Take a fresh look at your lifestyle.

घमौरियों से निजात पाने के उपाय!

0

गर्मियों में अधिकतर लोग घमौरियों की समस्या से परेशान रहते है। जिनमे जलन होने के साथ-साथ खुजली और चुभन भी होती है। ऐसे में इन्हें ठीक करने के लिए कॉस्मेटिक या पाउडर का इस्तेमाल करना ठीक नहीं। इसीलिए आज हम आपको घमौरियां ठीक करने के कुछ घरेलू उपाय बताने जा रहे है। जिनकी मदद से आपकी समस्या बिना अधिक खर्च के घर बैठे ही ठीक हो जाएगी।

गर्मियों का मौसम अब धीरे धीरे शुरू हो रहा है। और इसी के साथ शुरू होने वाली है तरह-तरह की त्वचा संबंधी समस्याएं। एक बार को व्यक्ति बाकी सारी परेशानियाँ तो सहन कर भी लें लेकिन घमौरियों का नाम आते है सभी घबराने लगते है। गर्मियों के मौसम में होने वाली सबसे आम समस्या है घमौरी। इस दौरान क्या बच्चे और क्या बूढ़े, सभी इस समस्या से परेशान दिखाई देते है।

डॉक्टरी भाषा में इसे एक प्रकार का चर्म रोग माना जाता है। जिनमें खुजली होने के साथ-साथ हलकी सी चुभन भी होती है। वैसे तो ये समस्या अधिकतर गर्मियों में ही देखने को मिलती है लेकिन कई बार बरसात और सर्दियों के मौसम में ये हो सकती है।

घमौरियां अक्सर हमारी पीठ, छाती, बगल एवं कमर के आसपास के हिस्सों में होते है। जिसका मुख्य कारण पसीना होता है। इसके अलावा भी और बहुत से कारणों की वजह से घमौरियों होती है जिनके बारे में हम आपको बताएँगे। घमौरियों होने के बाद इंसान बहुत परेशान हो जाता है। इसीलिए इनके होते ही सब अपनी-अपनी समझ अनुसार इनका इलाज करने में जुट जाते है।

ऐसे तो बाज़ार में बहुत से पाउडर और लोशन उपलब्ध है जिनकी मदद से घमौरियों से निजात पाया जा सकता है लेकिन उनके लिए बहुत से पैसे खर्च करने पड़ते है जो सभी के लिए सम्भव नहीं। इसीलिए आज हम आपको घमौरियां ठीक करने के कुछ घरेलू उपाय बताने जा रहे है। जिनकी मदद से आप अपनी इस समस्या से बिना किसी खर्च के घर बैठे राहत पा सकते है। और सबसे बड़ी बात इन उपायों के कोई दुष्परिणाम भी नहीं है। तो आइए जानते है घमौरियां ठीक करने के घरेलू उपचार!!

घमौरियां होने के क्या कारण होते है?

सामान्य तौर पर घमौरियां गर्मियों के दौरान ही होती है लेकिन कई बार ये सर्दियों में भी देखने को मिलती है। जिनका कारण त्वचा के रोम छिद्रों में पसीने की अत्यधिक मात्रा का जमना होता है। ऐसा तब होता है जब पसीना भाप बनकर उड़ने की बजे त्वचा में ही समा जाता है। यही कारण है की घमौरियां अधिकतर गर्दन, कमर, कांख और त्वचा की सिलवटों में होती है। इसके अतिरिक्त भी कुछ वस्तुएं है जिनके कारण त्वचा में घमौरियां होती है।

-> सिंथेटिक फाइबर से बने कपडें पहनने से भी घमौरियां हो सकती है। क्योंकि ये कपडा पसीने को evaporate नहीं होने देता।

-> अधिक व्यायाम और शारीरिक गतिविधियाँ जिनमे बहुत उच्च स्तर पर पसीना आता हो करने से।

-> तेलीय कॉस्मेटिक का प्रयोग करने से क्योंकि ये आपके sweat gland को बंद करने का काम करते है।

-> सर्दियों के दौरान पसीना आने पर भी अधिक गर्म कपडें पहनने से।घमौरियों से निजात पाने के उपाय

-> ADHD और blood pressure जैसे समस्यायों में प्रयोग होने वाली दवाओं का सेवन करने से भी घमौरियां हो सकती है।

छोटे बच्चे इस समस्या से अधिक परेशान रहते है क्योंकि उनके sweat duct पूरी तरह विकसित नहीं हो पाते जिसके कारण उन्हें घमौरियां अधिक परेशान करती है।

क्या घमौरियां भी दर्दनाक हो सकती है?

