Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्रेग्नेंट महिला के लिए खतरनाक है इन 10 फूड्स का सेवन

0

गर्भावस्था के दौरान महिला के लिए सही समय पर अपनी डाइट लेना, डाइट में हेल्दी फूड्स को शामिल करना, महिला के लिए बहुत फायदेमंद होता है। क्योंकि बेहतरीन डाइट लेने और समय से अपनी डाइट लेने से महिला के शरीर में पोषक तत्वों की मात्रा को सही रहने में मदद मिलती है। और जब महिला के शरीर में पोषक तत्वों की मात्रा सही होती है तो इससे गर्भ में शिशु के विकास के लिए भी सभी जरुरी पोषक तत्व शिशु को मिलते हैं।

जिससे प्रेग्नेंट महिला और गर्भ में पल रहे शिशु को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है। पोषक तत्वों से भरपूर डाइट लेने के साथ प्रेग्नेंट महिला के लिए इस बात का ध्यान रखना भी जरुरी होता है की महिला किन किन खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करें। क्योंकि कुछ खाद्य पदार्थों का सेवन माँ और बच्चे दोनों की सेहत पर बुरा असर डालता है। तो आइये अब इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे 10 फूड्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका सेवन करना गर्भवती महिला और शिशु के लिए खतरनाक होता है।

कच्चा दूध

गर्भावस्था के दौरान महिला के लिए दूध का सेवन बहुत फायदेमंद होता है लेकिन गर्भवती महिला को गलती से भी कच्चा दूध नहीं पीना चाहिए। क्योंकि इसमें लिस्टेरिया, साल्मोनेला जैसे हानिकारक बैक्टेरिया मौजूद होते हैं जिससे महिला को पेट में संक्रमण, डायरिया जैसी समस्या होने का खतरा होता है। और प्रेगनेंसी के दौरान इस कारण गर्भपात होने की सम्भावना भी हो सकती है। ऐसे में महिला को कच्चा दूध बिल्कुल नहीं पीना चाहिए।

कच्चा पपीता

गर्भवती महिला के लिए कच्चा पपीता जहर के सामान होते हैं क्योंकि इसमें मौजूद एंजाइम गर्भाशय में संकुचन को बढ़ा देते हैं जिसके कारण महिला को ब्लीडिंग हो सकती है। और यह ब्लीडिंग ज्यादा बढ़ने के कारण महिला का गर्भपात होने का खतरा बढ़ जाता है।

अल्कोहल

गर्भवती महिला को अल्कोहल का सेवन भी प्रेगनेंसी के दौरान नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसका बुरा असर गर्भनाल के रास्ते शिशु तक पहुँचता है जिसके कारण गर्भ में पल रहे शिशु के शारीरिक व् मानसिक विकास में कमी आने का खतरा होता है। इसके अलावा महिला को प्रेगनेंसी के दौरान ऐसी जगह पर भी जाने से बचना चाहिए जहां पर कोई अल्कोहल, धूम्रपान या अन्य किसी भी तरह के नशे का सेवन कर रहा होता है।

कच्चा अंडा व् नॉन वेज

गर्भावस्था के दौरान अंडा व् नॉन वेज खाना माँ और बच्चे दोनों की सेहत के लिए दुगुना फायदेमंद होता है। लेकिन गर्भवती महिला को गलती से भी कच्चे अंडे व् कच्चे नॉन वेज का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि कच्चा अंडा व् नॉन वेज में हानिकारक बैक्टेरिया मौजूद होता है जो माँ और बच्चे की सेहत पर नकारात्मक असर डाल सकता है। साथ ही इसकी वजह से महिला के पेट में संक्रमण इतना बढ़ सकता है की महिला को गर्भपात, समय से पहले डिलीवरी जैसी समस्या का सामना भी करना पड़ सकता है।

जंक फ़ूड

गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान अलग अलग तरह की चीजें खाने की इच्छा हो सकती है जैसे की कुछ महिलाओं को जंक फ़ूड खाने की इच्छा हो सकती है। लेकिन गर्भवती महिला को जंक फ़ूड का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसमें किसी तरह के पोषक तत्व नहीं होते हैं साथ ही इन्हे बनाने में किन किन चीजों का इस्तेमाल किया जाता है उसके बारे में आपको जानकारी भी नहीं होती है। इसके अलावा प्रेगनेंसी के दौरान महिला की पाचन क्रिया थोड़ा धीमे हो जाती है जिसके कारण इस तरह के आहार को पचाने में महिला को दिक्कत हो सकती है। इन सभी कारणों की वजह से महिला को जंक फ़ूड का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान नहीं करना चाहिए।

