Ultimate magazine theme for WordPress.

गर्भवती महिलाओं को यह नहीं खाना चाहिए

0

गर्भवती महिलाएं यह नहीं खाती हैं, प्रेगनेंसी में रखें इन चीजों से परहेज, गर्भवती महिला को क्या नहीं खाना पीना चाहिए, प्रेग्नेंट महिला इन चीजों से रखे परहेज, प्रेग्नेंट महिला भूलकर भी न खाए यह आहार, Food not eaten during pregnancy

यह बात बिल्कुल सच है की प्रेगनेंसी के दौरान महिला को अपने खान पान का खास ध्यान रखना चाहिए। क्योंकि महिला का खान पान की शिशु के बेहतर विकास और प्रेगनेंसी के दौरान महिला को स्वस्थ रखने में मदद करता हैं। लेकिन इस बात का भी गर्भवती महिला को ध्यान देना चाहिए की क्या खाना प्रेगनेंसी के दौरान सेफ होता है और कौन सी चीजे महिला को नहीं खाना चाहिए। तो आइये आज हम कुछ ऐसी ही चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हे प्रेगनेंसी के दौरान महिला को अपने आहार में शामिल नहीं करना चाहिए।

कच्चा पपीता

कच्चा पपीता प्रेगनेंसी के दौरान सेफ नहीं होता है क्योंकि इसमें लेटेक्स नामक एक पदार्थ होता है, और यदि आप इसका सेवन करते हैं तो इसके कारण गर्भाशय में संकुचन होने लगता है। जिसके कारण महिला को शुरूआती दिनों में गर्भपात तो आखिरी दिनों में समय से पहले प्रसन जैसी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

मछली

प्रेगनेंसी के दौरान हफ्ते में एक बार मछली खाना सेफ होता है लेकिन आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए की आप उस मछली का सेवन करें जिसमे मरकरी न हो। क्योंकि जिन मछलियों में मरकरी की मात्रा अधिक होती है और आप उनका सेवन करती है तो ऐसा करने से यह प्लेसेंटा यानी गर्भनाल के रास्ते शिशु के पास जाकर, उसके तंत्रिका तंत्र, किडनी व् मानसिक विकास में बाधा पैदा करती है। इसलिए आपको शार्क, ट्यूना, किंग मैकरेल आदि मछलियों का सेवन नहीं करना चाहिए।

अनानास

प्रेगनेंसी के दौरान अनानास खाना भी सेफ नहीं होता है क्योंकि इसमें मौजूद ब्रोमेलैन नामक पदार्थ भी शुरुआत में गर्भपात और प्रेगनेंसी के आखिरी महीनो में समय से पहले प्रसव का कारण बन सकता है। ऐसे में प्रेगनेंसी के दौरान आपको अनानास के सेवन से बचना चाहिए।

ज्यादा मीठा

कई महिलाओं का प्रेगनेंसी के दौरान इमली, चॉकलेट, आइस क्रीम आदि खाने का बहुत मन करता है। लेकिन आप यदि गर्भावस्था में ज्यादा मीठे का सेवन करती हैं तो ऐसा करने से शुगर होने के खतरा ज्यादा होता है इसीलिए नियमित मात्रा में ही मीठे का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान करना चाहिए।

मिट्टी

मिट्टी, कोयला, बत्ती, चॉक, आदि खाने का भी कुछ महिलाओं का मन करता है, और इसका कारण बॉडी में होने वाली पोषक तत्वों की कमी होती है। लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान महिला यदि इनका सेवन करती है तो शिशु और महिला दोनों पर ही इसका गलत असर पड़ता है।

मांस

प्रेगनेंसी के दौरान अधपका मांस खाना भी शिशु और महिला दोनों की सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है। इसके कारण महिला को टॉक्सोप्लाज़्मा संक्रमण हो सकता है जिसके कारण महिला को मानसिक बिमारी से परेशान होना पड़ सकता है साथ ही इसका असर महिला के कारण शिशु पर भी पड़ता है।

अंगूर

अंगूर का सेवन यदि आप प्रेगनेंसी के दौरान अधिक करते हैं तो इसके कारण गर्भाशय में संकुचन हो सकता है, जिसके कारण असमय प्रसव या गर्भपात के चांस बढ़ जाते है। और यदि आपका अंगूर खाने का मन है तो आप कभी कभी दस बारह दाने खा सकते हैं इससे ज्यादा अंगूरों का सेवन नहीं करना चाहिए।

अधपके अंडे

अधपके या कच्चे अंडे का सेवन भी प्रेगनेंसी के दौरान नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से इन्फेक्शन होने के साथ डायरिया व् उल्टी होने की परेशानी का सामना भी आपको अधिक करना पड़ सकता है।

चाय कॉफ़ी

चाय कॉफ़ी में भी कैफीन की मात्रा बहुत अधिक होती है जो की आपको प्रेगनेंसी में परेशान कर सकती है साथ ही इसका असर शिशु पर भी पड़ सकता है इसीलिए ज्यादा चाय कॉफ़ी के सेवन से भी प्रेगनेंसी के दौरान बचना चाहिए। साथ ही आपको कोल्ड ड्रिंक का सेवन भी अधिक नहीं करना चाहिए।

अल्कोहल का सेवन

शराब का सेवन भी गर्भावस्था के दौरान महिला को नहीं करना चाहिए, क्योंकि यह आपके ब्लड में घुल जाती है और गर्भनाल के रास्ते शिशु तक पहुँच जाती है। जिसके कारण शिशु पर बुरा असर पड़ता है और उसकी मानसिक क्षमता कमजोर होती है।

कच्चा दूध

कच्चा दूध भी प्रेगनेंसी के दौरान आपको नहीं पीना चाहिए, हमेशा दूध को उबालकर ही उसका सेवन करना चाहिए। क्योंकि कच्चे दूध में टी बी, डायरिया आदि के कीटाणु हो सकते हैं जो महिला को परेशानी में डाल सकते है, साथ ही इससे शिशु पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है।

धूम्रपान न करें

जो महिला प्रेगनेंसी के दौरान धूम्रपान करती है उसके कारण कार्बन मोनो ऑक्साइड, निकोटिन जैसे बुसरे रसायन बॉडी में पहुंचकर शिशु तक ऑक्सीजन पहुंचाने वाले मार्ग में बाधा डालते हैं। जिसके कारण शिशु का शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से विकास रुकने का खतरा हो जाता है और शिशु मानसिक व् शारीरिक रूप से विकलांग भी हो सकता है, ऐसे में प्रेगनेंसी में दौरान महिला को धूम्रपान नहीं करना चाहिए।

तो यह है कुछ चीजें जिनका सेवन महिला को प्रेगनेंसी के दौरान नहीं करना चाहिए, क्योंकि यह महिला के साथ शिशु के लिए भी बेहतर नहीं होता है। इसके अलावा आपको डिब्बाबंद जूस, कटी पड़ी सब्जियां व् फल, अधिक जंक फ़ूड, विटामिन सी की अधिकता वाले पदार्थ आदि का सेवन भी नहीं करना चाहिए।