प्रेगनेंसी में तुसली के पत्ते खाने के फायदे

औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी में एक या दो नहीं बल्कि बहुत से औषधीय गुण मौजूद होते हैं। साथ ही इसमें पोषक तत्व भी भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं जो आपको स्वस्थ रखने के साथ बिमारियों और संक्रमण से सुरक्षित रखने में भी मदद करते हैं। ऐसे में गर्भावस्था के दौरान तुलसी के पत्तों का सेवन करने से प्रेग्नेंट महिला को स्वस्थ रहने और बहुत सी परेशानियों से बचे रहने में मदद मिलती है। तो आइये अब विस्तार से जानते हैं की प्रेगनेंसी में तुलसी के पत्तों का सेवन करने से कौन से फायदे मिलते हैं।

खून की कमी होती है दूर

प्रेगनेंसी के दौरान बहुत सी महिलाएं शरीर में खून की कमी की समस्या का सामना करती है। लेकिन रोजाना तुलसी के पत्ते का सेवन करने से महिला को इस परेशानी से निजात मिलता है। क्योंकि तुलसी के पत्ते का सेवन करने शरीर को आयरन और फोलेट मिलता है जिससे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या शरीर में बढ़ती है और महिला के शरीर में खून की कमी को पूरा करने में मदद मिलती है।

संक्रमण से होता है बचाव

एंटी वायरल, एंटी बैक्टेरियल, एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपूर तुसली के पत्तों का सेवन करने से प्रेग्नेंट महिला की इम्युनिटी बढ़ती है। जिससे प्रेगनेंसी के दौरान माँ व् बच्चे दोनों को हर तरह की बीमारी व् संक्रमण से बचे रहने में मदद मिलती है।

ऊर्जा मिलती है

गर्भावस्था के दौरान थकान, कमजोरी जैसी परेशानियों का महसूस होना आम बात होती है। खासकर सुबह के समय महिला को यह समस्या ज्यादा होती है। लेकिन तुलसी के पत्ते का सेवन करने से महिला को इस परेशानी से भी निजात मिलता है। क्योंकि पोषक तत्वों से भरपूर तुलसी के पत्ते महिला को ऊर्जा से भरपूर रखने में मदद करते हैं।

बच्चे के विकास के लिए है फायदेमंद

विटामिन ए, विटामिन के जैसे पोषक तत्वों से भरपूर तुलसी का सेवन करने से गर्भ में पल रहे बच्चे के बेहतर शारीरिक व् मानसिक विकास में मदद मिलती है।

तो यह हैं कुछ फायदे जो तुलसी का सेवन करने से प्रेग्नेंट महिला को मिलते हैं। हो सकता है की आपको कुछ लोग प्रेगनेंसी में तुलसी का सेवन न करने की सलाह दें, क्योंकि तुलसी का ज्यादा सेवन हानिकारक हो सकता है। ऐसे में आप इसके बेहतरीन फायदों के लिए एक दिन में केवल एक ही तुलसी के पत्ते का सेवन करें ताकि आपको आपको तुलसी के फायदे भी मिलें और किसी भी तरह का नुकसान न हो।