Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्राकृतिक गर्भनिरोधक क्या होता है? ये है इनके फायदे

0

प्राकृतिक गर्भनिरोधक क्या होता है? ये है इनके फायदे:-

प्राकृतिक गर्भनिरोधक होता है, कई बार महिलाओ का अनचाहा गर्भ ठहर जाता है, जिसको ख़त्म करने या ऐसी परेशानी उत्पन्न न हो, इससे बचने के लिए महिलाएं ऐसे तरीके का इस्तेमाल करना चाहती है जिनसे उनके शरीर पर कोई बुरा प्रभाव भी न पढ़ें, और उनकी समस्या का हल हो जाएँ, तो ये घरेलू नुस्खे जिनका इस्तेमाल करके आप इस समस्या का समाधान कर सकते है। इन्हें ही प्राकृतिक गर्भनिरोधक कहा जाता है, और आप इन तरीको का इस्तेमाल करने से पहले इनके बारे में अच्छे से जान भी लेना चाहिए।

गर्भावस्था किसी भी महिला के लिए एक नया अनुभव होता है, परंतु कई बार महिलाओ का अनचाहा गर्भ ठहर जाता है, और इसे लेकर महिलाये बहुत परेशान भी हो जाती है, इसका कारण होता जब महिला और पुरुष दोनों ही बिना किसी सुरक्षा के शारीरिक सम्बन्ध बनाते है, जिसके कारण महिला और पुरुष के शुक्राणु के आपस में मिलते है, तो उनका गर्भ ठहर जाता है। परंतु इस परेशानी से बचने के आज के समय में मार्किट में बहुत से विकल्प है, जिनके इस्तेमाल से इस परेशानी से निजात पाया जा सकता है।

महिलाओ के इन विकल्पों का इस्तेमाल करने से उन्हें इस समस्या से निजात तो मिल जाता है, परंतु कई महिलाये इनके केमिकल और साइड इफ़ेक्ट से दुरी रखना चाहती है, क्योंकि इन दवाइओ का ज्यादा सेवन करने से कई बार बाद में महिलाओ के माँ बनने के रास्ते में समस्या उत्पन्न हो जाती है। परंतु कई ऐसे तरीके है जिनका इस्तेमाल करने से न तो ये परेशानी आपके सामने आती है, और न ही इनका इस्तेमाल करने से आपको कोई बुरा प्रभाव पड़ता है।

तो आइये जानते है जिनका इस्तेमाल करने से आपको इस परेशानी से निजात मिलने के साथ, आपको नुक्सान होने की बजाय फायदा ही होता है, परंतु आज के इस बढ़ते समय में ऐसी गलती करनी ही नहीं चाहिए जिसके कारण आपके सामने ये समस्या आकर खड़ी हो, क्योंकि मेडिकल में ऐसे कई उपाय है, जिनके कारण आपको इस समस्या का सामना ही नहीं करना पड़ता है। तो ये है कुछ प्राकृतिक गर्भनिरोधक जिनके कारण ये समस्या के बुरे प्रभाव से बचने में आपको मदद मिलती है।

प्राकृतिक गर्भनिरोधक से बचने के टिप्स:-

लहसुन का इस्तेमाल करें:-

lehsun-1

लहसुन का इस्तेमाल करने से भी आपको प्राकृतिक रूप से गर्भ को ठहरने से मदद मिलती है, इसके सेवन के लिए आप मासिक धर्म के बाद दो से तीन लहसुन की कलिया चील कर उन्हें निगल जाएँ, इसका सेवन करने से आपको पुए महीने फायदा होगा, और आपका अनचाहा गर्भ भी नहीं ठहरेगा, क्योंकि लहसुन शुक्राणु को निषेचन करने से रोकने में मदद करता है, इसीलिए आपको इस समस्या से बचने के लिए लहसुन का इस्तेमाल करना चाहिए।

