Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

गर्भवती महिला को थकान रहने के क्या कारण होते हैं?

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को थकान होना बहुत ही आम समस्या होती है और इस समस्या से अधिकतर गर्भवती महिलाएं परेशान रह सकती है। प्रेगनेंसी के समय कभी कभी थकान होना जहां आम बात होती है वहीँ ज्यादा थकान की समस्या रहने के बहुत से कारण हो सकते हैं। और उन कारणों को गर्भवती महिला को अनदेखा न करते हुए उनका समाधान करना चाहिए। क्योंकि थकान होने के कुछ कारण ऐसे होते हैं जो माँ व् बच्चे दोनों की सेहत के लिए नुकसानदायक होते हैं। तो आइये अब इस आर्टिकल में प्रेगनेंसी में थकान होने के क्या-क्या कारण हो सकते हैं और गर्भवती महिला को किस तरह इस समस्या का समाधान करना चाहिए उसके बारे में विस्तार से जानते हैं।

-- Advertisement --

गर्भावस्था में थकान होने के कारण

गर्भवती महिला को यदि थकान की समस्या रहती है तो इसका कोई एक नहीं बल्कि कई कारण हो सकते हैं। जैसे की:

शरीर में हो रहे हार्मोनल बदलाव

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला के शरीर में लगातार हार्मोनल बदलाव होते रहते हैं जिनकी वजह से महिला को थकान की समस्या हो सकती है। खासकर पहली तिमाही में हार्मोनल बदलाव बहुत तेजी से होते हैं इसीलिए पहली तिमाही में यह समस्या अधिक हो सकती है।

पोषण सही न मिलना

प्रेगनेंसी के दौरान यदि महिला अपनी डाइट का ध्यान नहीं रखती है, पोषक तत्वों से भरपूर डाइट नहीं लेती हैं तो इसकी वजह से शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है जिसकी वजह से महिला को थकान की समस्या होती है।

तनाव हो सकता है कारण

कुछ गर्भवती महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान तनाव की समस्या हो जाती है और तनाव होने के कारण महिला मानसिक रूप से थकावट महसूस करने के साथ शारीरिक रूप से भी थकावट का अनुभव कर सकती है।

नींद सही न लेने की वजह से

गर्भावस्था के दौरान जितना खाना और पीना जरुरी होता है उतना ही बेहतर स्वास्थ्य के लिए नींद भी लेना जरुरी होता है। लेकिन यदि गर्भवती महिला अपनी नींद अच्छे से नहीं लेती है तो इसकी वजह से भी गर्भवती महिला को थकान की समस्या अधिक होती है साथ ही महिला को अन्य शारीरिक दिक्कतें भी अधिक हो सकती है।

वजन

जिन गर्भवती महिलाओं का वजन प्रेगनेंसी के दौरान जरुरत से ज्यादा हो जाता है या कम रहता है उन महिलाओं को थकान की समस्या अधिक हो सकती है।

शरीर में खून की कमी होने के कारण

अधिकतर गर्भवती महिलाओं में प्रेगनेंसी के दौरान खून की कमी की समस्या देखने को मिलती है और जिन महिलाओं को यह समस्या होती है उन्हें प्रेगनेंसी के दौरान थकान जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

शारीरिक परेशानियां

जिन गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के समय ब्लड प्रैशर, शुगर, उल्टियां जैसी शारीरिक परेशानी अधिक रहती है।उन महिलाओं को प्रेग्नेंसीउ के समय थकान का सामना अधिक करना पड़ सकता है।

जरुरत से ज्यादा काम करने की वजह से

प्रेग्नेंट महिला को प्रेगनेंसी के दौरान थोड़ा बहुत कमा जरूर करना चाहिए। ताकि शरीर को फिट व् एक्टिव रहने में मदद मिल सके। लेकिन यदि महिला जरुरत से ज्यादा काम करती है, ज्यादा तेजी से काम करती है तो इसकी वजह से भी महिला को थकान की समस्या अधिक हो सकती है

