसम में गर्भवती महिला चाहे तो केसर मिल्क का सेवन भी कर सकती है। क्योंकि केसर मिल्क माँ व् बच्चे दोनों की सेहत को बेहतर रखने में मदद करता है। साथ ही केसर मिल्क पीने से महिला की इम्युनिटी बढ़ती है जिससे सर्दियों के कारण होने वाली दिक्कतों से गर्भवती महिला को बचे रहने में मदद मिलती है।

हरी सब्जियां

ठंड का मौसम आते हैं आपको मार्किट में हर तरीके की हरी सब्ज़ी मिल जाती है और हरी सब्जियां आयरन, फोलेट, फाइबर, कैल्शियम, विटामिन्स का बेहतरीन स्त्रोत होती है। जिससे प्रेग्नेंट महिला को स्वस्थ रहने, महिला की प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होने और गर्भ ने पल रहे शिशु के बेहतर विकास में भी मदद मिलती है। इसीलिए हो सके तो गर्भवती महिला को हरी सब्ज़ी का सेवन जरूर करना चाहिए।

अंडा व् नॉन वेज

प्रेगनेंसी के दौरान अंडा व् नॉन वेज खाना बिल्कुल सेफ होता है लेकिन इसकी तासीर थोड़ी गर्म होने के कारण गर्मियों में इन्हे खाने की इच्छा थोड़ी कम होती है। ऐसे में सर्दियों के मौसम में महिला को इनका सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि यह प्रोटीन, आयरन, कैल्शियम, फोलेट, फैटी एसिड्स जैसे पोषक तत्वों का बेहतरीन स्त्रोत होते हैं। जो गर्भवती महिला को स्वस्थ रखने के साथ गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में भी मदद करते हैं। साथ ही सर्दियों में इनका सेवन करने से शरीर को गर्माहट मिलती है जिससे सर्दी के कारण होने वाली परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है।

सर्दियों के मौसम में गर्भवती महिला क्या नहीं खाएं?

प्रेग्नेंट महिला को जितना इस बता का ध्यान रखना जरुरी है की महिला को सर्दी के मौसम में क्या खाना चाहिए जिससे माँ व् बच्चे को फायदा मिलें। उतना ही महिला के लिए इस बात का ध्यान रखना भी जरुरी है की गर्भवती महिला को क्या नहीं खाना चाहिए जिससे गर्भवती महिला या शिशु की सेहत को नुकसान हो। तो आइये अब जानते हैं की गर्भवती महिला को सर्दी के समय क्या नहीं खाना चाहिए।

दही

ठंड के मौसम में महिला चाहे तो दिन के समय एक कटोरी दही का सेवन कर सकती है क्योंकि दही का सेवन करना भी प्रेगनेंसी के दौरान फायदेमंद होता है। लेकिन गर्भवती महिला को रात के समय गलती से भी दही का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इसकी वजह से महिला को खांसी, जुखाम आदि की समस्या हो सकती है।

बासी खाना

सर्दियों के मौसम में खाना जल्दी खराब नहीं होता है यह बिल्कुल सही बता है लेकिन गर्भवती महिला को बासी खाने का सेवन करने से बचना चाहिए। क्योंकि बासी खाने में पोषक तत्व न के बराबर रह जाते हैं साथ ही प्रेगनेंसी के दौरान महिला की पाचन क्रिया धीमे काम करती है ऐसे में महिला को पेट सम्बन्धी परेशानी होने का खतरा भी बढ़ जाता है।

ज्यादा मीठा

सर्दी के मौसम में मीठा खाने की इच्छा होना स्वाभाविक है लेकिन महिला को अपनी इस इच्छा पर रोक लगानी चाहिए। क्योंकि जरुरत से ज्यादा मीठा खाने के कारण शरीर में पानी की कमी, ब्लड शुगर लेवल बढ़ने जैसी समस्या हो जाती है। जिसकी वजह से महिला व् शिशु दोनों को दिक्कत होने का खतरा बढ़ जाता है।