सामान्य स्थितियों में घमौरियां दर्दनाक नहीं होती। क्योंकि ये एक प्रकार के स्किन रैशेज होते है जो बहुत तेज़ खुजली और चुभन के साथ पैदा होते है। कई बार इनमे तेज़ खुजली है जो इन्फेक्शन हो सकता है। ऐसे तो ये सामान्य तरीकों से ठीक हो जाती है लेकिन कई बार इन्हें चुने से ये फफोले का रूप ले लेती है।

घमौरियों के घरेलू इलाज :-

1. दलिए का स्नान :

घमौरियों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए दलिए का स्नान करें और अपने शरीर पर 15 से 20 मिनट तक उसे लगायें रखें। आप चाहे तो प्रभावित क्षेत्रों पर दलिए के स्क्रब का भी इस्तेमाल कर सकते है। ये आपकी त्वचः को exfoliate करके बंद sweat ducts को साफ़ करेग। घमौरियों के लिए ये सबसे बेहतर घरेलू उपचार हिया जो खुजली और सुजन से भी राहत दिलाता है।

2. एलोवेरा जेल :aloevera ke fayde 1

एलोवेरा में एंटी बैक्टीरियल और एंटी सेप्टिक गुण पाए जाते है जो विभिन्न तरह के स्किन रैशेज और घमौरियों से निजात दिलाने में मदद करते है। इसके लिए एलोवेरा का एक पत्ता लें और उसे काट लें। इसमें से जेल निकाल कर शरीर के प्रभावित हिस्सों पर लगायें। ये त्वचा की सुजन को कम करके लालिमा को खत्म करने में भी मदद करेगा। आप चाहे तो इसकी जगह aloe rich moisturizing lotion का भी इस्तेमाल कर सकते है। ये घमौरियों को ठीक करने के साथ-साथ स्किन इन्फेक्शन से राहत देने में भी मदद करेगा।

3. काबुली चने का आटा :

इस समस्या के लिए काबुली चने के आटे और पानी को मिलाकर एक गाढ़ा पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को त्वचा के प्रभावित हिस्सों पर लगायें और 15 मिनट तक लगे रहने दे। उसके बाद ठंडे पानी से इस पेस्ट को साफ़ कर लें। ये घरेलू उपाय घमौरियों को दूर करने के साथ-साथ उनमे होने वाली खुजली को भी शांत करता है।

4. मुल्तानी मिट्टी :

घमौरियों और त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग सदियों से किया जाता आ रहा है। इसके लिए चार चम्मच मुल्तानी मिट्टी में गुलाबजल की कुछ बुँदे डालकर एक पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को त्वचा पर लगायें। 3 घंटे बाद इसे ठंडे पानी से साफ़ कर लें।

5. बेकिंग सोडा :

बेकिंग सोडा में एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते है जो त्वचा के इन्फेक्शन को ठीक करके उसे सामान्य करने में मदद करते है। इसके लिए बेकिंग सोडा और पानी को मिलाकर एक सामान्य पेस्ट बना लें। अब किसी साफ़ और मुलायम कपडे की मदद से इसे त्वचा के घमौरी वाले हिस्सों पर लगाएं। आराम मिलेगा।

6. कच्चा आलू :

इसके लिए सामान्य आकार के आलू को काटकर उसकी स्लाइस काट लें। अब उन slices को त्वचा के प्रभावित क्षेत्रों पर लगायें। ये घमौरियों की खुजली और जलन को शांत करने में मदद करेगा।

7. तरबूज :

थोडा का तरबूज लें। उसके सभी बीजों को निकालकर उसके पल्प को अलग निकाल लें। अब इस पल्प का इस्तेमाल अपनी त्वचा पर करें। आप चाहे तो कुचले हुए तरबूज के रस के इस्तेमाल से भी अपनी इस समस्या को ठीक कर सकते है।

8. अदरक :

