Ultimate magazine theme for WordPress.

लड़का या लड़की होने का एक कारण तनाव भी हो सकता है?

लड़का या लड़की ऐसे जानें, प्रेगनेंसी एक ऐसा समय होता है जहां महिला को अपनी सेहत का अच्छे से ध्यान रखने के साथ खुश रहने की सलाह दी जाती है। क्योंकि इससे प्रेग्नेंट महिला को स्वस्थ रहने के साथ भ्रूण को भी स्वस्थ रहने में मदद मिलती है। लेकिन

प्रेगनेंसी में पेट में गैस बनने के कारण

प्रेगनेंसी किसी भी महिला के लिए उसके जीवन का सबसे सुखद अहसास होता है। लेकिन गर्भावस्था का समय महिला के लिए इतना आसान भी नहीं होता है। क्योंकि प्रेग्नेंट महिला को प्रेगनेंसी के दौरान बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। यह समस्याएँ

पीरियड आने से पहले पेट में गैस होने के कारण

पीरियड्स महिलाओं को हर महीने होने वाली एक शारीरिक परेशानी होती है। जैसे ही महिला को पीरियड्स आने वाले होते हैं तो महिला की बॉडी कुछ संकेत दे सकती है। जैसे की टांगो, पेट, पेट के निचले हिस्से में दर्द महसूस होना, मांसपेशियों में खिंचाव होना

प्रेगनेंसी के लिए सुपर फ़ूड कौन-कौन से हैं?

प्रेगनेंसी के सुपर फ़ूड है, गर्भावस्था एक ऐसा समय होता है जहां प्रेग्नेंट महिला को खान पान का बहुत अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। हम यह नहीं कह रहे हैं की आप हर दम खाती रहें। बल्कि खान पान का ध्यान रखने का मतलब है की आप जो भी खाएं वो पोषक

सर्दियों में हाथ पैर काले हो गए हैं? यह हैं उपाय

हाथों पैरों के कालेपन, सर्दियों के मौसम में सभी ठण्ड से बचाव के लिए धूप में बैठना पसंद करते हैं। क्योंकि धूप में बैठने से ठण्ड से बचे रहने में मदद मिलती है। लेकिन सूर्य की सीधी किरणों के संपर्क में जब आपकी स्किन आती है। तो इसके कारण न केवल

प्रेगनेंसी में सम्बन्ध बनाने से क्या दिक्कत हो सकती है?

अक्सर कपल के मन में यह सवाल आता ही की प्रेगनेंसी के दौरान सम्बन्ध बनाना सेफ होता है या नहीं? तो इसका जवाब होता है की प्रेगनेंसी की पहली तिमाही बहुत ही नाजुक होती है। ऐसे में डॉक्टर्स भी प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में सम्बन्ध बनाने के लिए

सफ़ेद दाग का इलाज क्या है?

सफ़ेद दाग का इलाज, सफ़ेद दाग स्किन से जुडी एक समस्या है। जिसे ल्यूकोडर्मा भी कहा जाता है। इस समस्या के होने पर पूरे शरीर की स्किन के अलग अलग हिस्सों में सफ़ेद दाग हो सकते हैं। और यदि समय से इसका इलाज न किया जाए तो यह दाग शरीर पर फैलने लगते

सर्दियों में प्रेग्नेंट महिला को बादाम खाने के फायदे

गर्भावस्था के दौरान प्रेग्नेंट महिला फलों, सब्जियों, दालों, साबुत अनाज, जूस आदि का सेवन करने के साथ सूखे मेवों का सेवन भी कर सकती है। क्योंकि सूखे मेवे पोषक तत्वों की खान होते हैं। जो केवल गर्भवती महिला को स्वस्थ रहने में ही नहीं बल्कि

प्रेग्नेंट महिला को शादी पार्टी में जाने पर किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

प्रेग्नेंट महिला को शादी पार्टी, प्रेगनेंसी के दौरान महिला को कभी अचानक से किसी रिश्तेदार या फ्रेंड की शादी या किसी अन्य जन्मदिन, शादी की सालगिरह की पार्टी में जाना पड़ सकता है। और प्रेगनेंसी कोई बिमारी नहीं है की आपको हर जगह जाने की मनाही

प्रेगनेंसी में घर के रिश्ते ऐसे मेन्टेन करें

प्रेगनेंसी में घर के रिश्ते, गर्भावस्था एक ऐसा समय होता है जहां केवल प्रेग्नेंट महिला की सेहत सबसे ऊपर होती है। क्योंकि प्रेगनेंसी में महिला की सेहत का खराब होना गर्भ में शिशु की सेहत पर नकारात्मक असर डाल सकता है। ऐसे में प्रेगनेंसी के

सर्दियों में गर्भवती महिला को क्या नहीं खाना चाहिए?

प्रेगनेंसी एक ऐसा समय होता है जहां महिला को अपने खान पान का विशेष रूप से ध्यान रखना पड़ता है। क्योंकि महिला द्वारा लिया गया आहार केवल महिला को स्वस्थ रखने के लिए नहीं होता है। बल्कि महिला द्वारा लिए गए आहार पर ही शिशु का विकास भी निर्भर

प्रेगनेंसी में गुड़ खाना चाहिए या नहीं?

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला अपने खान पान का पूरा ध्यान रखने की कोशिश करती है। ताकि प्रेग्नेंट महिला व् गर्भ में पल रहे शिशु को किसी भी तरह की दिक्कत न हो। इसीलिए महिला फलों व् सब्जियों का भरपूर सेवन करने के साथ अन्य चीजों का सेवन भी