Ultimate magazine theme for WordPress.

सेहतमंद बेबी के लिए क्या खाएं?

0

गर्भ में शिशु का विकास

हर प्रेग्नेंट महिला यही चाहती है की उसके गर्भ में पल रहे शिशु का विकास बेहतर तरीके से हो, शिशु सेहतमंद, हष्ट- पुष्ट, बुद्धिमान हो। तो इसके लिए सबसे जरुरी होता है की गर्भवती महिला अपने स्वास्थ्य का बेहतर तरीके से ध्यान रखे। जैसे की पोषक तत्वों से भरपूर आहार का सेवन करें, अपने आहार को समय से ले, खान पान में किसी भी तरह की लापरवाही न करे, बॉडी में आयरन की कमी न होने दे, व्यायाम आदि करे जिससे बॉडी में रक्त का संचार अच्छे से हो सके, आदि। यदि महिला फिट होती है तो इससे गर्भ में पल रहे शिशु का विकास भी बेहतर तरीके से होने में मदद मिलती है। खान पान के साथ महिला को प्रेगनेंसी के दौरान और भी बहुत सी छोटी छोटी चीजे जैसे की तनाव न लेना, उठने, बैठने, चलने का अच्छे से ध्यान रखना, कोई भी ऐसा काम न करना जिससे शिशु पर नकारात्मक असर पड़े इन बातों का भी अच्छे से ध्यान रखना पड़ता है।

सेहतमंद बेबी के प्रेग्नेंट महिला क्या खाएं

सेहतमंद शिशु को जन्म देने के लिए महिला को अपनी डाइट का खास ख्याल रखना चाहिए। क्योंकि जितने अधिक मात्रा में शिशु को पोषक तत्व मिलते हैं उतना ही शिशु का शारीरिक व् मानसिक विकास बेहतर तरीके से होता है। तो लीजिये अब विस्तार से जानते हैं की सेहतमंद शिशु को जन्म देने के लिए गर्भवती महिला को क्या क्या खाना चाहिए।

आयरन

खून की कमी का शरीर में होने गर्भवती महिला की शारीरिक समस्या को बढ़ाने के साथ शिशु के विकास में कमी का भी कारण बन सकता है। ऐसे में सेहतमंद शिशु के लिए गर्भवती महिला को अपनी डाइट में आयरन को भरपूर मात्रा में शामिल करना चाहिए ताकि बॉडी में खून की कमी को पूरा करने में मदद मिल सके। और इसके लिए महिला को अपनी डाइट में हरी पत्तेदार सब्जियां, दालें, फलियां, सफ़ेद बीन्स, चिकन, मछली, अच्छे से पके हुए अंडे, अनाज आदि को भरपूर मात्रा में शामिल करना चाहिए। साथ ही आयरन का बॉडी में भरपूर होना डिलीवरी के दौरान आने वाली परेशानियों को भी कम करने में मदद करता है।

कैल्शियम

गर्भ में शिशु की हड्डियों के बेहतर विकास के लिए गर्भवती महिला के शरीर में कैल्शियम की मात्रा का भरपूर होना भी बहुत जरुरी होता है। और यदि प्रेग्नेंट महिला कैल्शियम का भरपूर मात्रा में सेवन नहीं करती है तो इससे शिशु की हड्डियों के विकास में कमी आ सकती है। ऐसे में कैल्शियम की मात्रा को बॉडी में भरपूर रखने के लिए गर्भवती महिला को दूध व् दूध से बनी चीजें, सूखे मेवे जैसे बादाम, अखरोट आदि, साबुत अनाज, अंकुरित दालें, हरी पत्तेदार सब्जियों आदि को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए।

प्रोटीन

प्लेसेंटा और शिशु के विकास के लिए गर्भवती महिला को प्रोटीन युक्त आहार का भी भरपूर सेवन करना चाहिए। क्योंकि प्रोटीन का बॉडी में भरपूर मात्रा में होना शिशु की कोशिकाओं के बेहतर निर्माण में मदद करता है। और इसके लिए गर्भवती महिला दालें, दूध, अंडा, दही, नॉन वेज, बीन्स, सूखे मेवे आदि का भरपूर मात्रा में सेवन कर सकती है। लेकिन अधिक वजन वाली महिलाओं को प्रोटीन को बहुत अधिक मात्रा में भी नहीं लेना चाहिए क्योंकि इससे वजन और तेजी से बढ़ सकता है और प्रेग्नेंट महिला को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

घी

ज्यादातर लोग यह नहीं जानते होंगे की प्रेगनेंसी के दौरान देसी घी का पर्याप्त मात्रा में सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है। क्योंकि यह प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है जिससे गर्भ में शिशु और गर्भवती महिला दोनों को संक्रमण से बचे रहने में मदद मिलती है। साथ ही घी का सेवन प्रेगनेंसी की आखरी तिमाही में करने से शिशु के वजन और विकास को तेजी से बढ़ाने में मदद मिलती है।

चिकन और अंडे

गर्भावस्था की दूसरी तिमाही से गर्भवती महिला चाहे तो चिकन और अंडे का सेवन शुरू कर सकती है। क्योंकि इनमे कैल्शियम, प्रोटीन, आयरन, फोलिक एसिड, फैट, जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में शामिल होते हैं जो गर्भवती महिला को स्वस्थ रखने के साथ गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर शारीरिक विकास में बहुत फायदेमंद होते हैं। लेकिन इनका सेवन करते समय ध्यान रखे की अधपके या कच्चे अंडे, अधपके या कच्चे चिकन का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि यह गर्भवती महिला और गर्भ में शिशु दोनों के लिए नुकसानदायक भी हो सकता है।

हरी सब्जियां व् फल

प्रेग्नेंट महिला को हरी सब्जियों व् फलों का सेवन भी भरपूर मात्रा में करना चाहिए। क्योंकि हरी सब्जियों व् फलों में भी पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं जो प्रग्नेंट महिला की जरूरतों को पूरा करने के साथ गर्भ में शिशु के बेहतर विकास में भी मदद करते हैं। खासकर पालक, संतरा, केला, एवोकाडो, अनार, सेब आदि का सेवन जरूर करना चाहिए।

फोलेट

फोलेट से युक्त आहार जैसे हरी सब्जियां, अंकुरित अनाज, चुकंदर, सोयाबीन, दालें, आदि का भी गर्भवती महिला को भरपूर मात्रा में सेवन करना चाहिए। क्योंकि फोलेट युक्त आहार का भरपूर सेवन करने से शिशु को जन्म के समय होने वाली परेशानियों से सुरक्षित रखने में मदद मिलती है।

तो यह हैं कुछ आहार जो गर्भवती महिला को अपनी डाइट में जरूर शामिल करने चाहिए ताकि गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में मदद मिल सके। साथ ही शिशु के विकास में कोई कमी न रहे इसके लिए डॉक्टर से राय भी जरूर लेनी चाहिए साथ ही अपनी सभी जांच भी समय से करवानी चाहिए ताकि प्रेग्नेंट महिला को किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। तो यदि आप भी चाहती हैं की आपका होना वाला शिशु सेहतमंद व् हष्ट पुष्ट हो तो उसके लिए गर्भवती महिला को अपनी डाइट में इन सब पोषक तत्वों को जरूर शामिल करना चाहिए।