Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

महिलाओ में फर्टिलिटी बढ़ाने के तरीके

0

बदलती जीवनशैली का बुरा प्रभाव आपकी सेहत पर पड़ने के साथ आपकी प्रजनन क्षमता पर भी पड़ता है, प्रजनन क्षमता का मतलब होता है प्राकृतिक रूप से गर्भधारण करना लेकिन यदि प्रजनन क्षमता कमजोर हो जाती है, तो इसके कारण महिला को प्रेग्नेंट होने में बहुत समस्या का सामना करना पड़ता है, और प्रजनन क्षमता कमजोर होने के कारण अंडकोष में ज्यादा अंडे नहीं बनते है, प्रजनन क्षमता के कमजोर होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे की यदि आप अधिक पतली है, हमेशा लैपटॉप को अपनी गोद में रखकर काम करती हैं, अपने शरीर को आराम नहीं देती है, किसी शारीरिक समस्या के कारण, अधिक धूम्रपान और शराब का सेवन करने के कारण, आदि ये सब कुछ ऐसे कारण हैं जो आपकी प्रजनन क्षमता को कमजोर करते हैं लेकिन आप कुछ खाद्य पदार्थो का सेवन करके और कुछ अन्य तरीको का इस्तेमाल करके अपनी प्रजनन क्षमता को बढ़ा सकते हैं।

इन्हें भी पढ़ें:- महिलाओ में इनफर्टिलिटी ( बांझपन ) के मुख्य कारण

प्रजनन क्षमता के कमजोर होने के कारण:-

  • अधिक वजन और कम वजन दोनों ही आपकी प्रजनन क्षमता पर बुरा असर डालते हैं।
  • कार्बोहाइड्रेट का अधिक सेवन भी आपकी प्रजनन क्षमता पर बुरा असर डालता है, क्योंकि अधिक कार्बोहाइड्रेट रक्त शर्करा को तुरंत बढ़ाते हैं जिससे इन्सुलिन बढ़ जाता है।
  • जो महिलाएं ड्रग्स या अन्य नशीले पदार्थो का सेवन अधिक मात्रा में करती है, उन्हें भी यह समस्या हो सकती है।
  • शारीरिक सम्बन्ध कम बनाने के कारण भी आपकी क्षमता पर असर पड़ता है।
  • शरीर में होने वाली पोषक तत्वों की कमी भी आपके प्रजनन पर बुरा असर डालती है।
  • अधिक पेन किलर्स का सेवन भी आपकी प्रजनन क्षमता को कम करता है।
  • कैफीन का सेवन भी अधिक मात्रा में करने से आपकी प्रजनन क्षमता पर बुरा असर पड़ता है।
  • ऐसा भी एक शोध में सामने आया है जो महिलाएं अधिक रौशनी में सोती हैं उनकी प्रजनन क्षमता पर भी प्रभाव पड़ता है।

प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के उपाय:-

दूध से बने उत्पाद का सेवन अधिक मात्रा में करें:-

पूर्ण वसायुक्त आहार जो महिलाएं दिन मे एक बार लेती हैं, उनके बांझपन का खतरा एक चौथाई घट जाता है, और इसके सेवन से अंडाशय को बेहतर तरीके से काम करने में मदद मिलती है, साथ ही इससे आपकी प्रजनन क्षमता भी बेहतर होती है, इसीलिए महिलाओ को इसका सेवन जरूर करना चाहिए।

मल्टीविटामिन लें:-

शरीर में होने वाली पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए महिलाओ को मल्टीविटामिन लेना चाहिए, फोलिक एसिड, विटामिन 12 और सेलेनियम, अन्य पोषक तत्व युक्त मल्टीविटामिन का सेवन करने से भी आपकी प्रजनन क्षमता बेहतर होती है।

नशीले पदार्थो का सेवन न करें:-

अधिक नशीले पदार्थो का सेवन करने से भी आपकी प्रजनन क्षमता पर बुरा असर डालता है क्योंकि इससे अंडाशय में अंडे कम बनते हैं, साथ ही अल्कोहल का अत्याधिक सेवन करने से अण्डोत्सर्ग खराब होता है, और ड्रग्स भी महिलाओ को नहीं लेने चाहिए इससे महिला को बांझपन की समस्या भी हो जाती है।

शरीर को आराम दें:-

अत्यधिक तनाव, और शरीर को आराम न देने के कारण भी महिलाओ की प्रजनन क्षमता पर असर पड़ता है, कई बार महिलाओ को ऐसा लगता है की उनका गर्भधारण क्यों नहीं हो रहा है, इसका कारण होता है आपके शरीर का अधिक श्रम करना, यदि आप अपनी प्रजनन क्षमता को बेहतर बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने शरीर को अपने श्रम के अनुसार आराम भी देना चाहिए।

शरीर को ठंडा रखें:-

यदि आप अधिक देर तक अपनी गोद में लैपटॉप को रखकर काम करती है, अधिक गरम पानी का नहाने के लिए इस्तेमाल करती हैं, तो इससे आपके शुक्राणुओं पर असर पड़ता है, जबकि ठन्डे पानी से नहाने के कारण आपके शुक्राणुओं में पांच गुना बढ़ोतरी होती है, इसीलिए ऐसा करने से बचें, नहीं तो आपको गर्भधारण में आने वाली परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

