Ultimate magazine theme for WordPress.

मलेरिया बुखार का घरेलू इलाज

मलेरिया बुखार का घरेलू इलाज, मलेरिया बुखार से बचने का उपचार, मलेरिया का इलाज, मलेरिया का घरेलू उपचार, मलेरिया से बचाव के असरदार नुस्खे, Home remedies for Malaria

मलेरिया बुखार प्रोटोजोआ परजीवी द्वारा फैलता है, और मलेरिया के परजीवी वाहक मादा एनोफिलेज़ मच्छर होता है। जैसे ही मलेरिया के मच्छर काटते हैं, वैसे ही इसके परजीवी बॉडी में लाल रक्त कोशिकाओं में बढ़ने लगते है। और आपकी बॉडी में मलेरिया के लक्षण दिखाई देने लगते हैं। मलेरिया होने पर तेज बुखार, जुखाम, ठण्ड लगना, अधिक उबकाई आना, सांस फूलना, एनीमिया के लक्षण, सिर में अधिक दर्द, चक्कर, बेहोशी आदि लक्षण बॉडी में दिखाई देने लगते हैं। और ऐसे में यदि आपको थोड़ा सा बुखार महसूस हो तो इसे अनदेखा न करते हुए तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए ताकि आपको इस परेशानी से निजात पाने में मदद मिल सके। तो आज हम आपके लिए मलेरिया बुखार से बचने के लिए कुछ खास और असरदार घरेलू नुस्खे बताने जा रहें हैं जो आपको इस परेशानी से निजात दिलाने में मदद करते हैं।

अमरुद

अमरुद में विटामिन सी की अधिकता होने के कारण मलेरिया से बचाव के लिए यह एक असरदार उपाय है, यदि कोई मलेरिया का रोगी दिन में दो से तीन बार अमरुद का सेवन करता है। तो उसे बहुत जल्दी इस परेशानी से निजात पाने में मदद मिलती है।

गिलोय

गिलोय मलेरिया के लिए एक ऐसा आयुर्वेदिक उपचार है जो न केवल आपको बुखार से आराम देती है बल्कि आपकी बॉडी में मौजूद सभी विषैले तत्वों को बाहर निकालकर आपको फिट रखने में भी मदद करती है। इसके लिए आप दिन में दो या तीन बार एक गिलास पानी में गिलोय डालकर अच्छे से उबालकर गुनगुना रहने पर इसका सेवन करें। या फिर रात भर के लिए मिट्टी के बर्तन में गिलोय को अच्छे से पीसकर को डालकर रख दें। उसके बाद सुबह उठकर दिन में तीन बार छानकर इसका सेवन करें, आपको इसका असर जरूर दिखाई देगा।

अदरक और किशमिश

एक गिलास पानी में थोड़ा अदरक और दस बारह किशमिश डालकर पानी के आधा रहने तक अच्छे से उबाल लें, उसके बाद दिन में दो बार इसका सेवन करें इससे भी आपको मलेरिया बुखार को कम करने में मदद मिलती है।

तुलसी

तुलसी को आयुर्वेदिक औषधि माना जाता है, बहुत से शरीर के रोगो से लड़ने के लिए यह एक असरदार उपाय की तरह इस्तेमाल की जाती है। और मलेरिया बुखार से बचने के लिए आप आठ दस पत्ते तुलसी के लें, उसमे पांच छह काली मिर्च को पानी के साथ मिलाकर अच्छे से पीस लें, और दिन में दो बार इसका सेवन करें, आप चाहे तो इसमें थोड़ा शहद भी मिला सकते हैं। साथ ही घर में तुलसी का पौधा लगाएं इससे मच्छर आपके घर में नहीं आते हैं। और जब तक बुखार में अच्छे से आराम न आए दिन में दो बार इसका सेवन करें।

नीम

नीम का इस्तेमाल करने से भी आपको मलेरिया बुखार से आराम पाने में मदद मिलती है। इसके इस्तेमाल के लिए आप नीम के पेड़ की छाल को पानी में अच्छे से उबाल कर दिन में दो से तीन बार इसका काढ़ा बनाकर पीएं, या फिर नीम के पत्ते और काली मिर्च को पानी में उबालकर उसे ठंडा करके छानकर दिन में दो से तीन बार उसका सेवन करें इससे भी आपको आराम मिलता है। साथ ही नीम के तेल से मसाज करने से भी आपको आराम मिलता है।

सेंधा नमक

दस ग्राम सेंधा नमक और चालीस ग्राम बूरा लेकर अच्छे से मिक्स कर लें, उसके बाद दिन में तीन बार एक गिलास गुनगुने पानी के साथ इसका सेवन करने से आपको बुखार से आराम पाने में मदद मिलती है। साथ ही आप रात को सोने से पहले एक गिलास पानी में थोड़ा सा सेंधा नमक, थोड़ा शहद, और थोड़ी हल्दी मिलाकर अच्छे से गरम करें, उसके बाद गुनगुना रहने पर छानकर इसका सेवन करें।

प्याज़ का रस

आधे प्याज़ का रस निकालकर उसमे चुकीभर काली मिर्च डालकर अच्छे से मिक्स करके दिन में दो बार सुबह शाम इसका सेवन करें आपको बुखार से आराम पाने में मदद मिलती है।

जीरा

एक चम्मच जीरा लेकर उसमे थोड़ा गुड़ मिलाकर अच्छे से पीस लें, उसके बाद इसकी छोटी छोटी गोलियां बनाएं। और दिन में तीन बार इनका गुनगुने पानी के साथ इसका सेवन करें ऐसा करने से आपको बुखार से आराम मिलता है।

संतरे का उपयोग करें

विटामिन सी की अधिकता होने के कारण संतरे का जूस या संतरे का सेवन करने से आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है। साथ ही संक्रमण से बहाव करके मलेरिया बुखार से आराम दिलाने में भी यह आपकी मदद करता है। साथ ही निम्बू का रस भी इसमें इस्तेमाल करना चाहिए फिर यह ज्यादा असरदार होता है।

तो यह हैं कुछ खास घरेलू उपचार जो आपको मलेरिया बुखार से बचने में मदद करते हैं। इसके अलावा मलेरिया बुखार में आपको पानी, जूस, निम्बू पानी, नारियल पानी व् अन्य तरल चीजों का सेवन ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए आपको बहुत जल्दी रिकवर होने में मदद मिलती है। इसके साथ आपको डॉक्टर से चेक करवाकर दवाइयों का भी नियमित सेवन करते रहना चाहिए।