Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

होली के रंग से चेहरे पर दाने, त्वचा का फटना और जलन को ठीक करने के उपाय

होली खेलना तो सभी को अच्छा लगता है लेकिन उसके बाद स्किन में रह जाने वाले कलर वाकई बहुत परेशान करते है। जिन्हें हटाने के लिए आप लगातार स्किन को रगड़ते रहते है जिससे रैशेस और स्किन एलर्जी की समस्याएं भी होने लगती है। अगर आपकी स्किन में भी इस तरह की समस्याएं हो गयी है परेशान न हो क्योंकि आज हम आपको रंगों से स्किन को होने वाले साइड इफ़ेक्ट और उसके उपाय बताने जा रहे है।

होली उन त्योहारों में से एक है जिसे क्या बच्चे क्या बड़े सभी बड़े शौक से मनाते है। रंग, गुलाल अबीर से ढके सभी के चेहरे इस पर्व की महत्ता को दर्शाते है। लेकिन बदलते वक्त के साथ-साथ होली खेलने के तरीकों में भी बदलाव आने अलगे है। आजकल लोग अबीर और गुलाल की जगह रंगों का इस्तेमाल करने लगे है जिनमे काफी केमिकल मिलाया जाता है।

-- Advertisement --

इन रंगों के साथ होली खेलने में मजा तो बहुत आता है लेकिन उनसे होने वाले दुष्परिणाम आपकी स्किन को पूरी तरह खराब कर देते है। इतना ही नहीं इस तरह के कलर्स को स्किन से हटाना भी काफी मुश्किल होता है। कई बार कोशिशे करने के बाद भी यह कलर स्किन से नहीं जाते। और इन्हें हटाने के लिए आप लगातार स्किन को रगड़ते रहते है जिससे रैशेस और स्किन एलर्जी की समस्याएं भी होने लगती है। अगर आपकी स्किन में भी इस तरह की समस्याएं हो गयी है परेशान न हो क्योंकि आज हम आपको रंगों से स्किन को होने वाले साइड इफ़ेक्ट और उसके उपाय बताने जा रहे है।

चेहरे पर रंग लगाने के साइड इफ़ेक्टholi skin care tips

होली खेलने का असली मजा तो रंगों के साथ ही आता है। लेकिन की आप जानते है की इन सभी कलर्स में इस तरह के केमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता है जो स्किन की बाहरी परत के साथ-साथ आंतरिक परत को भी नुकसान पहुंचाते है। यह स्किन के रोमछिद्रों के भीतर जाकर न्यू सेल्स को प्रभावित करते है जिससे स्किन में तरह-तरह की समस्याएं होने लगती है। जैसे – जलन होना, दाने होना, मुहांसे होना आदि।

ये सभी साइड इफेक्ट्स तो केवल सामान्य स्किन के लिए है अगर आपकी स्किन सेंसिटिव है तो आपको इन कलर का भूलकर भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। अगर आपको होली खेलनी ही है तो आप आर्गेनिक और प्राकृतिक रंगों का भी इस्तेमाल कर सकते है। ये रंग पूरी तरह सुरक्षित और स्किन के लिए सेफ होते है जिनका स्किन पर किसी तरह का कोई साइड-इफ़ेक्ट नहीं होता।

रंग लगाने से चेहरे पर होने वाली परेशानियां

आजकल होली खेलने के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले रंगों में केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है जिनकी वजह से स्किन ही नहीं अपितु शरीर के अन्य हिस्सों में भी समस्याएं होने लगती है। यहाँ हम आपको कलर्स के उन्ही साइड इफेक्ट्स के बारे में बता रहे है –

  • स्किन में रैशेस।
  • छोटे छोटे दाने होना।
  • त्वचा में लालीपन।
  • रंग साफ़ करते समय जलन होना।
  • फुंसिया होना।
  • स्किन में रूखापन।
  • फटी हुई स्किन।
  • लगातार खुजली होना।
  • क्रीम लगाने के बाद भी स्किन का लगातार रुखा रहना। आदि कुछ परेशानियाँ है जो केमिकल युक्त रंगों का प्रयोग करने से स्किन में होती है।

