Ultimate magazine theme for WordPress.

जल्दी प्रेग्नेंट होने के बेहतरीन तरीके

0

प्रेगनेंसी

प्रेगनेंसी हर महिला की जिंदगी का सबसे खास और प्यारा अनुभव होता है, और हर महिला अपनी जिंदगी में माँ बनने का अनुभव जरूर लेना चाहती है। माँ बनना शादी के बाद महिला की एक नई जिंदगी की शुरुआत की तरह होता है। माँ बनना पूरी तरह से महिला के मासिक धर्म चक्र पर निर्भर करता है, क्योंकि मासिक धर्म के बाद आने वाले ओवुलेशन पीरियड में सम्बन्ध बनाने महिला के गर्भ ठहरने के चांस बढ़ जाते हैं। हर महिला के ओवुलेशन का समय अलग अलग हो सकता है, पीरियड्स जिस दिन शुरू होता है उससे ग्याहरवें से चौहदवें दिन तक होता है। लेकिन इसका बिल्कुल सही समय जानना थोड़ा मुश्किल होता है इसीलिए जो कपल प्रेगनेंसी के लिए सोचते हैं उन्हें डॉक्टर्स के अनुसार सातवें दिन से लेकर बीसवें दिन तक बेहतर तरीके से सम्बन्ध बनाने की सलाह दी जाती है। ताकि महिला का गर्भ ठहर सकें, इसके अलावा प्रेगनेंसी के लिए और भी बहुत सी बातें ध्यान रखनी चाहिए।

जल्दी गर्भधारण के आसान तरीके

यदि कोई महिला गर्भधारण करना चाहती है तो उसके लिए महिला को कुछ खास टिप्स का ध्यान रखना चाहिए। ताकि गर्भवती महिला को आसान से प्रेगनेंसी होने में मदद मिल सके, तो आइये अब विस्तार से जानते हैं की जल्दी गर्भाधारण के लिए किन किन बातों एक ध्यान रखना जरुरी होता है।

डॉक्टरी जांच

गर्भधारण के लिए महिला और पुरुष दोनों को अपनी सभी जरुरी जांच करवानी चाहिए, क्योंकि यदि महिला या पुरुष में कोई कमी हो या कोई शारीरिक समस्या होती है। तो उसका पहले ही अच्छे से इलाज़ हो जाता है ताकि महिला के गर्भधारण में आसानी हो सके और प्रेगनेंसी के दौरान आने वाली किसी शारीरिक परेशानी की समस्या न हो।

तनाव

तनाव महिला की प्रेगनेंसी में आने वाली एक बड़ी समस्या है, साथ ही यदि गर्भवती महिला तनाव लेती है तो यह गर्भपात, समय पूर्व प्रसव, शिशु के विकास में कमी जैसी समस्या भी खड़ी कर सकती है। ऐसे में यदि महिला गर्भधारण करना चाहती है तो महिला को तनाव से दूरी रखनी चाहिए और खुश रहने की कोशिश करनी चाहिए ताकि महिला के गर्भधारण में किसी भी तरह की समस्या न आये।

वजन

वजन का जरुरत से कम होना या अधिक होना भी महिला के गर्भधारण में समस्या खड़ी कर सकता है, क्योंकि इसके कारण मासिक धर्म से जुडी परेशानी, प्रजनन क्षमता में कमी, कोई शारीरिक समस्या जैसी परेशानियां हो सकती है। ऐसे में जल्दी गर्भधारण के लिए महिला को अपना वजन संतुलित रखना चाहिए, न तो महिला का वजन जरुरत से ज्यादा होना चाहिए और न ही कम ताकि महिला को जल्दी प्रेग्नेंट होने में मदद मिल सके।

गर्भनिरोधक दवाइयां

यदि आप जल्दी गर्भधारण करना चाहती है तो किसी भी गर्भनिरोधक गोली का सेवन नहीं करना चाहिए, इसके अलावा एंटीबायोटिक दवाइयों का सेवन करने से भी बचना चाहिए, क्योंकि इन दवाइयों के कारण महिला का गर्भ ठहरने में समस्या हो सकती है।

बेहतर दिनचर्या

अच्छी दिनचर्या का होना आपके स्वास्थ्य को प्रभावित करता है, यदि महिला की दिनचर्या बेहतर होती है तो इससे महिला को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है। बेहतर दिनचर्या में सोने, उठने का समय, व्यायाम करने का समय, आपके खान पान का समय, दिनभर में पानी पीना आदि सब शामिल होता है जो महिला को न केवल शारीरिक रूप से बल्कि मानसिक रूप से भी स्वस्थ रखने में मदद करता है, और महिला को गर्भधारण में आने वाली समस्या को दूर करने के लिए बेहतर होता है, जिससे जल्दी प्रेग्नेंट होने के चांस बढ़ते हैं।

खान पान

पोषक तत्वों से भरपूर आहार, संतुलित भोजन का सेवन, सभी जरुरी विटामिन्स और मिनरल्स का सेवन करने से महिला को शारीरिक रूप से फिट रहने में मदद मिलती है। जो की महिला के गर्भधारण के लिए बहुत जरुरी होता है। इसीलिए महिला यदि जल्दी प्रेग्नेंट होना चाहती है तो महिला को अपने खान पान का बेहतर तरीके से ध्यान रखना चाहिए।