ज्यादा तला भुना

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को कई बार तला भुना खाने का मन करता है और सर्दी के मौसम में तो महिला की यह इच्छा बढ़ सकती है। ऐसे में प्रेग्नेंट महिला को इस बात का ध्यान रखना चाहिए क्योंकि गर्भावस्था के दौरान ज्यादा तला भुना खाने की वजह से गर्भवती महिला को पेट सम्बन्धी परेशानी अधिक हो सकती है।

ठंडा दूध व् दूध से बनी चीजें

सर्दी के मौसम में महिला को ठंडा दूध व् दूध से बनी चीजों का सेवन जरुरत से ज्यादा नहीं करना चाहिए क्योंकि इसकी वजह से महिला को कफ की समस्या हो सकती है।

मछली

वैसे प्रेगनेंसी के दौरान महिला नॉन वेज खा सकती है क्योंकि नॉन वेज का सेवन करने से माँ व् बच्चे दोनों की सेहत को फायदा मिलता है। लेकिन गर्भवती महिला को उन मछलियों का सेवन नहीं करना चाहिए जिनमे मर्करी की मात्रा मौजूद होती है। क्योंकि उन मछलियों का सेवन करने से गर्भ पर बुरा असर पड़ता है।

ठंडा पानी व् ठंडी चीजें

गर्भवती महिला को सर्दी के मौसम में ठंडा पानी व् ठंडी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि ठंडी चीजों का सेवन करने से महिला को सर्दी, जुखाम, कफ जैसी परेशानी होने का खतरा अधिक होता है।

ठंड के मौसम में ऐसे रखें गर्भवती महिला अपना ध्यान?

  • सर्दी के मौसम में प्यास नहीं लगना आम बात होती है लेकिन गर्भवती महिला को इस बात का ध्यान रखना चाहिए की चाहे प्यास लगे या नहीं महिला को दिन भर में आठ से दस गिलास पानी का सेवन जरूर करना चाहिए।
  • ठंड से बचे रहने के लिए गर्भवती महिला को हाथों पैरों को ढक कर रखना चाहिए और गर्म कपडे पहनने चाहिए।
  • सर्दी के मौसम में महिला की चाय कॉफ़ी पीने की इच्छा बढ़ सकती है लेकिन महिला को जरुरत से ज्यादा चाय कॉफ़ी नहीं पीनी चाहिए क्योंकि इसमें कैफीन की अधिकता होती है जिससे महिला की सेहत और बच्चे के विकास पर बुरा असर पड़ सकता है।
  • महिला को नींद भरपूर लेनी चाहिए।
  • गुनगुने पानी का इस्तेमाल करके नहाना चाहिए।
  • ठंड से बचे रहने के लिए महिला को ऐसे आहार लेने चाहिए जिससे महिला की इम्युनिटी मजबूत हो जिससे महिला को संक्रमण के खतरे से बचे रहने में मदद मिल सके।

सर्दी के कारण होने वाली परेशानियों से बचे रहने के टिप्स

  • ठंड के मौसम में सर्दी के कारण होने वाली परेशानियों का खतरा लगा रहता है ऐसे में महिला को इन परेशानियों से बचे रहने के लिए कुछ टिप्स ध्यान रखने चाहिए। जैसे की:
  • कभी भी बिना गर्म कपड़ों के घर से बाहर नहीं जाना चाहिए।
  • ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए बल्कि हो सके तो पानी को थोड़ा गुनगुना कर लेना चाहिए।
  • डॉक्टर द्वारा बताई गई दवाइयों का सेवन समय से करना चाहिए।
  • नींद में लापरवाही नहीं करनी चाहिए।
  • दिन भर में थोड़ी देर धूप सेंकनी चाहिए।
  • ऐसी चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए जिससे आपको गले में इन्फेक्शन होने का खतरा हो।
  • अपना रूटीन चेकअप करवाना बिल्कुल नहीं भूलें और कोई भी दिक्कत हो तो एक बार डॉक्टर की राय जरूर लें।

तो यह हैं प्रेग्नेंट महिला को सर्दियों के मौसम में किन बातों का ध्यान रखना चाहिए, क्या खाना चाहिए, क्या नहीं खाना चाहिए, आदि। यदि महिला इन सभी बातों का ध्यान रखती है तो इससे गर्भवती महिला को सर्दियों के मौसम में होने वाली परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है।

What to eat and not to eat in winter during Pregnancy

Leave a comment