प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने की समस्या है? ये करें

प्रेगनेंसी के दौरान महिला के शरीर में बहुत से परिवर्तन आते है जैसे की वजन का बढ़ना, स्वाभाव में परिवर्तन आना, उलटी आदि की समस्या होना, वैसे ही महिलाओ को बार बार यूरिन आने की समस्या भी होती है, इसका कारण महिला के गर्भ में बच्चेदानी का आकार होता है, और भी कई कारण हो सकते है, तो आइये हम आपको प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने की समस्या के कारण व् उपचार बताते है।

माँ बनना हर महिला के लिए सबसे बड़ा सुख होता है, ऐसे में गर्भावस्था के नौ महीने महिला नए नए अनुभव से गुजरती है, और साथ ही महिला के शरीर में शारीरिक रूप से भी कई परिवर्तन आते है, जैसे की महिला को पेट में दर्द होना, थकावट महसूस होना, गंध से एलर्जी होना, चिड़चिड़ापन होना, पैरो में सूजन होना, बी पी की समस्या होना, स्वाद का बदलना, ऐसे ही कुछ परिवर्तन महिला को शरीरिक रूप से आते है, सभी महिलाओ में एक जैसे परिवेतन हो ये भी नहीं है, ये हर महिला के हॉर्मोन्स पर निर्भर करता है, और महिलाओ को इसके साथ बार बार यूरिन आने की समस्या भी हो जाती है, और कई बार तो यूरिन करते समय जलन का अनुभव और बदबू भी आने लगती है।

महिला को बार बार यूरिन आने के कारण परेशान होना पड़ता है, प्रेगनेंसी में गर्भ में शिशु का विकास होने के साथ महिला के गर्भाशय का आकार भी बढ़ता जाता है, और महिला को बार बार यूरिन आने का सबसे बड़ा कारण महिला को यूरिनरी इन्फेक्शन होता है, और इसका कारण होता है महिला के गर्भाशय का आकार बढ़ना, जिसके कारण आपको और महिला को यूरिन रुक रुक कर आता है, और महिला के यूरिन आने वाले भाग का मार्ग आंशिक रूप से बंद हो जाता है, इसीलिए महिला को बार बार यूरिन आने लगता है,

इसके अलावा प्रेगनेंसी के दौरान जब डिम्ब और शुक्राणु मिलते है, तो एक अंडा निषेचित होता है जो अपने आप  को गर्भाशय की दीवार पर प्रत्यारोपित करता है, जिसके कारण एक प्रेगनेंसी हॉर्मोन एच सी जी (ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन) स्त्रावित होता है। और यह हार्मोन शरीर में और योनि में रक्त का प्रवाह बढ़ाने के लिए ज़िम्मेदार होता है। योनि में रक्त का प्रवाह बढ़ने से मूत्राशय अधिक सक्रिय हो जाता है। जिसके कारण महिला को बार बार मूत्र त्याग करने की इच्छा होती है। तो आइये अब विस्तार से जानते है महिला को बार बार यूरिन आने के कारण और इसके उपचार क्या है।

महिला को प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने के कारण:-

  • जो महिला गर्भावस्था में पानी का कम सेवन करती है उनके साथ ये समस्या ज्यादा होती है।
  • प्रेगनेंसी में महिला के गर्भाशय का आकार दिन प्रतिदिन बढ़ता है, जिसके कारण महिला के यूरिन आने का मार्ग आंशिक रूप से बंद हो जाता है, जिसके कारण आपको और महिला को यूरिन रुक रुक कर आता है।
  • यूरिनरी इन्फेक्शन होने के कारण भी आपको बार बार पेशाब आने लगता है, क्योंकि आपकी योनि में हानिकारक जीवाणुओ का संक्रमण होने के कारण आपको यूरिनरी इन्फेक्शन हो जाता है।
  • यूरिनरी इन्फेक्शन के होने पर जब आप बार बार यूरिन पास करने पर अपनी योनि के बार बार धोते है, इसके कारण भी आपको बार बार पेशाब आता है।

प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने की समस्या से बचने के उपाय:-

