What In India

प्रेगनेंसी में सेंधा नमक खाना क्यों जरुरी होता है?

0

गर्भावस्था के समय महिला बहुत को बहुत ज्यादा सावधानी बरतने की जरुरत होती है क्योंकि महिला जितनी ज्यादा सावधानी बरतती है। उतना ही ज्यादा प्रेग्नेंट महिला और होने वाले शिशु को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है। साथ ही गर्भावस्था के दौरान महिला को अपनी बहुत सी आदतों, खान पान आदि में बदलाव की सलाह भी दी जाती है।

क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान सही खान पान गर्भावस्था के दौरान आने वाली परेशानियों को कम कर सकता है। आज इस आर्टिकल में भी हम गर्भावस्था के खान पान से जुडी सलाह ही देने जा रहे हैं। और वो सलाह है की प्रेग्नेंट महिला को गर्भावस्था के दौरान सफ़ेद नमक का सेवन करने की बजाय सेंधा नमक का सेवन करना चाहिए।

प्रेगनेंसी में सेंधा नमक क्यों खाएं?

यदि आप माँ बनने वाली हैं तो आपको भी प्रेगनेंसी के दौरान सफ़ेद नमक का सेवन करने की बजाय सेंधा नमक का सेवन करें। क्योंकि सेंधा नमक में मौजूद गुण प्रेग्नेंट महिला की बहुत सी शारीरिक परेशानियों को हल करने में मदद करते हैं, स्वस्थ रखने में मदद करते हैं, आदि। साथ ही सेंधा नमक सफ़ेद नमक की बजाय प्रेग्नेंट महिला को ज्यादा फायदे पहुंचाता है।

गर्भावस्था में सेंधा नमक खाने के फायदे

गर्भवती महिला यदि सेंधा नमक का सेवन करती है। तो इससे गर्भवती महिला को बहुत से फायदे मिलते हैं। आइये अब उन फायदों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

बढ़ती है इम्युनिटी

प्रेगनेंसी के दौरान बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण महिला की इम्युनिटी कमजोर हो जाती है। और इम्युनिटी कमजोर होने के कारण महिला को संक्रमण व् बीमारियां होने का खतरा अधिक होता है। लेकिन यदि महिला अपनी डाइट में सेंधा नमक को शामिल करती है तो ऐसा करने से प्रेग्नेंट महिला की इम्युनिटी को मजबूत होती है जिससे गर्भवती महिला को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है।

डाइज़ेशन के लिए है बेहतर

गर्भावस्था के समय अधिकतर गर्भवती महिलाएं पाचन तंत्र से जुडी समस्याओं से परेशान रहती है। लेकिन यदि महिला सेंधा नमक का सेवन करती है तो इससे पाचन तंत्र को सही रहने में मदद मिलती है। जिससे प्रेग्नेंट महिला को अपच, गैस, कब्ज़, जैसी परेशानियों से बचे रहने में मदद मिलती है।

ब्लड प्रैशर रहता है नियंत्रित

गर्भावस्था के समय ब्लड प्रैशर का ऊपर नीचे होना आम बात होती है। लेकिन यदि महिला का ब्लड प्रैशर बहुत ज्यादा हाई रहता है तो इसके कारण माँ व् बच्चे दोनों को दिक्कत होने का खतरा होता है। ऐसे में महिला यदि सेंधा नमक का सेवन करती है तो इससे प्रेग्नेंट महिला के ब्लड प्रैशर को नियंत्रित रहने में मदद मिलती है।

वजन रहता है नियंत्रित

गर्भावस्था के दौरान वजन का ज्यादा बढ़ना माँ व् बच्चे दोनों के लिए हानिकारक होता है। ऐसे में वजन को नियंत्रित रखने के लिए सेंधा नमक का सेवन महिला के लिए बहुत फायदेमंद होता है। क्योंकि सेंधा नमक का सेवन करने से डाइज़ेशन बेहतर होता है, मेटाबोलिज्म सही रहता है जिससे प्रेग्नेंट महिला का वजन नियंत्रित रहता है।

मसल क्रैम्प की समस्या से होता है बचाव

गर्भवती महिला को कई बार नसों में खिंचाव महसूस होता है जिसके कारण अचानक से हाथ पैर में दर्द होने लगता है। जिससे महिला को परेशानी का अनुभव करना पड़ सकता है। ऐसे में सेंधा नमक का सेवन करने से महिला को इस परेशानी को हल करने में मदद मिलती है।

जेस्टेशनल शुगर का खतरा होता है कम

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को ब्लड शुगर लेवल बढ़ने के कारण जेस्टेशनल शुगर होने का खतरा रहता है। लेकिन यदि महिला सेंधा नमक का सेवन करती है तो महिला को इस परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है। क्योंकि सेंधा नमक खाने से ब्लड में शुगर लेवल को नियंत्रित रखने में मदद मिलती है।

तो यह हैं कुछ फायदे जो गर्भवती महिला को सेंधा नमक का सेवन करने से प्रेग्नेंट महिला को मिलते हैं। इसीलिए गर्भावस्था के दौरान जितना हो सके अपने खाने में महिला को सेंधा नमक का इस्तेमाल ही करना चाहिए।

Leave a comment