इन आदतों से आपके और आपके गर्भ में पल रहे शिशु का रिश्ता होगा मजबूत

महिला को जब यह पता चलता है की वो माँ बनने वाली है और उसके गर्भ में एक नन्ही जान पल रही है। तभी से महिला अपने बच्चे से लगाव महसूस करने लगती है और महिला को मातृत्व का अहसास होने लगता है। इसीलिए पूरी प्रेगनेंसी के दौरान महिला सबसे ज्यादा बच्चे के विकास को लेकर ही सोचती है और परेशान भी रहती है।

लेकिन सच तो यह हैं की यदि प्रेग्नेंट महिला परेशान रहती है तो बच्चा भी परेशान होता है और महिला जब खुश होती है तो बच्चा भी खुश होता है। क्योंकि बच्चा भी अपनी माँ के भाव को समझता है। ऐसे में माँ और गर्भ में पल रहे बच्चे के रिश्ते को मजबूत करने के लिए कुछ काम जरूर करने चाहिए। तो आइये जानते हैं की आपको क्या करना चाहिए।

शिशु से करें बातें

गर्भ में पल रहे बच्चे से रिश्ता मजबूत करने के लिए गर्भवती महिला को गर्भ में पल रहे बच्चे से बातें करनी चाहिए। उसे कहानियां सुनानी चाहिए, आप चाहे तो मधुर संगीत भी उसे सुना सकते हैं, किताबें पढ़कर उसे सुनाएँ, धार्मिक ग्रन्थ पढ़ें, आदि। गर्भ में शिशु की सुनने की क्षमता में वृद्धि होने के साथ बच्चा आपकी यह बातें सुन सकता है। और यदि प् रोजाना अपने बच्चे से बातें करती है तो इससे आपका और आपके बच्चे का रिश्ता मजबूत होता है।

पेट पर फेरे हाथ

जब भी माँ बच्चे को प्यार करना चाहती है तो वो उसे स्पर्श करती है और बच्चा भी माँ के अहसास को समझता है। वैसे ही गर्भ में शिशु को अपने स्पर्श का अहसास देने के लिए आपको धीरे धीरे अपने पेट पर हाथ फेरना चाहिए। जब आप पेट पर हाथ फेरती है तो गर्भ में शिशु आपके स्पर्श को महसूस करता है। और हो सकता है की कई बार वो आपके स्पर्श को महसूस करके अपनी हलचल को बढाकर उसपर प्रतिक्रिया भी दें। ऐसा करने से भी आपके और गर्भ में पल रहे बच्चे का रिश्ता मजबूत होता है।

पसंदीदा काम करें

गर्भ में शिशु से रिश्ता मजबूत करने के लिए महिला को हमेशा खुश रहना चाहिए। क्योंकि जितना आप खुश रहती है उतना ही आपका बच्चा भी खुश रहता है। और खुश रहने के लिए आप प्रेगनेंसी में वो काम करें जिनसे आपको ख़ुशी मिलती है। लेकिन ध्यान रखें उससे बच्चे को या आपकी सेहत को कोई नुकसान न हो।

तो यह हैं कुछ काम जो प्रेग्नेंट महिला यदि प्रेगनेंसी के दौरान करती है तो ऐसा करने से माँ और गर्भ में पल रहे बच्चे का रिश्ता मजबूत होता है। ऐसे में यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं तो आपको भी अपने बच्चे से रिश्ता मजबूत करने के लिए प्रेगनेंसी के दौरान ऐसा जरूर करना चाहिए।