कान में खुजली होने के कारण और उपाय!

कान में खुजली के उपाय, कान खुजलाने के उपाय, कान में खुजली क्यों होती है, Kaan me khujli hone ke upay, Kan me khujli ke karan, Kan me dard aur khujli

0

Itchy Ear (Ear itiching) : हमारे काम बहुत संवेदनशील और नाजुक होते है इनमे जरा सी समस्या होने पर व्यक्ति को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कान में खुजली होना भी इन्ही समस्यायों में से एक है। जिसके कारण काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। कभी-कभी कानों में बहुत तेज खुजली होने लगती है। आपने भी बहुत से लोगों को कान में उंगली डालकर खुजली करते हुए देखा होगा। क्योंकि ऐसा करने से काफी आराम मिलता है।

लेकिन कई बार ज्यादा खुजली होना भी परेशानी का कारण बन जाता है। परंतु क्या आप जानते है की आख़िरकार कान में खुजली होती क्यों है? और उसके क्या कारण है? शायद नहीं क्योंकि सभी इसे केवल मामूली खुजली समझते है जबकि कई बार यह खुजली किसी बड़ी परेशानी का संकेत बन जाती है। इसीलिए आज हम आपको कान में खुजली होने के कारण और कुछ उपाय बता रहे है जिनकी मदद से इस समस्या को हमेशा के लिए खत्म किया जा सकता है।

कान में खुजली होने के कारण (Causes of Itchy Ears) :-

त्वचा का रूखापन :

कान में खुजली होने की सबसे बड़ी वजह वहां की त्वचा में मौजूद रूखापन और खुस्की होती है। क्योंकि जब कान में मौजूद ग्रंथियां सही तरीके से कार्य नहीं करती और पर्याप्त तेल का उत्पादन नहीं करती तो स्किन रुखी हो जाती है जिसके कारण उसमे खुजली होने लगती है।

कान की देख-रेख में कमी :

कान की सही तरीके और समय पर साफ़ सफाई नहीं करने के कारण होने वाला वैक्स और डैंड्रफ भी खुजली होने का एक कारण हो सकता है। क्योंकि इसकी वजह से स्किन में फंगल इंफेक्शन, मिडिल इयर इंफेक्शन आदि भी हो सकता है।

विशेष संक्रमण :

कान में होने वाले विशेष संक्रमण के कारण भी कान में दर्द और खुजली होती है। क्योंकि इस तरह के संक्रमण में सूजन भी आती है जिसकी वजह से कई बार स्किन में काफी तेज खुजली भी होने लगती है।

पानी या सुनने के लिए प्रयोग किये जाने उपकरण :

कई बार कान में फंसा हुआ पानी या सुनने के लिए प्रयोग किये जाने वाले उपकरणों का अधिक प्रयोग से भी कान में खुजली होने लगती है।

सोरायसिस :

यह एक तरह की त्वचा संबंधी समस्या है जिसमें त्वचा पर लाल धब्बे हो जाते है। वैसे तो यह अधिकतर खुली त्वचा पर होते है लेकिन कई बार यह शरीर के विशेष भागो में भी हो जाती है जैसे बाह या कान के अंदर।

साबुन के झाग :

कई बार नहाते समय साबुन या शैम्पू के झाग कान के भीतर चले जाते है और अन्दर जमा हो जाते है जिसके कारण कान में खुजली होती है। इसलिए इस बात का भी विशेष ध्यान रखे की नहाने के बाद कानों को अच्छे से साफ़ करें जिससे साबुन या शैम्पू कान में नहीं रहे।

कान में खुजली होने के उपाय :-

कान की त्वचा में परेशानी होने और संक्रमण होने के कारण खुजली की समस्या होने लगती है। जिनका मुख्य कारण – Ear Wax, कान में पानी चला जाना और कान में मौजूद बाहरी गंदगी के कण होते है। ऐसे में अगर आप इस खुजली से बचना चाहते है तो आपको ऐसे प्रोडक्ट्स का यूज बंद करना होगा जो किसी भी रूप में स्किन में जलन उत्पन्न कर सकता है। जैसे की कानों में पहनी जाने वाली बालियां या अन्य ब्यूटी और स्किन केयर प्रोडक्ट्स।

इसके अलावा कानों के लिए किसी भी ड्राप या दवा का इस्तेमाल करने से पूर्व पहले डॉक्टर से अवश्य पूछ लें। क्योंकि बहुत सी दवाएं भी कान में होने वाली खुजली का कारण होती है। यदि आपके किसी कान में कोई परेशानी है तो उस स्थिति में तब तक मलहम या ड्रॉप्स का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, जब तक डॉक्टर सलाह न दे।

डॉक्टरी परामर्श के बाद निम्नलिखित दवाओं का इस्तेमाल किया जा सकता है :-

1. एंटी बायोटिक मलहम
2. बेबी आयल
3. स्टेरॉयड सामयिक मलहम, सूजन को कम करने में मदद करता है। (जैसे 1% हाइड्रोकर्टेसीन क्रीम या 0.1% बीटामाथासोन क्रीम)
4. तैराक के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले इयर ड्राप, एल्कोहोल, एसिटिक एसिड या हाइड्रोजन पेरोक्साइड के घुलनशील तरल का एक पतला सलूशन।

यदि आपके कान में खुजली के साथ मवाद या रक्त भी निकल रहा है तो इस स्थिति में डॉक्टरी सलाह लेकर एंटी बायोटिक दवाओं का सेवन करें।

कान में खुजली के घरेलू उपाय :

इसके लिए सरसों तेल को अच्छे से गर्म कर लें। इससे सरसों तेल में मौजूद अवगुण और केमिकल जल जाएंगे। उसके बाद तेल को ठंडा होने दें और ऊँगली से चेक कर लें की आप उतना गर्म सह सकते है या नहीं? बहुत हल्का गर्म तेल अपने कानों में डाल लें। और दुसरे दिन इयरबड से कान की अच्छे से सफाई कर लें। कान के अन्दर जमा हुआ मैल बाहर निकलना शुरू हो जाएगा और आपका कान साफ हो जाएगा।

कान की खुजली को कैसे रोकें?

शायद आप नहीं जानते लेकिन आपके द्वारा अपनाई जाने वाली कान साफ़ करने की तकनीक भी कान में खुजली का कारण होती है। अगर आप इस खुजली से बचना चाहते है तो उसके लिए निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें –

माचिस की तीली, पेपर क्लिप्स, बालों की पिन, रुई के गोले, चाबी, शार्प नेल्स, रुई लगी हुई टूथपिक आदि को कभी भी कान साफ़ करने के लिए इस्तेमाल नहीं करें। ऐसा करने से इयर ड्रम और इयर कैन को नुकसान हो सकता है।

तो ये थे, कान में खुजली होने के कारण और उपाय जिनकी मदद से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। लेकिन ध्यान रहे गंभीर स्थिति होने पर डॉक्टर से ही जाँच कराएं। खुद किसी भी ट्रीटमेंट का इस्तेमाल करने से बचें। क्योंकि हो सकता है आप जिस दवा का इस्तेमाल करें वो आपकी समस्या के लिए उपयुक्त न हो।

[Total: 6    Average: 3.3/5]