स्किन से होली के रंगों को छुड़ाने के उपाय :-

होली खेलते समय स्किन पर कलर लग जाने के बाद सभी उसे छुड़ाने के लिए अपनी त्वचा और फेस को रगड़ने लगते है। जिससे कलर तो नहीं जाता लेकिन आपकी स्किन में रैशेस जरुर हो जाते है। अगर आप भी स्किन से कलर निकालने के लिए ऐसा ही करते है तो परेशान न हो क्योंकि हम आपको कुछ उपाय बता रहे है जिसकी मदद से स्किन से होली के रंगों को आसानी से छुड़ाया जा सकता है।

1. बेसन :होली के रंग से चेहरे पर दाने त्वचा का फटना और जलन को ठीक करने के उपाय

बेसन का इस्तेमाल भी होली के रंगों को हटाने के लिए किया जा सकता है। इसके लिए बेसन, चोलकर, दूध और थोडा सा नींबू का रस मिलाकर एक पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर स्किन के हर उस हिस्से पर लगायें जहां कलर लगा हुआ है। आधा सूखने तक इन्तजार करें और उसके बाद हाथों को हल्का गीला करके रगड़ते हुए स्किन से यह पैक निकाल दें। उसके बाद किसी सौम्य साबुन से स्किन साफ़ कर लें।

2. मुल्तानी मिट्टी :

इसकी मदद से आप चेहरे और बाल दोनों पर लगे कलर को आसानी से हटा सकते है। फेस के लिए मुल्तानी मिट्टी में थोडा सा गुलाबजल और दही मिलाकर पैक बना लें और इस पैक को अपने फेस पर लगायें। सूखने का इंतजार करें और फिर पानी से साफ़ कर लें। बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी में जरुरत के अनुसार पानी मिलाकर उसे अपने बालों में लगाएं और सूखने दें। सूखने के बाद पानी से साफ़ कर लें। रंग निकल जाएगा।

3. नारियल तेल :

इस उपाय का इस्तेमाल आपको होली खेलने से पहले और होली खेलने के बाद दोनों बार करना होगा। यह तेल स्किन से रंग छुड़ाने में काफी मददगार होता है। इसके लिए फेस और शरीर के अन्य हिस्सों पर पर नारियल तेल से अच्छे से मसाज करें और फिर गीले कपडे या वाइप्स से साफ़ कर लें। फिर चेहरे को फेस वाश से धो लें।

4. गेहूं का आटा :

होली के रंग छुड़ाने के लिए आटे में दूध, हल्दी और गुलाबजल मिलाकर मुलायम सा आटा बना लें। अब इस आटे का थोड-थोडा हिस्सा लेकर अपनी स्किन और चेहरे पर रगड़ें। 2 से 3 बार इस उपाय को दोहराएँ और फिर नहा लें। स्किन साफ हो जाएगी।

5. सरसों के दाने :

इसकी मदद से होली का रंग कुछ ही समय में निकल जाता है। उपाय के लीये सरसों के दानों को दरदरा पीसकर उसमे सरसों का तेल मिला लें। अब इस मिश्रण को अपने चेहरे और शरीर पर 5 से 7 मिनट तक रगड़ें। उसके बाद जेंटल साबुन से स्किन साफ़ कर लें। स्किन से रंग निकल जाएगा।

तो, ये थे स्किन से होली के रंगों को छुड़ाने के कुछ उपाय और होली के रंगों के साइड इफेक्ट्स। अब तो आप जान ही चुके होंगे की होली खेलने में इस्तेमाल किये जाने वाले रंग स्किन के लिए कितने हानिकारक होते है। इसलिए अब से होली में केमिकल रंगों की बजाए नेचुरल और आर्गेनिक रंगों का ही इस्तेमाल करें।


होली के रंग से चेहरे पर दाने, त्वचा का फटना और जलन को ठीक करने के उपाय, होली के रंगों के साइड इफ़ेक्ट, स्किन से रंग छुड़ाने के उपाय, स्किन से कलर कैसे हटाएं, इन तरीकों से हटाएं स्किन से होली के रंग, How to remove holi colours from skin, होली कलर से बचने के तरीके, रंगों के साइड इफ़ेक्ट, होली के रंग स्किन से हटाएं

Leave a comment