प्रेगनेंसी के दौरान महिला का रात को चौंक कर उठना शिशु के लिए कितना नुकसानदेह है?

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को अच्छे से अपना ध्यान रखने की सलाह दी जाती है। साथ ही महिला को आराम, से उठने, बैठने, लेटने या कोई भी अन्य काम करने की सलाह दी जाती है। इसीलिए गर्भवती महिला इन बातों का अच्छे से ध्यान भी रखती है। लेकिन कई बार महिला रात को अचानक से चौंक कर उठ जाती है। इसका कारण महिला को अचानक से उल्टी का आना, यूरिन पास करने की इच्छा होना, किसी बुरे सपने को देखना, या किसी और परेशानी का होना आदि हो सकते हैं। ऐसे में जब अचानक से जब महिला रात को चौंक कर उठ जाती है तो इसका बुरा असर शिशु पर पड़ता है। जैसे की:

शिशु भी चौंक जाता है

जब महिला रात को सोते हुए अचानक से चौंक कर उठ जाती है तो इस कारण बच्चा भी चौंक जाता है और डर जाता है। जिसके कारण गर्भ में शिशु तेजी से मूवमेंट करने लगता है।

पेट पर झटका लगने के कारण हो सकती है दिक्कत

गर्भवती महिला जब रात को सोते हुए चौंक कर उठती है तो इसके कारण पेट पर झटका लग सकता है। जिसकी वजह से गर्भ में शिशु को दिक्कत महसूस हो सकती है।

शिशु घबरा जाता है

महिला जब भी अचानक से उठती है तो इसके कारण शिशु घबरा जाता है और शिशु गर्भ में असहज महसूस करता है। साथ ही एक बार तो शिशु तेजी से हलचल करता है लेकिन फिर हो सकता है की आपको गर्भ में शिशु की हलचल कम महसूस हो।

पेट में दर्द

प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में यदि महिला के साथ ऐसा होता है तो इसके कारण महिला को पेट में दर्द व् गर्भाशय में संकुचन महसूस हो सकता है। और यदि यह संकुचन बढ़ जाये तो इसकी वजह से महिला को समय से पहले बच्चे का जन्म होने का खतरा भी बढ़ जाता है। जिसके कारण जन्म के समय शिशु के वजन में कमी जैसी परेशानी भी हो सकती है।

तो यह हैं कुछ परेशानियां जो प्रेग्नेंट महिला को रात को चौंक कर उठने के कारण बच्चे को हो सकती है। ऐसे में महिला को रात को इस बात का ध्यान रखना चाहिए। की महिला जब भी उठे तो बिलकुल भी जल्दी न करें।