पाचन क्रिया से जुडी समस्या होने के कारण

जिन गर्भवती महिला को कब्ज़, गैस, अपच व् अन्य पाचन से जुडी समस्या अधिक रहती है उन महिलाओं को थकान अधिक महसूस हो सकती है।

शरीर में दर्द

कमर दर्द, पेल्विक एरिया में दर्द, शरीर के अन्य हिस्सों में दर्द की समस्या अधिक होने के कारण भी महिला हमेशा थका हुआ सा महसूस कर सकती है।

बार बार यूरिन पास करने की दिक्कत होने पर

प्रेगनेंसी की पहली और तीसरी तिमाही में महिला को यूरिन पास करने की इच्छा अधिक हो सकती है और बार बारे यूरिन पास करने जाने की वजह से गर्भवती महिला को थका हुआ सा महसूस हो सकता है।

एक ही पोजीशन में बहुत देर तक बैठने के कारण

गर्भवती महिला को एक ही पोजीशन में ज्यादा देर के लिए नहीं बैठना चाहिए क्योंकि इससे हाथों पैरों में ब्लड फ्लो थोड़ा कम होने लगता है जिसकी वजह से बाद में उठने पर आपको थका हुआ महसूस हो सकता है।।

प्रेगनेंसी में थकान की समस्या को दूर करने के टिप्स

  • गर्भवती महिला को पोषक तत्वों से भरपूर डाइट लेनी चाहिए।
  • लम्बे समय तक भूखा नहीं रहना चाहिए बल्कि थोड़ी थोड़ी देर में कुछ न कुछ हेल्दी खाते रहना चाहिए।
  • आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन जैसे सबसे महत्वपूर्ण पोषक तत्वों की शरीर में कमी नहीं होने देनी चाहिए क्योंकि इनकी कमी थकान की समस्या को बढ़ाती है।
  • प्रेगनेंसी के दौरान वजन को जरुरत से ज्यादा नहीं बढ़ने देना चाहिए क्योंकि वजन का जरुरत से ज्यादा बढ़ना थकान का अहम कारण होता है इसके अलावा वजन जरुरत से कम भी नहीं होना चाहिए क्योंकि इससे भी थकान की समस्या होती है।
  • शरीर में पानी की कमी नहीं होने देनी चाहिए इसके लिए दिन भर में आठ से दस गिलास पानी, नारियल पानी व् अन्य तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए।
  • नींद भरपूर लेनी चाहिए साथ ही जरुरत से ज्यादा भी नहीं सोना चाहिए क्योंकि इसकी वजह से सुस्ती आती है और थकान भी महसूस होती है।
  • ज्यादा तेजी से और जरुरत से ज्यादा काम नहीं करना चाहिए ऐसा करने से भी थकान को कम करने में मदद मिलती है।
  • थोड़ा व्यायाम भी जरूर करें इससे शरीर की सभी क्रियाओं को सुचारु रूप से काम करने में मदद मिलती है जिससे थकान दूर होती है।
  • प्रेग्नेंट महिला को डॉक्टर द्वारा बताई गई दवाइयों का सेवन भी समय से करना चाहिए ताकि शरीर में किसी भी प्रकार के पोषक तत्वों की कमी नहीं हो।
  • चाय कॉफ़ी व् अन्य कैफीन युक्त चीजों का सेवन अधिक नहीं करें क्योंकि कैफीन युक्त चीजों का अधिक सेवन करने पर भी थकान की समस्या अधिक होती है।

तो यह हैं प्रेगनेंसी में थकान होने के कारण व् इस समस्या से बचाव के उपाय, यदि आप भी माँ बनने वाली हैं तो आपको भी इन बातों का ध्यान रखना चाहिए। ताकि प्रेगनेंसी में होने वाली थकान की समस्या से आपको बचे रहने में मदद मिल सके।

Causes of tiredness during pregnancy

Leave a comment