बिना धुले फल व् सब्जियां

गर्भावस्था के दौरान महिला के लिए साफ़ सफाई का ध्यान रखना बहुत जरुरी होता है खासकर खाने पीने के मामले में तो महिला को बिल्कुल लापरवाही नहीं करनी चाहिए। क्योंकि यदि महिला बिना धुले फल या सब्जियां या फिर बहुत देर तक बिना ढके रखे फल व् सब्जियों का सेवन करती है। इन इन पर मौजूद हानिकारक बैक्टेरिया महिला के शरीर में प्रवेश कर सकता है जिसके कारण महिला की सेहत सम्बन्धी परेशानियां खासकर पेट सम्बन्धी दिक्कतें बढ़ सकती है। साथ ही यदि महिला को संक्रमण होता है तो इसका नकारात्मक असर गर्भ में पल रहे शिशु पर भी पड़ता है।

करेला

करेला वैसे बहुत से पोषक तत्वों से भरपूर होता है लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान महिला को करेले का सेवन ज्यादा नहीं करना चाहिए खासकर करेले के बीजों का सेवन तो महिला को बिल्कुल नहीं करना चाहिए। क्योंकि करेले के बीजों में कुछ ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो महिला के लिए पेट सम्बन्धी दिक्कतें बढ़ा सकते हैं साथ ही उनकी वजह से गर्भ में शिशु के विकास में रूकावट आने का खतरा भी होता है।

डिब्बाबंद चीजें

गर्भवती महिला को डिब्बाबंद आहार या जूस आदि का सेवन भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि इनमे लम्बे समय तक सही रखने के लिए केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है। जो प्रेगनेंसी के दौरान माँ व् बच्चे की सेहत के पर बुरा असर डाल सकता है।

कैफीन

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को जरुरत से ज्यादा कैफीन युक्त चीजें जैसे की चाय कॉफ़ी का सेवन भी अधिक नहीं करना चाहिए। क्योंकि जरुरत से ज्यादा कैफीन लेने के कारण महिला को सेहत सम्बन्धी परेशानी होने के साथ शिशु के वजन में कमी जैसी दिक्कत होने का खतरा भी बढ़ जाता है।

सी फ़ूड

गर्भावस्था के दौरान महिला को सी फ़ूड का सेवन भी अधिक नहीं करना चाहिए जैसे की मर्करी युक्त मछली आदि। क्योंकि मर्करी का सेवन गर्भवस्था के दौरान नुकसानदायक होता है यहां तक की इसके कारण गर्भपात, समय से पहले डिलीवरी जैसी समस्या होने का खतरा भी अधिक होता है।

जिन खाद्य पदार्थों की तासीर गर्म होती है

जिन खाद्य पदार्थों की तासीर गर्म होती है उन खाद्य पदार्थों का सेवन भी गर्भवती महिला को करने से बचना चाहिए जैसे की तिल, गरम मसालें आदि। क्योंकि गर्म तासीर वाले खाद्य पदार्थ खाने के कारण महिला को और शिशु दोनों को दिक्कत होने का खतरा बढ़ जाता है।

तो यह हैं वो खाद्य पदार्थ जिनका सेवन गर्भवती महिला और शिशु के लिए बहुत खतरनाक होता है। ऐसे में प्रेग्नेंट महिला को इन खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचना चाहिए। इसके अलावा जिन खाद्य पदाथों का सेवन करने से महिला को किसी भी तरह की सेहत सम्बन्धी समस्या होती है और वो फ़ूड प्रेग्नेंट महिला के लिए फायदेमंद होते हैं तो महिला को उन खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि चाहे वो कितने ही फायदेमंद हो लेकिन उनके सेवन से महिला को सेहत सम्बन्धी समस्या होने का खतरा रहता है।

Dangerous food for pregnant women

Leave a comment