गर्मियों में इस काम को प्रेग्नेंट महिला नहीं करें

गर्भावस्था के दौरान यदि गर्मी का मौसम चल रहा होता है तो ऐसे में महिला की परेशानी बढ़ सकती है। क्योंकि गर्मी के कारण पसीना, गर्मी महसूस होना, शारीरिक परेशानी अधिक होने की समस्या का सामना गर्भवती महिला को करना पड़ता है। लेकिन फिर भी गर्मी हो चाहे सर्दी हर मौसम में प्रेग्नेंट महिला को अपनी सेहत का ध्यान अच्छे से रखना चाहिए। ताकि मौसम के कारण होने वाली परेशानी का बुरा असर माँ या बच्चे दोनों किसी पर भी न पड़े। तो आइये आज इस आर्टिकल में हम आपको कुछ ऐसे कामों के बारे में बताने जा रहे हैं जो गर्भवती महिला को गर्मी का मौसम होने पर नहीं करने चाहिए।

टंकी के पानी से नहाना

गर्भवती महिला को गर्मी के मौसम में सुबह समय से ही नहा लेना चाहिए क्योंकि दोपहर के समय टंकी का पानी बहुत गर्म हो जाता है। ऐसे में गर्म पानी से नहाने के कारण बॉडी का तापमान बढ़ सकता है जिसके कारण महिला को गर्भपात या अन्य शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

ठंडी चीजों का सेवन

गर्मी से निजात पाने के लिए हो सकता है की गर्भवती महिला का ठंडी चीजें खाने का मन करें लेकिन महिला को गर्मी के मौसम में अपनी इस इच्छा पर नियंत्रण रखना चाहिए। क्योंकि गर्मी में ठंडी चीजों का अधिक सेवन करने से प्रेग्नेंट महिला को सूजन, गले में दर्द, सर्दी, आदि की समस्या हो सकती है। खाने के साथ फ्रिज के बहुत ज्यादा ठन्डे पानी का सेवन भी गर्भवती महिला को नहीं करना चाहिए।

धूप में बाहर जाना

गर्मियों के मौसम में गर्भवती महिला को धूप में निकलने से बचना चाहिए क्योंकि धूप की तेज किरणे भी बॉडी के तापमान को बढ़ा सकती है। साथ ही धूप में बाहर जाने के कारण गर्भवती महिला को सिर दर्द, चक्कर, थकान, कमजोरी जैसी परेशानी अधिक होती है। और यदि आपको किसी काम से बाहर जाना भी है तो शाम के समय जाए या फिर सुबह समय से अपना काम कर आएं।

पसीने में आकर पानी पीना

गर्भवती महिला कहीं बाहर से आई है, या किसी कारण महिला की सांस फूली हुई है और पसीना अधिक आ रहा है, तो ऐसे में तुरंत पानी पीने की गलती गर्भवती महिला को नहीं करनी चाहिए। क्योंकि इसके कारण सर्द गर्म हो सकता है जिसके कारण महिला को खांसी जुखाम, बुखार जैसी परेशानियां होती है।

जंक फ़ूड या मसालेदार आहार का सेवन

गर्भवती महिला को गर्मियों के मौसम में बाहर का खाना, जंक फ़ूड, घर में बना ज्यादा मसालेदार आहार आदि का सेवन करने से बचना चाहिए। क्योंकि ऐसे खाने को हज़म करने में गर्भवती महिला को बहुत ज्यादा परेशानी होती है जिसकी वजह से प्रेग्नेंट महिला को पाचन क्रिया से जुडी समस्या हो सकती है।

पानी पीने में लापरवाही

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को स्वस्थ रहने के लिए एक दिन में आठ से दस गिलास अपनी जरूर पीना चाहिए। और गर्मियों के मौसम में तो पानी पीने में लापरवाही गर्भवती महिला को बिल्कुल नहीं करनी चाहिए। क्योंकि बॉडी के डीहाइड्रेट होने के कारण गर्मी के कारण होने वाली परेशानी व् प्रेगनेंसी में होने वाली परेशानी बढ़ जाती है।

ज्यादा टाइट कपडे पहनना

गर्मी के मौसम में गर्भवती महिला को चुभने वाले कपडे, ज्यादा टाइट कपडे, ज्यादा मोटे कपडे नहीं पहनने चाहिए। क्योंकि इनके कारण गर्मी का अहसास गर्भवती महिला को अधिक होता है साथ ही गर्भ में बच्चा भी असहज महसूस करता है। ऐसे में इस परेशानी से बचने के लिए प्रेग्नेंट महिला को खुले और सूती कपडे ही पहनने चाहिए।

नमक का सेवन

नमक का सेवन भी गर्मी के मौसम में गर्भवती महिला को अधिक नहीं करना चाहिए। क्योंकि नमक का सेवन करने से बॉडी में तरल पदार्थों का जमाव अधिक होता है जिसके कारण गर्भवती महिला को सूजन की समस्या बढ़ सकती है। साथ ही नमक का सेवन अधिक करने से प्रेग्नेंट महिला को हाई ब्लड प्रैशर की समस्या भी अधिक हो सकती है।

तो यह हैं कुछ काम जो गर्भवती महिला को गर्मी के मौसम में नहीं करने चाहिए। क्योंकि इन कामों को करने से गर्भवती महिला की परेशानी बढ़ने के साथ बच्चे को भी दिक्कत हो सकती है। और गर्मी के कारण होने वाली परेशानी से बचाव के लिए जितना हो सके घर को ठंडा रखना चाहिए, हल्के आहार का सेवन करना चाहिए, भरपूर आराम करना चाहिए, आदि।