इन्हें भी पढ़ें:- बढ़ती उम्र में गर्भधारण करने में आने वाली परेशानियों के कारण

वजन को नियंत्रित रखें:-

अधिक बढ़ा हुआ वजन और कम वजन दोनों ही आपकी प्रजनन क्षमता पर बुरा असर डालते हैं, क्योंकि अधिक वजन आपके अण्डोत्सर्ग के चक्र को भ्रमित कर सकता है, और कम वजन के कारण अण्डों के उत्पादन की क्षमता बंद हो सकती है, इसीलिए बेहतर प्रजनन क्षमता के लिए अपने वजन को नियंत्रित रखना चाहिए।

विटामिन डी लें:-

बेहतर प्रजनन क्षमता के लिए शरीर में विटामिन डी की मात्रा का उपयुक्त होना भी बहुत जरुरी होता है, इसके लिए महिलाओ को ऐसे आहार का सेवन करना चाहिए जिसमे विटामिन डी भरपूर होता है, इसके अलावा हलकी धूप में महिलाओ को सेकनी चाहिए, क्योंकि सूर्य की किरणों से आपको भरपूर मात्रा में विटामिन डी मिलता है, जो की प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में आपकी मदद करता है।

शारीरिक सम्बन्ध बेहतर बनाएं:-

शारीरिक सम्बन्धो में आने वाली कमी भी आपकी प्रजनन क्षमता पर बुरा असर डालती है क्योंकि सेक्स करने से आपके शुक्राणुओं को अंडाशय को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है, साथ ही इससे आपके गर्भधारण के चांस भी बढ़ते है, और एक बार सेक्स करने के बाद इसकी गुणवत्ता तीन दिनों तक रहती है लेकिन यदि आप शारीरिक सम्बन्ध बनाने में समय लगाते हैं, तो धीरे धीरे इसकी गुणवत्ता कम होने लगती है जिसका असर आपकी प्रजनन क्षमता पर भी पड़ता है।

पानी का भरपूर सेवन करें:-

पानी का भरपूर सेवन न करना भी आपकी प्रजनन क्षमता पर बुरा असर डालता है क्योंकि पानी फूले हुए अंड कूप बनाता है जो की गर्भाशय की दीवार को मजबूती से रक्त आपूर्ति करने में मदद करता है, इसके अलावा यदि आप कम पानी का सेवन क्र रहे हैं तो गर्भाशय का द्रव जो शुक्राणु को अंडा ढूँढने में मदद करता है, वह अक्रियाशील हो जाता है, जिससे आपको गर्भधारण में परेशानी होती है, इसीलिए प्रजनन क्षमता को बेहतर बनाने के साथ अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए भी आपको पानी का भरपूर सेवन करना चाहिए।

प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए खाद्य पदार्थ:-

  • एंटी ऑक्सीडेंट्स, आयरन, फोलिक एसिड से भरपूर हरी सब्जियों को अपने आहार में शामिल करने से आपकी प्रजनन क्षमता को बेहतर बनाने में मदद मिलती है।
  • विटामिन सी युक्त पदार्थ जैसे स्ट्रॉबेरी, संतरा, कीवी, ब्लूबेरी का सेवन करने से भी महिलाओ को फायदा मिलता है।
  • बादाम, अखरोट आदि का भी भरपूर सेवन करें।
  • दूध व् अन्य डेरी प्रोडक्ट्स का सेवन भरपूर मात्रा में करने से भी महिलाओ की प्रजनन क्षमता को बेहतर बनाने में मदद मिलती है।
  • ब्रोकली का सेवन भरपूर मात्रा में करने से भी लाभ मिलता है।
  • सालमन मछली व् अन्य सी फ़ूड खाने से भी प्रजनन क्षमता को बेहतर बनाने में मदद मिलती है।
  • विटामिन सी, विटामिन के, फोलिक एसिड व जरूरी मिनरल्स युक्त अनार जैसे फल का सेवन भी फर्टिलिटी को बढ़ाने में सहायक होता है।
  • अंडा प्रोटीन और फोलेट का अच्छा स्रोत होने के कारण महिलाओ की प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है, साथ ही यह प्रेगनेंसी के दौरान भी फायदेमंद होता है।
  • एवोकाडो, नाशपाती, चुकंदर आदि में भी ऐसे पोषक तत्व होते है जो महिलाओ में फर्टिलिटी को बढ़ाने में मदद करते हैं।

तो ये हैं कुछ तरीके जिनका इस्तेमाल करके महिलाएं अपनी प्रजनन क्षमता को बढ़ा सकती है, साथ ही इससे आपके गर्भधारण के चांस बढ़ जाते है, और आपको स्वस्थ रहने में भी मदद मिलती है, साथ ही आपको नशे से भी दूर रहना चाहिए, कैफीन का भी अधिक सेवन नहीं करना चाहिए।

इन्हें भी पढ़ें:- फैलोपियन ट्यूब के बंद होने के क्या कारण होते हैं?

Leave a comment