डिलीवरी के बाद स्तनों में दूध आने में कितना समय लगता है

डिलीवरी के बाद स्तनों में दूध उतरने में कितना समय लगता है, पहली बार माँ बन रही महिलाओं के मन में शिशु के जन्म के बाद दूध कब बनेगा इसे लेकर सवाल आ सकता है। और इस सवाल का जवाब देने के लिए ही आज हम इस आर्टिकल में आपसे चर्चा करने जा रहे हैं। गर्भधारण के बाद जैसे ही शरीर में हार्मोनल बदलाव शुरू होते हैं। वैसे ही ब्रेस्ट में भी दुग्ध उत्पादन ग्रंथिया अपना काम करना शुरू कर देती हैं। यानी की शिशु के जन्म से पहले ही दूध बनने की प्रक्रिया स्तनों में शुरू हो जाती हैं। तो आइये अब स्तन में दूध बनने की प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानते हैं।

स्तन में दूध कैसे बनता है

महिला के गर्भधारण के बाद से ही ब्रेस्ट में दूध बनने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। और ब्रेस्ट में दूध का उत्पादन बढ़ाने का काम प्रोलैक्टिन हॉर्मोन करता है। जिसका स्तर पूरी प्रेगनेंसी के दौरान बढ़ता जाता है। ताकि शिशु के जन्म के बाद शिशु के बेहतर विकास के लिए शिशु को माँ के दूध से पर्याप्त पोषण मिल सके।

डिलीवरी के बाद स्तनों में दूध कब आना शुरू होता है

शिशु के जन्म के तुरंत बाद ही माँ का दूध शिशु को पिलाया जाता है। यह दूध गाढ़ा पीला हो सकता है इसे कोलेस्ट्रम कहा जाता है। और माँ का यह गाढ़ा पीला दूध शिशु के लिए बहुत फायदेमंद होता है। उसके बाद जैसे जैसे शिशु स्तनपान करने लगता है। अच्छे से स्तन को मुँह में लेकर निप्पल को चूसने की कोशिश करता है।

वैसे वैसे दूध का उत्पादन बढ़ने के साथ शिशु को पर्याप्त मात्रा में पोषण भी मिलने लगता है। शुरुआत में शिशु के दूध पीने पर महिला को ब्रेस्ट में दर्द महसूस हो सकता है लेकिन धीरे धीरे यह ठीक हो जाता है। और डिलीवरी के बाद ब्रेस्ट में दूध सही आने में दो से चार दिन का समय लग सकता है। लेकिन शिशु के जन्म के तुरंत बाद ही स्तन में दूध आने लगता है।

क्या प्रेगनेंसी से पहले भी स्तन में दूध आ सकता है?

जी हाँ, प्रेगनेंसी के दौरान कई बार महिला को स्तन में गाढ़ा पीला द्रव रिसता हुआ महसूस हो सकता है। और इसे लेकर महिला को घबराना नहीं चाहिए। क्योंकि यह कोलेस्ट्रम हो सकता है। और शिशु के जन्म के बाद शिशु यदि कोलेस्ट्रम को पीता है तो यह शिशु के विकास के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

डिलीवरी के बाद स्तनों में दूध देरी से आने या न आने के कारण

  • प्रेगनेंसी के दौरान महिला का अधिक तनाव में रहना।
  • यदि किसी कारण समय से पहले सिजेरियन डिलीवरी करवानी पड़ती है तो इसके कारण स्तन में दूध उतरने में दो से चार दिन का समय लग सकता है।
  • यदि गर्भवती महिला प्रेगनेंसी के दौरान या वैसे भी शुगर से जुडी समस्या का सामना कर रही होती है तो भी महिला के स्तन में दूध आने में देरी हो सकती है।

तो यह है शिशु के जन्म के बाद स्तन में दूध कब उतरता है उससे जुडी कुछ बातें। इसके अलावा यदि आप डिलीवरी के बाद कम दूध उतने की वजह से परेशान है तो आपको मेथी दाना, लहसुन, जीरा, सौंफ, डेयरी प्रोडक्ट्स आदि को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए। ताकि स्तन में दूध के उत्पादन को बढ़ाने में मदद मिल सके।