पांच तरीके का काढ़ा जो खांसी दूर करता है

मौसम के बदलाव के साथ, इम्युनिटी कमजोर होने के कारण सर्दी खांसी जैसी परेशानी हो सकती है। लेकिन इन परेशानियों को अनदेखा नहीं करना चाहिए। क्योंकि सर्दी खांसी का बढ़ना सीने में दर्द, गले में इन्फेक्शन, भूख में कमी जैसी परेशानियों को बढ़ा सकता है। ऐसे में डॉक्टर से चेक करवाना और दवाई का सेवन करना जरुरी हो जाता है ताकि आपको जल्द से जल्द इस परेशानी से निजात मिल सके। लेकिन सर्दी खांसी की समस्या के लिए हमेशा डॉक्टर के पास जाया जाये ऐसा जरुरी नहीं होता है।

क्योंकि बहुत से ऐसे घरेलू उपचार होते हैं जिनके सेवन से न केवल खांसी को दूर करने में मदद मिलती है। बल्कि इम्युनिटी भी बढ़ती है, और इस समस्या से बचने का सबसे आसान घरेलू उपचार होता है की आप काढ़ा बनाएं। साथ ही काढ़ा बनाने के लिए जिन जिन चीजों की जरुरत होती है वो हर घर में बहुत आसानी से मिल भी जाती हैं। तो आइये आज इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे पांच काढ़ा के बारे में बताने जा रहे हैं। जो सर्दी, खांसी को दूर करने में बहुत फायदेमंद होते हैं।

तुलसी, काली मिर्च और लौंग से बना काढ़ा

इस काढ़े को बनाने के लिए आप एक बर्तन में दो से तीन कप पानी डाल लें। उसके बाद इसमें तीन या चार लौंग, आठ दस तुलसी के पत्ते, एक से डेढ़ चम्मच कद्दूकस किया हुआ अदरक और छह सात काली मिर्च डाल दें। अब इस बर्तन को गैस पर रखकर धीमी आंच पर अच्छे से उबलने के लिए छोड़ दें। उसके बाद जब यह पानी उबाल खाकर आधा रह जाता है, तक गुनगुना रहने पर आप इसका सेवन करें। बनाने में आसान होने के साथ यह काढ़ा सेहत के लिए बहुत फायदेमंद भी होता है।

इलायची, अदरक, चाय पत्ती, गुड़ से बना काढ़ा

अब इस काढ़े को बनाने के लिए एक बर्तन में दो से ढाई कप पानी डालकर गैस पर रखें, और पानी के गर्म होने पर इसमें काढ़ा बनाने के लिए सामान डालें। सबसे पहले आप इसमें दो से तीन लौंग डालें जिन्हे आप पहले से ही अच्छे से पीस लें, काली तुलसी का एक पत्ता डालें, एक चम्मच कद्दूकस किया हुआ अदरक डालें, दो तीन इलायची को पीसकर डालें, चार से पांच काली मिर्च डालें, दो चुटकी भर चाय पत्ती, और स्वादानुसार गुड़ मिलाएं। अब सामान डालने के बाद इसे अच्छे से उबाल लें, और जब पानी आधा रह जाये तो इस पानी को छानकर इसका सेवन करें।

शहद और इलायची से बना काढ़ा

एक गिलास पानी में आधा चम्मच इलायची पाउडर डालकर पानी को अच्छे से उबाल लें, पानी के आधा रहने पर इसमें एक चम्मच शहद मिलाएं। अब गुनगुना रहने पर पानी का सेवन करें, दिन में दो बार इस काढ़े का सेवन करने से आपको बहुत जल्दी फायदा मिलता है।

गेहूं की भूसी और लौंग का काढ़ा

इस काढ़े को बनाने के लिए आपको थोड़ी सी यानी दस ग्राम के आस पास गेहूं की भूसी जिसे की कुछ लोग तूड़ा भी कहते हैं वो चाहिए होती है। इस काढ़े को बनाने के लिए सबसे पहले आपको एक बर्तन में दो कप पानी डालकर गैस पर रखें और गैस ऑन कर दें, फिर गेहूं की भूसी और तीन चार लौंग को पीसकर इसमें डाल दें। पानी के आधे रहने पर गैस बंद कर काढ़े और छान लें, अब इसमें काला या सफ़ेद कोई भी नमक स्वादानुसार डाल लें। गुनगुने रहने पर इसका सेवन करें।

लौंग और तुलसी का काढ़ा

सबसे पहले एक बर्तन में दो कप पानी में डालकर उबाल लें, उसके बाद उसमे आठ दस तुलसी की पत्तियां, और चार या पांच लौंग पीसकर उबाल दें। फिर जब तक पानी आधा न रह जाए तब तक पानी को उबालते रहें। फिर जब पानी उबल कर आधा रह जाये तो उसके बाद पानी को छानकर इसमें थोड़ा सा काला नमक मिलाएं और इसका सेवन करें।

तो यह हैं पांच बेहतरीन काढ़े जो खांसी की समस्या को दूर करने में मदद करते हैं। यदि आप, आपके बच्चे या घर के किसी सदस्य को सर्दी, खांसी, इन्फेक्शन आदि की परेशानी है तो आप भी इन्हे घर में बनाकर इस परेशानी से निजात पा सकते हैं।