अदरक के गुणों के बारे में जितनी बात की जाए उतनी ही कम है। ये घमौरियों के कारण हो रही त्वचा की खुजली और जलन को भी कम करता है। इसके लिए थोड़ी सी अदरक को पीस लें और उसे पानी में उबाल लें। ठंडा होने के बाद साफ़ और मुलायम कपडे की मदद से इस मिश्रण को त्वचा पर लगायें। फ़ायदा मिलेगा।

9. बर्फ के टुकड़े :

इस उपाय के लिए बर्फ के कुछ टुकड़े लें। और उन्हें पानी में डाल दें। पानी के ठंडा हो जाने के बाद किसी साफ़ कपडे की मदद से इस पानी को त्वचा पर लगायें। आप चाहे तो सीधे बर्फ का इस्तेमाल करके भी जलन कम कर सकते है।

10. कपूर :

घमौरियों से राहत पाने के लिए इस उपाय को काफी पुराने समय से प्रयोग में लाया जाता आ रहा है। ये त्वचा की जलन और खुजली को दूर करने में भी मदद करता है। इसके लिए कपूर का पाउडर बना लें। अब इसे नीम आयल के साथ मिलाकर एक पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को त्वचा के प्रभावित हिस्सों पर लगायें। आपको अच्छा महसूस होगा।

11. हरा धनिया और चंदन का पाउडर :

हरे घनिए की कुछ सुखी पत्तियों और चंदन पाउडर को मिलाकर पीस लें। अब इसमें थोडा सा रोज water मिलाकर एक गाढ़ा पेस्ट बना लें। इस पेस्ट का इस्तेमाल त्वचा पर करें। पूरी तरह सूखने तक इस पेस्ट को त्वचा पर लगायें रखें। जब यह सुख जाए तो ठंडे पानी से इसे साफ़ कर लें। धनिया अपने एंटी सेप्टिक गुणों से जाना जाता है जबकि चंदन घमौरियों की जलन और खुजली को कम करता है।

12. हिना पाउडर :

हां, इससे त्वचा पर हलकी लालिमा आ जाएगी लेकिन घमौरियों और रैशेज के लिए ये एक बेहतर घरेलू उपचार है। इसके लिए हिना पाउडर और थोडा सा पानी मिलाकर एक गाढ़ा पेस्ट बना लें। अब इसे त्वचा के प्रभावित हिस्से पर लगायें। 15 से 20 मिनट तक रखने के बाद इसे ठंडे पानी से धो लें।

13. नींबू का रस :

नींबू के रस में एंटी oxidents की अच्छी मात्रा पाई जाती है जो त्वचा को हील करने में मदद करते है। इसके लिए नींबू का ताज़ा रस निकालकर उसमे थोडा पानी मिलाएं। अब इसमें थोडा सा शहद भी मिला लें। रोजाना 3 से 4 ग्लास इसका सेवन करें। आपकी घमौरियां 14 दिन के भीतर गायब हो जाएंगी।

14. खीरा :

घमौरियों के साथ होने वाली सबसे आम बड़ी समस्या है उनमे होने वाली जलन। लेकिन क्या आप जानते है की खीरे की slices की मदद से आप इस समस्या को भी ठीक कर सकते है। जी हां, इसके लिए खीरे की स्लाइस काटकर उन्हें प्रभावित हिस्सों पर लगायें। आप चाहे तो खीरे का कचूमर निकालकर उसके पल्प को अपनी त्वचा पर लगा सकते है। इस पल्प को 30 मिनट तक रखने के बाद पानी से धो दें।

15. नीम :neem

नीम अपने एंटी बैक्टीरियल, एंटी सेप्टिक और astringent गुणों के लिए जाना जाता है। ये त्वचा संबंधी विभिन्न समस्याओं के लिए प्रयोग में लाये जाने वाले सबसे प्रमुख उपायों में से एक है। इसके लिए नीम की पत्तियों को क्रश करके उन्हें रैशेज पर लगायें। और सूखने के बाद पानी से साफ़ कर लें।

तो, ये थे कुछ घरेलू तरीके जिनका इस्तेमाल कर आप त्वचा संबंधी समस्या जैसे घमौरियां, रैशेज आदि से छुटकारा पा सकते है। इसके साथ ही आपको अपने खानपान पर भी ध्यान देना होगा। क्योंकि इस समस्या को भीतरी और बाहरी दोनों ओर से ठीक करना जरुरी है अन्यथा बाद में ये फिर से उत्पन्न हो सकती है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.