सुबह नाश्ता देरी से करने पर गर्भ में शिशु को यह होता है

नाश्ता दिन का सबसे अहम खाना होता है क्योंकि यह दिन का सबसे पहला आहार होता है। और दिन का पहला आहार यदि अच्छा हो तो पूरा दिन ही अच्छा होता है। साथ ही गर्भवती महिला के लिए तो नाश्ता बहुत ही अहम होता है। क्योंकि यदि गर्भवती महिला अपना नाश्ता अच्छे से करती है। तो ऐसा करने से प्रेग्नेंट महिला को पूरा दिन एनर्जी से भरपूर रहने में मदद मिलती है साथ ही दिनभर होने वाली परेशानियों को भी कम किया जा सकता है।

इसके अलावा गर्भ में पल रहा शिशु भी अपनी माँ पर ही पूरी तरह से निर्भर करता है। ऐसे में यदि प्रेग्नेंट महिला के लिए नाश्ता अहम होता है तो बच्चे के लिए भी होता है। इसीलिए यदि गर्भवती महिला को नाश्ता स्किप करने या देरी करने से परेशानियां होती है तो बच्चे को भी थोड़ी समस्या हो सकती है। तो आज इस आर्टिकल में हम आपको सुबह नाश्ता देरी से करने पर गर्भ में शिशु को क्या होता है उस बारे में बताने जा रहे हैं।

गर्भ में शिशु रहता है सुस्त

दिन का पहला आहार यदि प्रेग्नेंट महिला समय लेती है तो ऐसा करने से महिला को एनर्जी मिलती है और जब महिला एक्टिव रहती है तो बच्चा भी एक्टिव रहता है। लेकिन नाश्ता स्किप करने की वजह से प्रेग्नेंट महिला को सुस्त महसूस हो सकता है और जब महिला सुस्त महसूस करती है तो गर्भ में बच्चा भी एक्टिव महसूस नहीं करता है। जिसके कारण हो सकता है की आपको शिशु की हलचल कम महसूस हो।

शिशु का विकास हो सकता है प्रभावित

वैसे तो गर्भ में शिशु अपनी जरूरतों को माँ के शरीर से पूरा कर लेता है। लेकिन फिर भी जब महिला की रात के बाद लिया जाने वाला पहला आहार यानी सुबह का नाश्ता देरी से लेती है तो इसकी वजह से महिला के शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो सकती है। जिसके कारण हो सकता है शिशु के विकास के लिए जरुरी पोषक तत्व भी शिशु तक न पहुंचें। ऐसे में बच्चे को यदि पोषक तत्व भरपूर मात्रा में नहीं मिलते हैं। तो इसकी वजह से बच्चे के विकास में कमी आ सकती है।

समय से पहले बच्चे के जन्म का रहता है खतरा

ऐसा माना जाता है की यदि महिला सुबह का नाश्ता समय से नहीं लेती है तो इसके कारण समय से पहले बच्चे के जन्म का खतरा बढ़ जाता है। क्योंकि रात के खाने और नाश्ते में कम से कम दस से बारह घंटे का गैप हो जाता है जो की गर्भवती महिला और बच्चे दोनों के लिए सही नहीं होता है। ऐसे में बच्चे का जन्म समय से पहले होने के कारण बच्चे के वजन में कमी व् अन्य शारीरिक परेशानियां होने का खतरा बढ़ जाता है।

ऐसे में यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं और आप अपना नाश्ता समय से नहीं लेती है या स्किप कर देती हैं। तो आपको भी अपना नाश्ता समय से लेना चाहिए। ताकि आप और आपका बच्चा दोनों को स्वस्थ रहने में मदद मिल सके।