व्यायाम

व्यायाम करने से बॉडी को फिट रहने में मदद मिलती है, लेकिन यदि आप गर्भधारण करना चाहती है तो आपको अधिक शारीरिक श्रम करने से बचना चाहिए, क्योंकि इसके कारण प्रजनन से जुडी समस्या हो सकती है, जिसके कारण महिला को गर्भधारण से जुडी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

बेहतर नींद

दिन में आठ घंटे की नींद लेना बहुत जरुरी होता है, क्योंकि इससे बॉडी में हार्मोनल बैलेंस को बनाएं रखने में मदद मिलती है साथ ही महिला को मानसिक रूप से भी फ्रैश होने में मदद मिलती है। ऐसे में यदि आप भी प्रेग्नेंट होना चाहती है तो आपको अपनी नींद का भी बेहतर तरीके से ध्यान रखना चाहिए।

मीठी चीजें

जल्दी गर्भधारण के लिए महिला और पुरुष दोनों को ही अपनी डाइट में मीठी चीजों का सेवन कम करना चाहिए। क्योंकि मीठी चीजों का अधिक सेवन करने से प्रजनन क्षमता प्रभावित हो सकती है।

कैफीन

कैफीन युक्त पदार्थ जैसे की चाय, कॉफ़ी का सेवन भी गर्भधारण करने वाली महिला को कम से कम करना चाहिए, क्योंकि कैफीन का अधिक सेवन करने से महिला के गर्भधारण में समस्या आ सकती है।

नशा

अल्कोहल, धूम्रपान आदि किसी भी तरह का नशा गर्भधारण करने वाली महिला के साथ पुरुष को भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसके कारण न केवल प्रजनन क्षमता में कमी आती है बल्कि शुक्राणुओं की संख्या में भी कमी आ सकती है जिसके कारण महिला को गर्भधारण में आने वाली परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

सही उम्र

गर्भधारण के लिए सही उम्र का होना भी बहुत जरुरी है क्योंकि यदि उम्र अधिक होती है तो इसके कारण गर्भधारण में समस्या आने के साथ प्रेगनेंसी में भी कॉम्प्लीकेशन्स आने के चांस बढ़ सकते हैं। जिसके कारण महिला को को परेशानी हो सकती है, और डॉक्टर्स के अनुसार तेईस से सताइस साल तक की उम्र माँ बनने के लिए बिल्कुल सही होती है।

मानसिक रूप से तैयार

गर्भधारण के लिए कई बार महिलाएं शारीरिक रूप से तो तैयार हो जाती है लेकिन मानसिक रूप से तैयार नहीं होती है। जिसके कारण महिला को गर्भावस्था के दौरान तरह तरह की समस्या होने के साथ गर्भधारण में भी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है ऐसे में महिला को गर्भधारण के लिए मानसिक रूप से भी तैयार होना पड़ता है क्योंकि शिशु के जन्म के बाद महिला की जिम्मेवारी और भी बढ़ जाती है।

सम्बन्ध बनाते समय ध्यान रखें

गर्भधारण के लिए सबसे अहम होता है महिला और पुरुष का सम्बन्ध बनाना, क्योंकि सम्बन्ध बनाने के बाद ही पुरुष के शुक्राणु महिला के अंडे से मिलकर निषेचन की क्रिया करते है जिससे महिला का गर्भ ठहरता है। ऐसे में महिला को सम्बन्ध बनाते समय बहुत सी बातों का ध्यान रखना चाहिए जिससे महिला को जल्दी प्रेग्नेंट होने में मदद मिल सके।

  • केवल एक बार सम्बन्ध बनाने से महिला का गर्भ नहीं ठहरता है बल्कि इसके लिए महिला को रोजाना अपने पार्टनर के साथ सम्बन्ध बनाना चाहिए, खासकर ओवुलेशन पीरियड के दौरान तो जरूर बनाना चाहिए।
  • सम्बन्ध बनाते समय महिला को किसी भी तरह का तनाव नहीं लेना चाहिए, क्योंकि इसके कारण गर्भ ठहरने में दिक्कत आ सकती है।
  • महिला और पुरुष को सम्बन्ध बनाते समय सही पोजीशन का ध्यान रखना भी जरुरी होता है, ताकि महिला के अंडे के साथ पुरुष के शुक्राणु का अच्छे से मिलन हो सके।
  • किसी भी तरह की सुरक्षा या ल्युब्रिकेंट का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।
  • प्रेग्नेंट होने के लिए महिला को जितना हो सके सुबह सम्बन्ध बनाना चाहिए क्योंकि इस दौरान बॉडी के रिलैक्स होने के साथ आप मानसिक रूप से भी फ्रैश होते हैं जिससे बेहतर सम्बन्ध बनने के चांस बढ़ते हैं जो की जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए बहुत जरुरी होता है।

तो यह हैं कुछ बातें जिनका ध्यान महिला को जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए रखना चाहिए। यदि महिला ऊपर दिए गए टिप्स का अच्छे से ध्यान रखती है तो महिला को जल्दी गर्भवती होने में मदद मिलती है, साथ ही यदि कोई परेशानी है या कोई शारीरिक समस्या है तो उसका समय से इलाज़ करवाना चाहिए।