Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

सावन के सोमवार व्रत करने के नियम

हिन्दू धर्म में सावन माह का बहुत अधिक महत्व है क्योंकि यह माह भक्तों के प्यारे भोले बाबा को समर्पित होता है। साल 2021 में सावन माह 25 जुलाई से शुरू हो चूका है। सावन माह का महिला बहुत ही धार्मिक होता है और इस माह में मंदिरों में बहुत रौनक देखने को मिलती है। खासकर सोमावर के दिन तो भारी संख्या में लोग शिवलिंग पर जल अर्पित करने और अभिषेक करने पहुंचते हैं। सावन के महीने में आने वाले सोमवार को व्रत रखने की परम्परा होती है और बहुत से लोग सावन के सोमवार का व्रत जरूर करते हैं।

-- Advertisement --

साथ ही ऐसा भी माना जाता है की सावन माह में आने वाले सोमवार का व्रत यदि कोई करता है तो उसे साल भर के सोमवार व्रत रखने का फल मिलता है। इसके अलावा ऐसी मान्यता है की ऐसा करने से घर में सुख शांति का वास रहता है। तो आइये अब इस आर्टिकल में हम आपको सावन के सोमवार व्रत रखने की विधि व् नियमों के बारे में बताने जा रहे हैं।

सावन के सोमवार व्रत रखने की पूजा विधि

  • व्रत वाले दिन सुबह ब्रह्म मुहूर्त में उठें।
  • उसके बाद घर की साफ़ सफाई करें, नित्य क्रिया क्रम करने के बाद नहा धोकर साफ स्वच्छ वस्त्र धारण करके तैयार हो जाएँ।
  • फिर घर में पूजा करने के स्थान पर भोलेबाबा और माँ पार्वती के सामने दीप जलाएं और हाथ जोड़कर व्रत करने का संकल्प लें।
  • उसके बाद आस पास कहीं शिव मंदिर है तो वहां जाएँ और शिवलिंग पर जल (पानी और दूध मिलाकर जल बनाएं) अर्पित करें। शिवलिंग का अभिषेक करें।
  • शिवलिंग के साथ पार्वती, गणेश जी, कार्तिकेय, नंदी जी का भी जलाभिषेक करें।
  • उसके बाद फूल, बेल पत्र, धतूरा, भांग, गन्ना, बेर या अन्य कोई फल आदि चीजें शिवलिंग पर अर्पित करें।
  • ध्यान रखें की पूजा करते समय शिव मंत्र यानी ॐ नमः शिवाय का जाप करते रहें।
  • उसके बाद हो सके तो मंदिर में ही बैठकर कथा पढ़े व् आरती करें नहीं तो आप घर आने के बाद अपने घर के पूजा स्थल के पास बैठकर भी ऐसा कर सकते हैं।
  • कथा व् आरती के साथ शिव चालीसा, रुद्राष्टक का पाठ करें।
  • आरती करने के बाद भोग लगाएं उसके बाद भोग का प्रसाद सभी लोगो में वितरित करें।
  • यदि आपने व्रत किया है तो फिर शाम के समय भोजन करें और व्रत खोल लें ध्यान रखें की भोजन दिन में केवल एक बार ही लेना है।

सावन के सोमवार व्रत रखने के नियम

  • सावन का महिला बहुत ही धार्मिक महीना होता है ऐसे में इस महीने में मास, मदिरा जैसी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • लड़ाई, कलेश, आदि से दूर रहना चाहिए।
  • किसी भी बुराई नहीं करनी चाहिए।
  • जरूरतमंदों की मदद करनी चाहिए।
  • दान धर्म के कार्य करने चाहिए।
  • सावन के महीने में लहसुन, प्याज, दही, बैंगन, मूली, मसूर की दाल आदि का सेवन करने से बचना चाहिए।

सावन महीना आरम्भ व् समापन 2021

साल 2021 में सावन का महीना 25 जुलाई से शुरू होकर 22 अगस्त पर ख़त्म होगा।

तो यह है सावन के सोमवार व्रत रखने की विधि व् सावन के सोमवार व्रत रखने के नियम, यदि आप भी सावन के सोमवार के व्रत रखते हैं। तो आपको भी इन बातों का ध्यान रखना चाहिए ताकि आपके व्रत को सम्पूर्ण होने में मदद मिल सके।

Leave a comment