Ultimate magazine theme for WordPress.

सिजेरियन डिलीवरी से बचना चाहती हैं? तो नार्मल डिलीवरी के लिए अपनाएं ये टिप्स

0

सिजेरियन डिलीवरी से बचना चाहती हैं? तो नार्मल डिलीवरी के लिए अपनाएं ये टिप्स:-

प्रेगनेंसी का समय हर महिला के लिए नए अनुभवो, परेशानियों, और चुन्नौतियों से भरा हुआ होता हैं| और ये समय हर महिला के लिए बहुत खास भी होता हैं| इन परेशानियों और चुन्नौतियों को माँ जभी भूल जाती हैं, जब वो नन्ही सी जान महिला के हाथो में आती हैं| और हर महिला चाहती हैं की वो लम्हा बस वही ठहर जाएँ| और इसके साथ ये भी जरुरी होता हैं| की डिलीवरी के बाद महिला को अपना ख्याल भी अच्छे रखना चाहिए क्योंकि उसके बाद नवजात शिशु भी पूरी तरह से अपनी माँ के ऊपर ही निर्भर करता हैं|

जैसे ही नौवा महीना आता हैं तो महिलाएं सोचती हैं की, कही उन्हें ऑपरेशन न करवाना पड़े| और वो ये भी कोशिश करती हैं की किसी न किसी तरह से उनकी नार्मल डिलीवरी हो जाएँ| परंतु आज के समय में कई महिलाएं नार्मल डिलीवरी में होने वाले दर्द से बचने के लिए खुद ही सिजेरियन डिलीवरी का चुनाव करती हैं| परंतु ये भी सच हैं की ज्यादातर महिलाएं नार्मल डिलीवरी ही करवाना पसंद करती हैं| क्योंकि ऐसी बहुत सी चीजे हैं जो सिजेरियन डिलीवरी में नहीं बल्कि नॉमल डिलीवरी होने से महिला को लाभ पहुचती हैं|

नार्मल डिलीवरी की अपेक्षा महिलाओ को सिजेरियन में ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत होती हैं|नार्मल डिलीवरी में महिलाओ को स्वास्थ्य के लिए हर एक चीज खाने की आजादी होती हैं, जबकि शुरूआती दिनों में महिलाओ को खाने पीने में भी सावधानी बरतनी पड़ती हैं| सिज़ेरियन डिलीवरी की समस्या ये होती है कि इसकी वजह से महिलाओं के शरीर पर दूरगामी बुरे असर पड़ते हैं| साथ ही, डिलीवरी के बाद स्वस्थ होने में भी ज्यादा वक्त लगता हैं| जबकि नार्मल में टांको के अलावा ऐसा कुछ भी नहीं होता हैं|

तो आइये आज हम उन महिलाओ को कुछ टिप्स देना चाह रहे हैं, जो महिलाओ को नार्मल डिलीवरी होने में मदद कर सकते हैं| और यदि आप इन तरीको को अपनी दिनचर्या में शामिल करती हैं, तो इससे आपको नार्मल डिलीवरी होने में मदद मिल सकती हैं| परंतु यदि आप चाहे की थोड़े दिन ऐसा करने से आपकी डिलीवरी नार्मल हो जाएँ तो ये भी संभव नहीं हैं, महिलाओ को इस दौरान डॉक्टर की राय भी जरूर केनी चाहिए, तो ये हैं कुछ टिप्स जो नार्मल डिलीवरी होने में आपकी मदद कर सकते हैं|

सिजेरियन डिलीवरी से बचना चाहते हैं, तो नार्मल डिलीवरी के लिए अपनाएं ये टिप्स:-

तनाव न लें:-

tanav

गर्भवती महिलाओ को बिलकुल भी टेंशन नहीं लेनी चाहिए| क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान किसी भी प्रकार की टेंशन खतरनाक साबित हो सकती हैं| और साथ ही टेंशन लेने का असर बच्चे पर भी पड़ता हैं| वैसे कई महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान एक अलग तरह की टेंशन महसूस होती है, जिसके उपचार के लिए चाहे तो आप डॉक्टर की राय ले सकते हैं| इसके अलावा हो सकें तो आपको खुश भी रहना चाहिए| खुश रहने के लिए आप कई तरीको का इस्तेमाल कर सकती हैं, जैसे की अच्छा संगीत सुने, आदि|

वॉक करना न भूलें:-

pregnant-walk

प्रेगनेंसी के दिनों में वॉक करने की आदत डाल लें, ऐसा करने से आपको गर्भावस्था में बहुत लाभ मिलेगा| आप सुबह और शाम अपने घर के आस पास के पार्क या घर की छत पर वॉक के लिए जा सकती हैं| ऐसा करने से आपके पूरे शरीर की माइल्ड एक्सरसाइज़ होगी| और साथ ही आप एक्टिव भी महसूस करेंगी| साथ ही बाहर की ताज़ी हवा से आपका तनाव दूर हो जाएगा| वॉक करते समय यदि आप थक जाएँ तो थोड़ा आराम करें, खुद के साथ किसी भी प्रकार की जबरदस्ती न करें|