पीपल का इस्तेमाल करें:-

गर्भ को ठहरने से रोकने के लिए पीपल, सुहागा, और बायबिडंग को बराबर मात्रा में लेकर अच्छे से पीस लें, और इसका मिश्रण तैयार होने के बाद जिस दिन पीरियड शुरू हो उससे सात दिन तक लगातार छह ग्राम चूर्ण का इस्तेमाल पानी से साथ लेकर करे, ऐसा करने से आपको इस परेशानी से निजात मिलेगा, और कम से कम एक वर्ष तक आपका गर्भ नहीं ठहरता है।

सीताफल के बीजो का इस्तेमाल करें:-

pumpkin-seeds

सीताफल का इस्तेमाल करने से भी आपको अनचाहे गर्भ को ठहरने से रोकने में मदद मिलती है, इसके इस्तेमाल के लिए आपको सीताफल के बीजो का इस्तेमाल करने के लिए आपको सीताफल के बीजो को अच्छे से पीस कर उसे अपनी योनो पर अच्छे से लगाया इससे अनचाहा गर्भ नहीं ठहरता है, साथ ही आपकी योनि की साफ़ सफाई भी अच्छे से हो जाती है, और इसका कोई नुक्सान भी नहीं होता है।

कटहल का सेवन करें:-

कटहल का सेवन करने से भी आपको अनचाहे गर्भ को रोकने में मदद मिलती है, यदि आप कभी बिना किसी सुरक्षा के सेक्स करती है, और आपको डर रहता है की इसके कारण आपका अनचाहा गर्भ ठहर जायेगा, तो इस समस्या से बचने के लिए आपको कटहल का सेवन जरूर करना चाहिए, यदि आप सेक्स करने के थोड़ी देर बाद कटहल का सेवन करते है तो आपको इस परेशानी से निजात मिलता है, क्योंकि इसमें विटामिन सेए की मात्रा अधिक होती है।

कच्चे पपीते का सेवन करें:-

kaccha papita

कच्चे पपीते का सेवन करने से भी आपकी इस परेशानी निजात मिलता है, कच्चा पपीता खाने से गर्भ गिरने की सम्भावना बढ़ जाती है, इसके कारण गर्भवती औरत को पपीता खाने से मना किया जाता है, यदि आपको लगे की आपका गर्भ ठहरने वाला है तो आप कच्चे पपीते का सेवन करें, इसके कारण आपको इस परेशानियो से निजात मिलेगा, और साथ ही आपको अनचाहे गर्भ को रोकने में मदद मिलेगी।

गरम पदार्थो का सेवन करें:-

गर्भ के ठहरने पर आपको इस परेशानी से निजात पाने के लिए आप गरम चीजो का सेवन करें, गरम पदार्थो में भी ऐसे तत्व होते है जो आपके गर्भ को गिराने में आपकी मदद कर सकता है, इसके अलावा इससे आपकी योनि की अच्छे से सफाई भी हो जाती है, इसके अलावा गुड़ और जीरे का सेवन एक साथ करने से भी आपको इस परेशानी से निजात मिलने में मदद मिलती है, इसीलिए यदि आप आसानी से इस समस्या से निजात पाना चाहते है तो आपको गरम पदार्थो का सेवन करना चाहिए।

तुलसी के पत्तो का इस्तेमाल करें:-

tulsi

गर्भ को ठहर ने से रोकने के लिए आप तुलसी के पत्तो का इस्तेमाल भी कर सकते है, इसके सेवन के लिए आप एक कप पानी में तुलसी के कुछ पत्ते उबाल कर उसका काढ़ा बना कर तैयार कर लें, अब इस काढ़े का सेवन आप उस दिन करें जब आपके पीरियड ख़त्म होने वाले हो, और कम से कम तीन तक इसका सेवन करें, ऐसा करने से आपक गर्भ नहीं ठहरेगा, और इस तरीके का कोई नुक्सान भी नहीं होता है।

