घर में प्रेगनेंसी टेस्ट करते समय इन बातों का ध्यान रखें

घर में प्रेगनेंसी टेस्ट करते समय इन बातों का ध्यान रखें, प्रेगनेंसी किट का इस्तेमाल करते समय इन बातो का ध्यान रखें, प्रेगनेंसी किट का इस्तेमाल कैसे करें, होम प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए टिप्स, प्रेगनेंसी टेस्ट किट का इस्तेमाल कैसे करें

आज कल महिला गर्भवती है या नहीं इसके लिए महिला को डॉक्टर के पास जाने की जरुरत नहीं होती है, क्योंकि घर में ही प्रेगनेंसी किट के माध्यम से गर्भवती महिला आसानी से पता कर सकती है की वो प्रेग्नेंट है या नहीं। लेकिन घर में प्रेगनेंसी किट का इस्तेमाल करते हुए आपको कुछ बातों का खास ध्यान रखना चाहिए जिससे आपको सटीक परिणाम मिल सके, प्रेगनेंसी टेस्ट को घर पर करने के लिए पीरियड्स मिस होने के बाद एक से दो हफ्ते के बीच का समय सबसे सही होता है। तो आइये अब जानते हैं की घर में प्रेगनेंसी टेस्ट करते हुए किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

प्रेगनेंसी किट पर लिखे निर्देश पढ़े

सबसे पहले तो प्रेगनेंसी किट की डेट को ध्यान में रखना चाहिए की कहीं वो एक्सपाइरी तो नहीं है, यदि उसकी डेट निकल चुकी है तो हो सकता है की वो गलत परिणाम दे। इसीलिए आपको सही डेट की किट का इस्तेमाल करना चाहिए, इसके अलावा टेस्ट किट पर लिखे सभी निर्देश अच्छे से पड़ें की टेस्ट को कैसे करना है।

सुबह के सबसे पहले यूरिन का इस्तेमाल करें

प्रेगनेंसी टेस्ट के सबसे बेहतर परिणाम के लिए आपको सुबह के सबसे पहले यूरिन का इस्तेमाल करना चाहिए। क्योंकि इसमें HCG हॉर्मोन का लेवल सबसे सही होता है जो आपको सही परिणाम बताता है। और यदि आप सुबह के यूरिन से टेस्ट नहीं कर पाएं तो टेस्ट करने के लिए आप चार से पांच घंटे तक यूरिन न करें, और उसके बाद टेस्ट करें इससे भी आपको टेस्ट का सही परिणाम मिल सकता है।

प्रेगनेंसी किट को सूखी जगह पर रखें

किट पर दिए गए निर्देश के अनुसार जब आप यूरिन की बूंदो को किट में डालते हैं तो आपको किट को समतल और सूखी जगह पर रख देना चाहिए। ताकि आपको सटीक और सही परिणाम मिल सके।

इंतज़ार करें

प्रेगनेंसी किट में यूरिन की बुँदे डालने के बाद आपको पांच से दस मिनट तक इंतज़ार करना चाहिए, क्योंकि कई बार आपको पांच से दस मिनट बाद ही सही रिजल्ट मिलता है। ऐसे में आपको जल्दबाज़ी नहीं करनी चाहिए।

प्रेगनेंसी टेस्ट किट का इस्तेमाल कैसे करें

  • ज्यादातर टेस्ट किट में दो कोनों पर C और T का निशान होता है। C कंट्रोल यानी नियंत्रण को दर्शाता है। और टेस्ट करते समय यह लाइन हमेशा स्पष्ट रूप से दिखाई देनी चाहिए क्योंकि यह तुलना रेखा होती है जबकि T टेस्ट सैम्पल को दर्शाता है।
  • यदि टेस्ट करने के पांच से दस मिनट के बाद जिस जगह पर C निशान है, यदि वहां पर सिर्फ़ एक गुलाबी या बैंगनी लाइन दिखे तो इसका मतलब है कि प्रेगनेंसी के लिए टेस्ट नकारात्मक है।
  • लेकिन यदि C के साथ T में भी लाइन दिखाई दें, तो यह प्रेगनेंसी टेस्ट सकारात्मक है यानी की आप गर्भवती हैं।
  • और यदि टेस्ट किट में कोई भी लाइन नहीं दिखाई देती है तो इसका मतलब होता है की टेस्ट सही तरीके से नहीं हुआ है। और आप इस टेस्ट को 72 घंटे बाद नए किट से दुबारा करें।
  • यदि T के निशान पर बनी लाइन धुंधली दिखाई दे रही हो तो यह HCG हार्मोन के निम्न स्तर के कारण ऐसा हो सकता है।
  • यदि धुंधली लाइन दिखाई देती है तो 72 घंटे के बाद नई किट से यह टेस्ट दुबारा करें। और यदि टेस्ट पॉजिटिव आता है तो जितना जल्दी हो सके आपको डॉक्टर से राय लेनी चाहिए।

तो यह हैं कुछ खास टिप्स जिनका इस्तेमाल आपको घर में प्रेगनेंसी किट का इस्तेमाल करते समय करना चाहिए, यदि प्रेगनेंसी किट का इस्तेमाल करने के बाद भी आपकी रिपोर्ट नेगेटिव आती है तो इसके लिए एक बार डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। ताकि आपको पीरियड्स न आने के कारण का पता चल सके, साथ ही प्रेगनेंसी किट आपको आसानी से किसी भी मेडिकल स्टोर पर मिल जाती है।