अनार के छिलको का उपयोग करें:-

अनार के छिलको का उपयोग करने से आपको प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने की समस्या से राहत मिल सकती है, इसके लिए आप सबसे पहले अनार के छिलको को अच्छे से सूखा लें, और उसके बाद इसे पाउडर के रूप में तैयार करें, और अब इस पाउडर को एक चम्मच एक गिलास पानी के साथ लें, इसे लेने से आपको यूरिनरी इन्फेक्शन की समस्या से राहत मिलती है, और साथ ही बार बार यूरिन आने की समस्या से भी निजात मिल जाता है।

गुड़ और चने का सेवन करें:-

प्रेगनेंसी में महिला को यदि बार बार यूरिन आने की समस्या होती है, तो इससे बचने के लिए महिला को थोड़े से भुने हुए चने लेकर उसका सेवन गुड़ के साथ करना चाहिए, ऐसा करने से आपको प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने की समस्या से राहत मिलती है, और भुने हुए चने खाने से आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है।

छुआरे का सेवन करें:-

यदि महिला को प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने का कारण यूरिनरी इन्फेक्शन होता है, तो इससे बचने के लिए आपको छुआरे का सेवन करके ऊपर से दूध पी लेना चाहिए, ऐसा करने से आपको यूरिनरी इन्फेक्शन से राहत मिलती है, और साथ ही बार बार यूरिन आने की समस्या से भी निजात मिलता है।

केले का इस्तेमाल करें:-

प्रेगनेंसी में केले के साथ बिदारीकंद का चूर्ण और शताबरी के चूर्ण का इस्तेमाल करने से आपको बार बार यूरिन आने की समस्या से राहत मिलती है, इससे निजात पाने के लिए आप दो केले लें, और उसमे दो दो ग्राम बिदारीकंद और शताबरी के चूर्ण को मिक्स करें, और अब इसे दूध के साथ लें, ऐसा करने से आपको बार बार यूरिन आने की समस्या से निजात मिल जायेगा, और यदि आपको यूरिनरी इन्फेक्शन है, तो उससे भी राहत मिलेगी।

पानी का भरपूर सेवन करें:-

प्रेगनेंसी में महिला को पानी का सेवन भरपूर मात्रा में करना चाहिए, क्योंकि कम पानी पीने के कारण महिला को ये समस्या हो जाती है, साथ ही महिला को ताजे फलो के रस , स्वस्थ व् पोस्टिक आहार का सेवन करना चाहिए फलो में तरबूज आदि का सेवन करना चाहिए, ऐसा करने से महिला को यूरिनरी इन्फेक्शन से राहत मिलती है, जिसके कारण बार बार यूरिन आने की समस्या दूर होती है, हो सकें तो रात को सोते समय पानी का सेवन कम करें।

यूरिन न रोकें:-

इसके अलावा महिला को जब भी यूरिन आता है, तो महिला को रोकना नहीं चाहिए बल्कि अपने ब्लैडर को खली करना चाहिए, यदि महिला यूरिन को रोकती है, तो भी ये समस्या हो जाती है।

अपने डॉक्टर से राय लें:-

प्रेगनेंसी का समय किसी भी महिला को थोड़ी सी भी लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए, यदि आपको ऐसा लगे की आपको ज्यादा दिन रात ये समस्या बढ़ रही है, तो आपको समय रहते डॉक्टर को बताना चाहिए, क्योंकि इन्फेक्शन ज्यादा होने के कारण गर्भ में पाक रहे शिशु या होने वाली माँ के स्वास्थ्य को किसी भी तरह की कोई हानि नहीं होनी चाहिए।

तो ये कुछ तरीके है जिनका इस्तेमाल करके आप प्रेगनेंसी में महिला को बार बार यूरिन आने के कारण होने वाली समस्या से राहत पा सकते है, और अगर आप चाहे तो इसके लिए अपने डॉक्टर से भी परामर्श ले सकती है, परंतु महिला को केवल इसी परेशानी को ही नहीं, बल्कि किसी भी समस्या को प्रेगनेंसी में अनदेखा नहीं करना चाहिए, क्योंकि स्वस्थ माँ के गर्भ में ही स्वस्थ शिशु निवास करता है।