चाय का अधिक मात्रा में सेवन न करें:-

tea

चाय हमारे खून में होनेवाली आयरन की मात्रा को कम करता हैं| आयरन प्रेग्नेंट महिला के लिए बहुत जरूरी होता हैं| आयरन की कमी महिलाओ को कमजोर बना सकती हैं| और इसका सीधा असर बच्चे के विकास और वजन पर पड़ता हैं| गर्भावस्था में महिलाओ को आयरन की कमी न हो, इसीलिए डॉक्टर भी इसकी राय देते हैं| लेकिन अगर आप लगातार चाय और शराब जैसी चीजो का सेवन करती हैं, तो आपको आयरन की कमी हो जाएगी और फिर डिलीवरी में परेशानी होगी| और खली पेट तो कभी चाय पीनी ही नहीं चाहिए|

प्राणायाम जरूर करें:-

Pregnant women

प्राणायाम से शारीरिक और मानसिक दोनों तरह की एक्सरसाइज़ होती हैं, जो की प्रेग्नेंट महिला के लिए बहुत अच्छा होता हैं| क्योंकि इससे उनके बच्चे तक ऑक्सीजन बेहतर तरीके से पहुंचती है, जो की बच्चे के विकास में बहुत फायदा करता हैं| और इसके कारण महिलाओं की नॉर्मल डिलीवरी के चांस भी बाद जाते हैं, साथ ही तनाव से भी राहत मिलती हैं| इसीलिए लिए यदि आप नार्मल डिलीवरी करवाना चाहते हैं| तो इसे अपनी दिनचर्या में जरूर शामिल करें|

भरपूर मात्रा में पानी का सेवन करें:-

पानी सिर्फ आपको हाइड्रेटेड ही नहीं रखता बल्कि नॉर्मल डिलिवरी पाने में आपकी मदद कर सकता हैं| प्रेगनेंसी के दौरान जितना हो सके उतना पानी पियें, वैसे भी आम तौर पर भी कम से कम आठ गिलास दिन में पानी का सेवन जरूर करना चाहिए| इससे आपका पेट भी ठीक रहेगा क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान पेट की समस्याएं बढ़ जाती हैं| गर्म पानी आपको लेबर पेन से लड़ने की ताकत देता है, इसीलिए महिलाओ को नहाने के लिए भी गरम पानी का सेवन करना चाहिए|

संतुलित पोष्टिक व् भरपूर आहार लें:-

vegetables 11

गर्भावस्था के दौरान महिलाओ को अपने खान पान का पूरा ध्यान रखना चाहिए| क्योंकि बच्चे के विकास के लिए भी ये बहुत जरुरी होता हैं| और यदि महिलाएं प्रेगनेंसी में संतुलित व् भरपूर आहार का सेवन नहीं करती हैं, तो इससे महिला के शरीर में कमजोरी आ जाती हैं| जिससे कई बार नार्मल डिलीवरी के लिए महिलाएं तैयार नहीं हो पाती हैं| और सिजेरियन के चांस बढ़ जाते हैं| इसीलिए यदि आप चाहते हैं की महिलाओ के नॉर्मल डिलीवरी के चांस बढ़ जाएँ तो आपको संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए|

हल्का फुल्का व्यायाम करें:-

प्रेगनेंसी का मतलब ये बिल्कुल नहीं है कि आप पूरा समय महिलाएं बिस्तर पर लेटकर आराम करती रहें| और हल्का फुलका व्यायाम करने से आपको भी अच्छा महसूस होता हैं| साथ ही इसके कारण शरीर में दर्द बर्दाश्त करने की क्षमता बढ़ेगी| और अपनी जांघों की एक्सरसाइज़ खासतौर पर करें, इससे डिलीवरी के दौरान काफी मदद मिलेगी| कोई भी ऐसी एक्सरसाइज न करें जिससे पेट पर बल पढ़ें| बेहतर होगा की आप हो सकें तो प्रेगनेंसी में ट्रेनर की मदद से ही एक्सरसाइज़ करें|

सिजेरियन डिलीवरी से बचना चाहती हैं? तो नार्मल डिलीवरी के लिए अपनाएं ये टिप्स, नार्मल डिलीवरी के लिए टिप्स, ऐसे बचें सिजेरियन डिलीवरी से, नॉर्मल डिलीवरी के लिए अपनाएं ये टिप्स, सिजेरियन डिलीवरी से बचने के लिए टिप्स,  normal delivery ke liye tips, cijarian delivery se bachna chahte hain to apnayen ye upay, normal delivery tips