जीभ पर मैल जमा होने के क्या कारण होते हैं?

जीभ हमारे शरीर का अहम अंग होती है जो हमे खाने के स्वाद का अहसास करवाती है। जीभ गुलाबी रंग या थोड़ी लाल रंग की होती है जिस पर छोटे छोटे दाने होते हैं जिन्हे पैपिली कहा जाता है और इन्ही दानों की वजह से जीभ की सतह थोड़ी खुरदरी महसूस होती है। यदि आप रोजाना अच्छे से अपनी जीभ को साफ करते हैं तो ऐसा करने से आपकी जीभ जैसी होती है वैसी ही रहती है।

लेकिन यदि आप अपने दांतों को तो अच्छे से साफ़ करते हैं लेकिन जीभ की साफ सफाई का ध्यान नहीं देते हैं। तो जीभ की ऊपरी सतह सफ़ेद या कई बार पीली भी हो सकती है। और इसका मतलब होता है जीभ पर डेड स्किन, बैड बैक्टेरिया आदि का जमाव हो गया है। लेकिन केवल मुँह की साफ़ सफाई न करने के कारण ही ऐसा नहीं होता है बल्कि जीभ पर मैल के जमने के और भी कारण होते हैं। तो आइये अब जानते हैं की जीभ पर मैल के जमने के क्या कारण होते हैं।

जीभ की साफ सफाई न करना

यदि आप अपनी जीभ की साफ़ सफाई नहीं करते हैं तो आपकी जीभ पर बैड बैक्टेरिया का जमाव हो जाता है। और जीभ पर जमी मैल आपके ही द्वारा लिए गए भोजन के साथ आपके पेट में जाती है। जिसकी वजह से आपको पेट सम्बन्धी परेशानी होने के साथ मुँह से बदबू आदि की समस्या भी होती है।

बिमारी या इन्फेक्शन

यदि आप किसी बिमारी से पीड़ित हैं या आपको किसी तरह का इन्फेक्शन है तो भी आपकी जीभ के ऊपर मैल जमी हुई होती है। या फिर आप दवाइयों का सेवन ज्यादा करती हैं तो इसके कारण भी जीभ के ऊपर मैल जम जाती है। और यदि अपनी जीभ की साफ सफाई तो करते हैं लेकिन फिर भी जीभ के रंग में बदलाव आता है तो आपको एक बार डॉक्टर को जरूर दिखाना चाहिए। क्योंकि जीभ का बदलता रंग आपके शरीर से सम्बंधित किसी बिमारी का संकेत होता है।

पानी की कमी

बॉडी में पानी की कमी होने के कारण मुँह सूखा हुआ महसूस होने के साथ जीभ पर भी मैल जमने लगती है। साथ ही पानी की कमी होने के कारण भी मुँह से बदबू जैसा महसूस होता है।

ज्यादा मसाले वाले आहार का सेवन करना

यदि आप ज्यादा मसालेदार आहार का सेवन करते हैं तो इस कारण भी आपके जीभ पर मैल जमने लगती है। क्योंकि मिर्च में कुछ ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो जीभ पर परत बनाते हैं।

जीभ में इन्फेक्शन

जीभ में इन्फेक्शन होने के कारण भी आपको जीभ पर मैल की परत दिखाई देती है साथ ही इस दौरान मैल के साथ लाल लाल चक्कते भी होते हैं। इन्फेक्शन के साथ यदि किसी कारण जीभ में सूजन आ गई है तो भी जीभ पर मैल की परत दिखाई देती है।

नशे करना

शराब, तम्बाकू, धूम्रपान व् अन्य किसी भी तरह के नही का सेवन जो लोग करते हैं उनकी जीभ पर भी ज्यादा मैल जमती है। और यदि वो इसे साफ नहीं करते हैं तो इसके कारण उन्हें मुँह में इन्फेक्शन, सांस में बदबू जैसी परेशानी होती है।

जीभ में जमी मैल को हटाने के तरीके

  • रोजाना दांतों की साफ़ सफाई के साथ जीभ की साफ़ सफाई भी करें।
  • खाना खाने के बाद कुल्ला जरूर करें। खासकर रात को खाना खाने के बाद कुल्ला जरूर करें क्योंकि रातभर में बैड बैक्टेरिया जीभ के साथ दांतों के लिए भी नुकसानदायक होता है।
  • शरीर में पानी की कमी न होने दें।
  • किसी भी तरह के नशे का सेवन न करें।
  • यदि जीभ से जुड़ा कोई इन्फेक्शन या शरीर से सम्बंधित किसी बिमारी या इन्फेक्शन के कारण ऐसा है तो आपको उसका इलाज करना चाहिए।
  • ज्यादा मिर्च मसालें वाले आहार का सेवन करने से बचें।

तो यह हैं जीभ पर मैल जमने के कारण व् उनसे बचने के कुछ उपाय, ऐसे में स्वस्थ रहने के लिए आपको भी अपनी जीभ की साफ़ सफाई का ध्यान रखना चाहिए। ताकि आपको शरीर से सम्बंधित ऐसी कोई परेशानी न हो।