प्रेगनेंसी में खाना नहीं पचना और एसिडिटी होने के कारण और उपाय

प्रेगनेंसी के पूरे नौ महीने महिला की जिंदगी का सबसे बेहतरीन सफर होता है। क्योंकि इस दौरान महिला अपने गर्भ में एक नन्ही जान को रखती है, बच्चे से जुड़े हर अनुभव को महसूस करती है। लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है की इस अनोखे सफर को महिला बिना किसी परेशानी के तय कर लेती है।

बल्कि प्रेगनेंसी के दौरान महिला को बहुत सी शारीरिक परेशानियों का सामना करने के साथ मानसिक रूप से भी परेशानी का अनुभव कर सकती है। तो आइये आज इस आर्टिकल में हम आपको प्रेग्नेंट महिला को होने वाली एक परेशानी के बारे में ही बात करने जा रहे हैं। जिसका सामना अधिकतर प्रेग्नेंट महिलाएं करती है और वो है प्रेगनेंसी के दौरान खाना नहीं पचना और एसिडिटी होना।

गर्भावस्था में खाने नहीं पचने और एसिडिटी होने के कारण

  • बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव।
  • जरुरत से ज्यादा खाना।
  • गर्भाशय का आकार बढ़ने के कारण पाचन क्रिया के धीमे पड़ने के कारण।
  • खाने में ऐसी चीजों को शामिल करना जिन्हे पचाने में प्रेग्नेंट महिला को परेशानी हो और गैस बने।
  • ज्यादा मसालेदार व् तली हुई चीजों का सेवन करना।
  • खाना खाते ही सो जाना।
  • पानी का सेवन कम करना।

प्रेगनेंसी में खाना नहीं पचना और एसिडिटी की समस्या से बचने के उपाय

गर्भावस्था के दौरान यदि आपको खाने के अच्छे से न हज़म होने की परेशानी है और गैस की समस्या अधिक रहती है। तो कुछ आसान टिप्स का ध्यान रखकर आप इस परेशानी से निजात पा सकती है। तो आइये अब जानते हैं की वो बेहतरीन टिप्स कौन से हैं।

मसालेदार भोजन से बचें

प्रेग्नेंट महिला को एसिडिटी व् अपच की समस्या से बचने के लिए हल्का भोजन करना चाहिए। क्योंकि ज्यादा वसायुक्त व् मसालेदार भोजन का सेवन करने से गर्भवती महिला को खाने को हज़म होने में परेशानी होने के साथ एसिडिटी की समस्या होती है। और हल्के, ताजे व् कम मसाले वाले भोजन को पचाने में गर्भवती महिला को ज्यादा दिक्कत नहीं होती है।

थोड़ा थोड़ा करके खाएं

एक ही साथ पेट भर कर खाना खाने या जरुरत से ज्यादा खाना खाने के कारण भी आपको यह परेशानी हो सकती है। ऐसे में आपको इस समस्या से बचने के लिए थोड़ा थोड़ा करके खाना चाहिए, अच्छे से चबाकर खाना खाना चाहिए, बासी व् ठंडा खाना नहीं खाना चाहिए, आदि। यदि आप इन बातों का ध्यान रखती है तो आपको इन परेशानियों से बचें रहने में मदद मिलती है।

खाना खाते ही सोएं नहीं

यदि आप खाना खाते ही सो जाती है तो इसके कारण खाना अच्छे से हज़म नहीं होता है और आपको पेट में गैस बनने की समस्या हो जाती है। ऐसे में आपको खाना खाने के बाद तुरंत सोना नहीं चाहिए और थोड़ा घूमना चाहिए ताकि खाना अच्छे से हज़म हो सके। खासकर रात का खाना सोने से कम से कम दो घण्टे पहले खा लें।

कैफीन का सेवन कम करें

जिस तरह मसालेदार भोजन खाने से खाना हज़म करने में परेशानी होती है वैसे ही कैफीन का अधिक सेवन करने से भी प्रेग्नेंट महिला को यह दिक्कत होती है। ऐसे में इस परेशानी से बचने के लिए प्रेग्नेंट महिला को चाय कॉफ़ी व् अन्य कैफीन युक्त चीजों का सेवन अधिक करने से बचना चाहिए।

तरल पदार्थों का सेवन भरपूर करें

गर्भवती महिला के शरीर में पानी की कमी होने के कारण भी गर्भवती महिला को यह परेशानी हो सकती है। ऐसे में प्रेग्नेंट महिला को इस परेशानी से बचने के लिए पानी व् अन्य तरल पदार्थों जैसे की निम्बू पानी, नारियल पानी, आदि का भरपूर सेवन करना चाहिए।

दही

खाने को अच्छे से हज़म करने के साथ एसिडिटी जैसी परेशानी को दूर करने के लिए दही का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। क्योंकि दही में प्रोबायोटिक्स मौजूद होते हैं। और गर्भावस्था के दौरान दही का सेवन फायदेमंद भी होता है। ऐसे में गर्भवती महिला को इन परेशानियों से बचने के लिए दही का सेवन जरूर करना चाहिए।

विटामिन सी व् फाइबर से भरपूर फल

संतरा, आंवला, निम्बू जैसे सिट्रस फलों का सेवन भरपूर मात्रा में करने से गर्भवती महिला को इस परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है। ऐसे में गर्भवती महिला को इन फलों का सेवन जरूर करना चाहिए।

थोड़ा व्यायाम

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को थोड़ा बहुत व्यायाम भी जरूर करना चाहिए। क्योंकि व्यायाम करने से प्रेग्नेंट महिला के शरीर में सभी प्रक्रियाओं को बेहतर तरीके से काम करने में मदद मिलती है। और यदि गर्भवती महिला व्यायाम करती है तो ऐसा करने से पाचन क्रिया भी दुरुस्त रहती है। जिससे गर्भवती महिला को इन सभी परेशानियों से बचें रहने में मदद मिलती है।

तो यह हैं कुछ बेहतरीन टिप्स जिनका ध्यान रखकर प्रेग्नेंट महिला इस परेशानी से निजात पा सकती है। यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं और आपको भी यह परेशानी हो रही है तो इस परेशानी से बचने के लिए इन टिप्स को जरूर ट्राई करें आपको फायदा जरूर मिलेगा।