प्रेगनेंसी में चॉकलेट खाने के फायदे

चॉकलेट अधिकतर महिलाओं को पसंद होती है और गर्भावस्था के दौरान कई बार महिला को चॉकलेट खाने की बहुत इच्छा होती है। लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान चॉकलेट का सेवन करना चाहिए या नहीं इसे लेकर महिला के मन में सवाल जरूर आता है। तो लीजिये आज हम प्रेगनेंसी में चॉकलेट खानी चाहिए या नहीं? इसी सवाल का जवाब देने जा रहे हैं।

प्रेगनेंसी में चॉकलेट खाएं या नहीं?

पुराने समय में बुजुर्ग महिलाएं कहती थी की प्रेग्नेंट महिला का जो भी खाने का मन करता है उसे जरूर खाना चाहिए। क्योंकि यदि महिला अपने मन की इच्छा को मार लेती है तो होने वाले बच्चे की लार टपकती है। लेकिन कोई भी चीज सिर्फ स्वाद की पूर्ति के लिए ही खाना चाहिए। साथ ही चॉकलेट्स आजकल सभी को पसंद होती है ऐसे में गर्भवती महिला का यदि चॉकलेट खाने का मन करता है।

तो प्रेग्नेंट महिला को अपना मन मारने की बिल्कुल भी जरुरत नहीं है क्योंकि प्रेग्नेंट महिला चॉकलेट का सेवन कर सकती है। लेकिन चॉकलेट का सेवन करते समय इस बात का ध्यान रखें की जरुरत से ज्यादा चॉकलेट न खाएं। और यदि महिला इस बात का ध्यान रखती है तो चॉकलेट का सेवन करने से प्रेग्नेंट महिला को बहुत से स्वास्थ्य सम्बन्धी फायदे भी मिलते हैं। जैसे की:

ब्लड प्रैशर रहता है कण्ट्रोल

गर्भावस्था के दौरान चॉकलेट का सेवन करने से महिला को ब्लड प्रैशर से सम्बंधित परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है। जिससे माँ व् बच्चे दोनों को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है।

तनाव होता है दूर

प्रेग्नेंट महिला बॉडी में होने वाले बदलाव व् परेशानियों के कारण कई बार तनाव में आ जाती है। और तनाव में आने के कारण माँ व् बच्चे दोनों को परेशानी होती है। लेकिन चॉकलेट का सेवन करने से महिला को तनाव से बचे रहने में मदद मिलती है। सतह ही चॉकलेट खाने से महिला का मूड भी खुशनुमा रहता है।

इम्युनिटी बढ़ती है

चॉकलेट्स में फ्लेवनॉइड्स और एंटी ऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। जो गर्भावस्था के दौरान महिला की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करते हैं। जिससे प्रेगनेंसी के दौरान महिला व् बच्चे को संक्रमण व् बिमारियों से बचे रहने में मदद मिलती है।

गर्भपात का खतरा होता है कम

ऐसा माना जाता है की जो महिलाएं सिमित मात्रा में प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में चॉकलेट का सेवन करती है। उनके मिसकैरिज होने के चांस बेहतर कम होते हैं।

बच्चे का विकास होता है बेहतर

चॉकलेट गर्भ में पल रहे बच्चे के मानसिक विकास के लिए भी बेहतर होती है। इससे आपका बच्चा गर्भ में हैप्पी हैप्पी रहता है।

पोषक तत्वों से होती है भरपूर

चॉकलेट में विटामिन्स, प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, मैग्नीशियम व् अन्य पोषक तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। जो गर्भवती महिला व् बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होते हैं।

प्रेगनेंसी में चॉकलेट खाते समय इन बातों का ध्यान रखें

गर्भवती महिला चॉकलेट का सेवन कर सकती है लेकिन जरुरत से ज्यादा चॉकलेट का सेवन महिला को नहीं करना चाहिए। क्योंकि चॉकलेट मीठी होने के साथ कैफीन से भरपूर होती है। और जरुरत से ज्यादा कैफीन का सेवन माँ व् बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है। साथ ही चॉकलेट का अधिक सेवन करने से महिला की भूख में कमी आ सकती है जिससे महिला व् बच्चे दोनों को परेशानी हो सकती है।

तो यह है प्रेगनेंसी में चॉकलेट का सेवन करने के फायदे, इसीलिए आपका भी यदि प्रेगनेंसी में चॉकलेट खाने का मन करता है तो आप भी प्रेगनेंसी में चॉकलेट का सेवन कर सकती है। लेकिन ध्यान रखें की केवल स्वाद के लिए खाएं पेट भरने के लिए न खाएं।