नीम के तेल का इस्तेमाल करें:-

नीम के तेल का इस्तेमाल करने से भी आपको अनचाहे गर्भ को ठहरने में मदद मिलती है, इसके इस्तेमाल के लिए आपको नीम के तेल को रुई में डाल कर उसे अपनी योनि में अच्छे से डालें या लगायें, और उसके बाद सेक्स करने से महिला और पुरुष के शुक्राणु का मिलन नहीं हो पाता है, जिसके कारण आपको अनचाहे गर्भ से निजात पाने में आपकी मदद मिल सकती है। और इसका कोई बुरा प्रभाव भी नहीं होता है।

हल्दी का इस्तेमाल करें:-

haldi

हल्दी की गांठ को पीस कर अच्छे से उसका मिशन बना लें, और अब उसे अच्छे से छान लें, ऐसा करने के बाद आपको अपने पुरे पीरियड के दौरान पानी के साथ मिलाकर इसका सेवन करें, ऐसा करने से आपको इस परेशानी से निजात मिलता है, और आपका गर्भ नहीं ठहरता है, ये आसान और ऐसा उपाय है, जो किसी भी घर में आसानी से हो जाता है, तो आप इस परेशानी का हल भी मिल जाता है।

अरंडी के बीज का सेवन करें:-

अरंडी का बीज आई पिल की तरह काम करता है, यदि इसका सेवन भी सेक्स करने के तीन दिन के अंदर कर लिए जाएँ तो अनचाहा गर्भ ठहरने बहुत जल्दी निजात मिलता है, इसके इस्तेमाल के लिए सबसे पहले अरंडी के बीज को फोड़ें, उसके बाद उसमे से एक सफ़ेद बीज निकलेगा, और इसका सेवन महिलाएं यदि सेक्स करने के 72 घंटे के भीतर कर लेती है तो आपका अनचाहा गर्भ नहीं ठहरता है, और यदि महिलाएं इसका सेवन पीरिड्स के दिनों में करती है तो इसका प्रभाव एक महीने तक रहता है।

अनचाहे गर्भ से बचने के अन्य उपाय:-

  • व्यायाम बहुत अधिक मात्रा में करें।
  • गरम पानी से सेक्स करने के बाद नहाएं।
  • उन पदार्थो का सेवन करें, जिसमे अधिक मात्रा में विटामिन सी होता है।
  • चावल के पौधे की जड़ को पीस कर आचे से छान लें, और उसके बाद उसे शहद के साथ मिलाकर उसका सेवन करें।
  • सेक्स करते समय प्याज के रस को योनि में लगाने से आपको इस परेशानी से निजात मिल जाता है।
  • गुड़हल के फूल का पेस्ट बनाकर, उसमे स्टार्च मिलाकर पीरियड्स के शुरुआत के दिनों में इसका सेवन करने से आपको इस परेशानी से निजात मिलता है।
  • सूखे पुदीने के पत्ते का पाउडर बनाकर सेक्स के पांच मिनट के बाद पानी के साथ इसका सेवन करने से आपको इस परेशानी से निजात मिलता है।
  • पीरियड्स के ख़त्म होने के बाद चमेली की कली को पानी के साथ तीन से चार दिन निगलने से भी आपको इस परेशानी से निजात मिल जाता है।
  • पीरियड्स के आखिरी दिन करेले का रस का सेवन करने से इस परेशानी का समाधान हो जाता है।

प्राकृतिक गर्भनिरोधक क्या होता है, प्राकृतिक गर्भनिरोधक का इस्तेमाल करने के क्या फायदे होते है, प्राकृतिक गर्भनिरोधक को से अनचाहे गर्भ को रोकने के टिप्स, प्राकृतिक तरीको से गर्भ को रोकने के लिए आजमाएं ये टिप्स, home remedies for unwanted pregnancy, prakritik garbhnirodhak ka istemal karke anchahe garbh ko rokne ke upay

Leave a comment