Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्रेगनेंसी के आठवें और नौवें महीने में पेट क्यों अकड़ जाता है और क्या हैं उपाय

0

प्रेगनेंसी के दौरान शरीर में ऐसे बहुत से लक्षण महसूस होते हैं जिनकी वजह से महिला को दिक्कत महसूस हो सकती है। जैसे की प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में महिला को पेट में अकड़न यानी पेट टाइट व् कठोर महसूस हो सकता है ऐसा गर्भ में शिशु का विकास बढ़ने के साथ ज्यादा होने लगता है। इसमें घबराने की तो कोई बात नहीं होती है लेकिन इसके कारण महिला को पेट में हल्के दर्द जैसी परेशानी हो सकती है। तो आइये अब जानते है की प्रेगनेंसी के आठवें नौवें महीने में पेट में अकड़न होने के क्या कारण होते है। और किस तरह महिला इस परेशानी से निजात पा सकती है।

प्रेगनेंसी के आठवें नौवें महीने में पेट में अकड़न होने के कारण

  • गर्भाशय का आकार बढ़ने के साथ पेट का आकार भी बढ़ता है जिसके कारण कारण पेट में अकड़न महसूस होती है।
  • गर्भावस्था के आठवें नौवें महीने में बच्चे की वृद्धि और उसके मूवमेंट्स के कारण भी पेट टाइट होता है। क्योंकि बढ़ते बच्चे की वजह से पेट की पूरी जगह घिर जाती है और इसके कारण आंतरिक अंगों में भारीपन और खिंचाव होता है। जिससे त्वचा भी खिचती है और पेट अकड़ा हुआ महसूस होता है।
  • प्रेगनेंसी के दौरान अधिकतर गर्भवती महिलाएं यही सोचती है की उन्हें दो लोगो के लिए खाना है जबकि ऐसा नहीं होता है। बल्कि महिला को इस दौरान पोषक तत्वों से भरपूर आहार और सही मात्रा में अपनी डाइट लेनी चाहिए। ऐसे में यदि महिला जरुरत से ज्यादा खाती है तो इस कारण भी महिला को पेट में अकड़न होने लगती है।
  • गर्भावस्था के आठवें नौवें महीने में पाचन क्रिया धीमी पड़ जाती है जिस वजह से महिला को कब्ज़, पेट में गैस जैसी समस्या हो जाती है और पेट में अकड़न होती है।
  • डिलीवरी का समय पास आने पर भी महिला को यह समस्या होती है।
  • पेट में अकड़न का ज्यादा महसूस होना डिलीवरी का एक लक्षण भी होता है।
  • शरीर में पानी की कमी के कारण भी महिला को पेट में अकड़न महसूस होती है।

गर्भावस्था में पेट में अकड़न महसूस होने की समस्या से निजात पाने के तरीके

यदि प्रेग्नेंट महिला को पेट में अकड़न महसूस होती है तो कुछ आसान टिप्स का ध्यान रखकर प्रेग्नेंट महिला इस परेशानी से राहत पा सकती है। जैसे की:

खान पान का ध्यान रखें

गर्भवती महिला को इस परेशानी से बचने के लिए अपने खान पान का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। जैसे की जरुरत से ज्यादा नहीं खाना चाहिए, जंक फ़ूड नहीं खाना चाहिए, आदि। इसके अलावा महिला को फाइबर युक्त आहार खाना चाहिए जिससे पाचन क्रिया को दुरुस्त रहने में मदद मिल सके। और कब्ज़, अपच जैसी परेशानी से निजात पाने में मदद मिल सके। खान पान में इन बातों का ध्यान रखने से महिला को इस परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है।

पानी का भरपूर सेवन करें

पेट में अकड़न की समस्या से निजात पाने के लिए महिला को पानी का भरपूर सेवन करना चाहिए। जितना महिला के शरीर में तरल पदार्थ भरपूर होते हैं उतना ही महिला को इस परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है।

मालिश

हल्के हाथों से पेट पर धीरे धीरे मसाज करें ऐसा करने से भी पेट में होने वाली अकड़न की समस्या से निजात पाने में मदद मिलती है। लेकिन मालिश करने से पहले एक बार डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

डॉक्टर से मिलें

यदि प्रेग्नेंट महिला को पेट में अकड़न बहुत ज्यादा महसूस हो रही है, दर्द हो रहा है, सांस लेने में तकलीफ हो रही है, तो ऐसे केस में महिला को एक बार डॉक्टर से बात करनी चाहिए। क्योंकि ऐसे लक्षणों को अंदेखा करने से आपकी परेशानी बढ़ सकती है।

पोजीशन बदलें

बहुत देर तक एक ही पोजीशन में बैठने के कारण भी प्रेग्नेंट महिला को पेट में अकड़न महसूस हो सकती है। ऐसे में महिला को अपनी पोजीशन को बदलते रहना चाहिए। ऐसा करने से भी महिला को इस परेशानी से निजात पाने में मदद मिलती है।

तो यह हैं प्रेगनेंसी के दौरान पेट में अकड़न होने के कारण व् इस समस्या से बचने के आसान टिप्स, यदि आपको भी प्रेगनेंसी के दौरान यह दिक्कत हो रही है तो आप भी इन टिप्स का ध्यान रखें ताकि आपको इस परेशानी से बचे रहने में मदद मिल सके।

Causes and Remedies for Stomach Tightness in Pregnancy

Leave a comment