10 जूस जो प्रेग्नेंट महिला को जरूर पीने चाहिए

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला को फिट रहने व् बच्चे के बेहतर विकास के लिए ठोस आहार खाने के साथ बॉडी में तरल पदार्थों की मात्रा को सही रखने की सलाह भी दी जाती है। और बॉडी में पानी की कमी को पूरा करने के लिए गर्भवती महिला को पानी पीने के साथ जूस आदि का सेवन करने की सलाह भी दी जाती है।

लेकिन इस बात का ध्यान रखें की जिस भी फल का आप जूस पीएं उसे घर में ताजा बनाकर पीएं न की बाहर से डिब्बाबंद जूस लाकर उसका सेवन करें। तो आइये आज इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे दस जूस के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका सेवन गर्भवती महिला को जरूर करना चाहिए क्योंकि यह सभी जूस माँ व् बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होते हैं।

संतरे का जूस

संतरे के जूस में विटामिन सी, फाइबर, आयरन, फोलिक एसिड जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। जो गर्भवती महिला को फिट रखने के साथ गर्भ में बच्चे के बेहतर शारीरिक व् मानसिक विकास में भी मदद करते हैं।

निम्बू पानी

निम्बू पानी में विटामिन्स जैसे की विटामिन सी, एंटी ऑक्सीडेंट्स, कैल्शियम, पोटैशियम आदि भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। जो गर्भवती महिला की शारीरिक परेशानियां जैसे की सूजन, ऐंठन, मॉर्निंग सिकनेस जैसी परेशानियों से निजात दिलाते हैं। सतह ही बच्चे के बेहतर विकास में भी मदद करते हैं।

नारियल पानी

जूस के रूप में रोजाना सुबह या शाम के समय एक गिलास नारियल पानी का सेवन भी गर्भवती महिला व् बच्चे के लिए फायदेमंद होता है। क्योंकि नारियल पानी में फाइबर, कैलोरी, प्रोटीन, विटामिन सी, कैल्शियम, मैग्नीशियम, एंटी ऑक्सीडेंट्स, भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। जिससे प्रेग्नेंट महिला की इम्युनिटी बढ़ने के साथ महिला को ऊर्जा से भरपूर रहने में मदद मिलती है।

अनार का जूस

फोलेट, विटामिन सी, विटामिन के, फाइबर, प्रोटीन जैसे पोषक तत्वों से भरपूर अनार का जूस पीने से गर्भवती महिला की सेहत सम्बन्धी परेशानियां जैसे की कब्ज़, कमजोरी, थकान, खून की कमी, डीहाइड्रेशन को दूर जैसी परेशानियों को दूर करने के साथ बच्चे के बेहतर विकास में भी मदद करता है।

गाजर का जूस

विटामिन ए, विटामिन सी, कैलोरी, फैट, आयरन, पोटैशियम, एंटी ऑक्सीडेंट जैसे पोषक तत्व गाजर के जूस में भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। ऐसे में यदि गर्भवती महिला यदि गाजर का जूस पीती है तो गाजर का जूस पीने से कोलेस्ट्रॉल कम होता है, थकावट दूर होती है, एनर्जी लेवल बढ़ता है साथ ही बच्चे के बेहतर विकास में भी मदद मिलती है।

स्ट्रॉबेरी का जूस

स्ट्रॉबेरी का जूस गर्भवती महिलाओं के लिए सबसे बेहतरीन जूस में से एक होने के साथ गर्भ में बच्चे के लिए भी फायदेमंद होता है। क्योंकि इसमें स्ट्रॉबेरी के जूस में फोलेट प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है। जो गर्भ में शिशु के शारीरिक विकास को बढ़ाने में मदद करने के साथ शिशु की इम्युनिटी भी बढ़ाता है जिससे गर्भ में शिशु को बिमारियों से बचे रहने में मदद मिलती है।

सेब का जूस

प्रेग्नेंसी के दौरान जिन महिलाओं के शरीर में खून की कमी होती है। उन महिलाओं को शरीर में खून की कमी की समस्या को दूर करने के लिए सेब के जूस का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि सेब में आयरन होता है जो कि गर्भवती महिला के शरीर में खून की कमी को पूरा करने, खून की कमी के कारण होने वाली परेशानियों को दूर करने, बच्चे के बेहतर विकास में मदद करता है। आयरन के अलावा सेब में मौजूद अन्य न्यूट्रिएंट्स भी प्रेग्नेंट महिला व् बच्चे के लिए फायदेमंद होते हैं।

चुकंदर का जूस

चुकंदर जिसे की बीटरूट भी कहा जाता है उसके जूस का सेवन भी प्रेग्नेंट महिला को जरूर करना चाहिए। क्योंकि चुकंदर का जूस पीने से गर्भवती महिला को ऊर्जा से भरपूर रहने, शरीर में खून की कमी को पूरा करने के साथ गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर शारीरिक विकास में मदद मिलती है। क्योंकि चुकंदर में आयरन, विटामिन सी, कैलोरी आदि का बेहतरीन स्त्रोत होता है।

कीवी का जूस

विटामिन, कैल्शियम, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट जैसे पोषक तत्वों की मात्रा कीवी में मौजूद होती है। और यह सभी पोषक गर्भावस्था के दौरान भरपूर फायदेमंद होते हैं। ऐसे में गर्भवती महिला यदि चाहे तो कीवी के जूस का सेवन भी कर सकती है।

गन्ने का रस

गर्मियों के मौसम में गन्ने का जूस भी मिलता है और गर्भवती महिला की यदि गन्ने का जूस पीने की इच्छा हो गर्भवती महिला गन्ने के रस का सेवन भी कर सकती है। क्योंकि गन्ने के रस में मौजूद पोषक तत्व भी गर्भवती महिला व् बच्चे के लिए फायदेमंद होते है। लेकिन ध्यान रखें की गर्भवती महिला साफ़ सुथरी जगह से जाकर गन्ने के रस का सेवन करें।

तो यह हैं कुछ जूस जिनका सेवन गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान जरूर करना चाहिए। यदि गर्भवती महिला को इसमें से किसी भी तरह के जूस पीने से किसी तरह की परेशानी होती है तो उस जूस का सेवन न करें।